18.7 C
Ranchi
Tuesday, February 27, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

अब गृहरक्षकों के कंधे से हटेगी नौ किलो की पुरानी राइफल, जानें सरकार दे रही है अब कौन सा हथियार

गृहरक्षकों को अब प्रशिक्षण देकर नाइन एम एम पिस्टल, इंसास, एके 47, एके 56 जैसे अत्याधुनिक हथियार दिये जायेंगे. एक तरह से गृहरक्षकों को हर तरह से आधुनिक बनाने की तैयारी चल रही है, ताकि वे बिहार पुलिस, एसटीएफ की बराबरी में आकर कंधा से कंधा मिला कर चल सके.

पटना. गृहरक्षकों के कंधे से नौ किलो की पुरानी राइफल को हटाने की तैयारी शुरू कर दी गयी है. उन्हें अब प्रशिक्षण देकर नाइन एम एम पिस्टल, इंसास, एके 47, एके 56 जैसे अत्याधुनिक हथियार दिये जायेंगे. राष्ट्रीय स्तर के संस्थानों से उन्हें प्रशिक्षित कराया जा रहा है. एक तरह से गृहरक्षकों को हर तरह से आधुनिक बनाने की तैयारी चल रही है, ताकि वे बिहार पुलिस, एसटीएफ की बराबरी में आकर कंधा से कंधा मिला कर चल सके.

अग्निशमन दल को भी मिलेगा नया यंत्र

होमगार्ड के साथ-साथ सरकार की ओर से अग्निशमन को भी मजबूत करने के लिए 52 व 42 मीटर का हाइड्रोलिक प्लेटफॉर्म सह टर्न टेवल लैडर को खरीदा जा रहा है. यह व्यवस्था इसलिए की जा रही है, ताकि ऊंची से ऊंची इमारतों में लगी आग को बुझाया जा सके. पहले से भी अग्निशमन विभाग के पास हाइड्रोलिक प्लेटफॉर्म सह टर्न टेवल लैडर हैं. जिसका उपयोग विश्वेश्वरैया भवन में लगी आग को बुझाने में किया गया था.

बिहार गृह रक्षा वाहिनी का 77 वां स्थापना दिवस समारोह

मंगलवार को बिहार गृहरक्षक व अग्निशमन सेवाएं के अपर महानिदेशक सुनील कुमार नायक व एसपी चंदन कुमार कुशवाहा ने कहा कि हर साल की तरह इस बार भी 77 वां स्थापना दिवस समारोह बिहटा के आनंदपुर स्थित प्रशिक्षण केंद्र पर आयोजित किया जायेगा. इस दौरान गृहरक्षकों का परेड व अन्य कार्यक्रम होंगे. साथ ही गृहरक्षकों व अग्निशमन सेवाएं को और भी बेहतर बनाने में उपयोग में लाये जाने वाले उपकरणों व वाहनों को भी प्रदर्शित किया जायेगा. अग्निशमन वाहनों का भी परेड आयोजित किया गया है. गृहरक्षकों का प्रशिक्षण सेना के प्रशिक्षकों से कराया जा रहा है. उन्होंने बताया कि एनएफएससी नागपुर के अन्य क्षेत्रीय प्रशिक्षण केंद्र की तर्ज पर बिहार अग्नि प्रशिक्षण अकादमी आनंदपुर बिहटा को क्षेत्रीय प्रशिक्षण के रूप में विकसित किया जायेगा.

Also Read: बिहार में अगले साल से फॉग से ठनके तक का अलर्ट हो सकेगा जारी, अमेरिकी वैज्ञानिकों ने लिया तैयारियों का जायजा

दस अग्निशामालयों के लिए भवन निर्माण का कार्य पूर्ण

अपर महानिदेशक सुनील कुमार नायक ने बताया कि बिहार अग्निशमन सेना के तहत 120 अग्निशामालय स्वीकृत हैं. 36 अपने भवन में पूर्व से कार्यरत हैं. दस अग्निशामालयों के लिए भवन निर्माण का कार्य पूर्ण कर लिया गया है. सात अग्निशामालयों के लिए भवन निर्माण का कार्य प्रारंभ है और छह निविदा की प्रक्रिया में हैं.

फायरकर्मियों को आग से बचाने के लिए खरीदे जा रहे हैं सामान

फायरकर्मियों को आग बुझाने के क्रम में नुकसान न हो, उससे बचाने के लिए 1948 फायर मैन एक्स, दस लाइटिंग टावर, 40 अदद पीआरटी कीट, 1448 फायर मैन बूट, 236 फायर प्रोक्सीमिटी सूट, 424 एलइडी टॉर्च, 1000 फोल्ड़िंग कॉट व एक हयूमन लाइफ डिटेक्टर की खरीद की जा रही है. इसके लिए क्रयादेश निर्गत कर दिया गया है.

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें