17.1 C
Ranchi
Monday, March 4, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

JDU के पूर्व अध्यक्ष शरद यादव का 75 साल की उम्र में निधन, गुरुग्राम के अस्पताल में ली अंतिम सांस

कई दिनों से बीमार चल रहे जदयू के पूर्व अध्यक्ष शरद यादव का 75 साल की उम्र में निधन हो गया. गुरुग्राम के फोर्टिस अस्पताल में उन्होंने अपनी आखिरी सांस ली.

देश के प्रतिष्ठित समाजवादी नेता शरद यादव का गुरुवार (23 जनवरी) की देर रात गुरुग्राम के फोर्टिस अस्पताल में निधन हो गया. वह 75 साल के थे. वह काफी समय से बीमार थे. गुरुवार की रात उनकी पुत्री सुभाषिणी राज राव ने ट्वीट कर कहा- पापा नहीं रहे. बिहार की राजनीति में अपनी अलग पहचान रखने वाले शरद यादव के निधन की खबर मिलते ही प्रदेश शोक में डूब गया. शरद यादव सात बार लोकसभा और तीन बार राज्यसभा के सदस्य रहे. वह केंद्रीय मंत्री भी रहे थे. मंडल कमीशन को लागू कराने वालों में उनकी बड़ी भूमिका रही.

1947 में मध्य प्रदेश में हुआ था शरद यादव का जन्म 

1 जुलाई 1947 को मध्य प्रदेश के होशंगाबाद के एक गांव में किसान परिवार में जन्में शरद यादव ने मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश और फिर बिहार में अपना राजनीतिक परचम लहराया. उनकी पढ़ाई के समय से ही राजनीति में दिलचस्पी रही और 1971 में इंजीनियरिंग की पढ़ाई के दौरान जबलपुर मध्यप्रदेश में वो छात्र संघ के अध्यक्ष चुने गये.

मंडल कमीशन की सिफारिशों को लागू करने में निभाई अहम भूमिका 

छात्र राजनीति के साथ शरद यादव पढ़ाई में भी अव्वल रहे और बीइ (सिविल) में गोल्ड मेडल जीता. डॉ. राम मनोहर लोहिया के विचारों से प्रेरित होकर सक्रिय युवा नेता के तौर पर कई आंदोलनों में हिस्सा लिया और मीसा के तहत 1969-70, 1972 और 1975 में हिरासत में भी लिये गये. उन्होंने मंडल कमीशन की सिफारिशों को लागू करने में अहम भूमिका निभायी.

पहली बार जबलपुर लोकसभा सीट से सांसद चुने गये

शरद यादव पहली बार 1974 में मध्य प्रदेश की जबलपुर लोकसभा सीट से सांसद चुने गये. यह जेपी आंदोलन का समय था और वह जेपी द्वारा चुने गये पहले उम्मीदवार थे. 1977 में भी वह इसी लोकसभा सीट से चुनाव जीतकर संसद में पहुंचे. उस वक्त वह युवा जनता दल के अध्यक्ष थे. 1986 में वह राज्यसभा से सांसद चुने गये और 1989 में यूपी की बदाऊं लोकसभा सीट से चुनाव जीतकर तीसरी बार संसद पहुंचे.

1999 में लालू यादव को हराया था 

शरद यादव 1989-90 में टेक्सटाइल और फूड प्रोसेसिंग मंत्रालय में केंद्रीय मंत्री रहे. 1991 से 2014 तक शरद यादव बिहार की मधेपुरा सीट से सांसद रहे. 1995 में उन्हें जनता दल का कार्यकारी अध्यक्ष चुना गया और 1996 में वह पांचवीं बार लोकसभा का चुनाव जीते. 1997 में उन्हें जनता दल का राष्ट्रीय अध्यक्ष चुना गया. 1999 में उन्होंने लालू प्रसाद को मधेपुरा संसदीय सीट से पराजित किया था.

एक नजर में शरद यादव 

  • जन्म – एक जुलाई, 1947

  • जन्मस्थान – अखमाउ, होशंगाबाद, मध्य प्रदेश

  • पढ़ाई – जबलपुर इंजीनियरिंग कॉलेज से बीटेक

  • लोकसभा के सदस्य – 1974, 1977, 1989, 1991, 1996, 1999 और 2001 में अलग-अलग संसदीय क्षेत्रों से निर्वाचित

  • राज्यसभा के सदस्य – 1986, 2004 और 2014.

https://www.youtube.com/watch?v=78EeDvvzmsM

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें