1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. becoming a fake police officer the fish trader car stopped absconded with money in the name of paper checking rdy

Bihar News: फर्जी पुलिस अधिकारी बन मछली व्यवसायी की गाड़ी रोकी, कागज चेकिंग के नाम पर रुपये लेकर हुआ फरार

फर्जी पुलिस अधिकारी बन मछली व्यवसायी की गाड़ी रोकी और कागज चेकिंग के नाम पर रुपये लेकर फरार हो गया. व्यवसायी ने बताया कि गाड़ी रोकने के लिए हाथ दिया तो तुमने गाड़ी क्यों नहीं रोकी. यह कहते हुए गाड़ी में रखे डंडे से मुझे दो डंडा मारा और गाड़ी का कागज चेक करने लगा.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
बिहार अपराध
बिहार अपराध
फाइल

पटना. फर्जी पुलिस अधिकारी बन वैशाली के मछली व्यवसायी से 35 हजार रुपये की ठगी करने का मामला सामने आया है. मामला आलमगंज थाना क्षेत्र के बिस्कोमान गोलंबर के पास का है. इस संबंध में व्यवसायी ने आलमगंज थाने में लिखित आवेदन भी दिया है. दरअसल वैशाली जिले के वैशाली थाना क्षेत्र के रहने वाले मछली व्यवसायी गजेंद्र राय के साथ यह घटना घटी है. गजेंद्र राय हर दिन वैशाली से अपनी मछली लाकर बाजार समिति में बेचते हैं. तीन अप्रैल को भी वह बाजार समिति अपनी मछली लेकर आये और चार अप्रैल को मछली बेचकर कैश के साथ वह पीक अप वैन से वैशाली लौट रहे थे. इसी दौरान फर्जी पुलिस अधिकारी बन पहले गाड़ी का कागज चेक करने के नाम पर मारपीट की. इसके बाद 35 हजार रुपये की ठगी कर फरार हो गया.

पहले बहादुर पर आरओबी के पास रोकने का किया प्रयास

मिली जानकारी के अनुसार व्यवसायी गजेंद्र राय अपने दो साथियों के साथ मछली बेचकर आठ बजे के करीब वैशाली के लिए रवाना हुए. पिकअप वैन से बहादुर आरओबी से नीचे उतरने लगे तो एक व्यक्ति हाथ देकर गाड़ी को रोकने के लिए कह रहा था, लेकिन व्यवसायी ने गाड़ी नहीं रोका. इसके बाद जैसे ही धनुकी मोड़ से गांधी सेतु बैरिकेडिंग के पास पहुंचा कि वही शख्स आगे से आकर गाड़ी को रोक दिया और गाली-गलौज करते हुए गाड़ी में घुस गया. कहने लगा कि मैं पुलिस अधिकारी हूं.

गाड़ी रोकने के लिए हाथ दिया तो तुमने गाड़ी क्यों नहीं रोकी. यह कहते हुए गाड़ी में रखे डंडे से मुझे दो डंडा मारा और गाड़ी का कागज चेक करने लगा. इसके बाद वह बोला कि नीचे चलो साहेब बुलाये हैं. सारा पैसा लेकर मेरे साथ चलो. इसके बाद व्यवसायी को ऑटो से लेकर फर्जी पुलिस बिस्कोमान गोलंबर लेकर चला गया.

पिटाई के डर से दे दिया पैसा, कहा इंतजार करो...

व्यवसायी ने आवेदन में लिखा है कि उस शख्स ने पिटाई के बाद उठक-बैठक करवाया. इसके बाद और मारने लगा. इस डर से मैंने अपना सारा कैश 35 हजार रुपये उसे दे दिया. पैसा लेने के बाद उसने कहा कि मैं साहेब से मिलकर आ रहा हूं. आगे से कोई पुलिसकर्मी गाड़ी रोके तो रुक जाना और यहीं रहो, मैं आ रहा हूं. लेकिन इसके बाद पैसा लेकर शख्स फरार हो गया.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें