बिहार STF ने एक लाख के इनामी हार्डकोर नक्सली सिद्धू कोड़ा को झारखंड के दुमका से किया गिरफ्तार!

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

पटना :Sidhu Koda Arrested by STF Team - बिहार के जमुई और जिले की सीमा से सटे झारखंड के गिरिडीह जिले में पुलिस के लिए सिरदर्द बने स्पेशल एरिया कमेटी के सचिव हार्डकोर नक्सली सिदो कोड़ा को एसटीएफ की टीम ने गिरफ्तार किया है. साथ ही एक अन्य नक्सली सुशील हेंब्रम को गिरफ्तार किये जाने की सूचना है. हालांकि, पुलिस ने अभी आधिकारिक पुष्टि नहीं की है.बताया जा रहा है कि सुशील हेंब्रम नक्सली कमांडर सिदो कोड़ाका सहयोगी है. बताया जाता है कि पुलिस ने एक इंसास और एके-47 भी बरामद किया है. मालूम हो कि सिद्धू कोड़ा पर एक लाख रुपये का इनाम था.

बिहार एसटीएफ की टीम ने दुमका पुलिस के साथ मिलकर झारखंड की उप राजधानी दुमका से दुर्दांत नक्सली सिदो कोड़ाको नाटकीय ढंग से गिरफ्तार कर लिया है. मिली जानकारी के मुताबिक, गुप्त सूचना के आधार पर बिहार एसटीएफ ने दुमका पुलिस का सहयोग लेकर शहर से सटे इलाके में मध्य रात्रि के बाद सिदो कोड़ाको गिरफ्तार किया है. मामले में अभी दुमका के कोई पुलिस पदाधिकारी कुछ भी कहने से परहेज कर रहे हैं. बताया जा रहा है कि सिदो कोड़ाकी गिरफ्तारी बिहार के जमुई जिले में तीन दिन पहले गिरफ्तार हुए नक्सली की निशानदेही पर की गयी है. जानकारी मिली थी कि सिदो कोड़ालेवी की रकम वसूलने के लिए दुमका जानेवाला था. इसी क्रम में उसे नाटकीय अंदाज में धर दबोचा गया.

सिदो कोड़ा के खिलाफ दुमका-पाकुड़ जैसे उग्रवाद प्रभावित जिले में मामला दर्ज नहीं है. हालांकि, संताल परगना से सटे बिहार के इलाकों में कई कांडो में उसकी संलिप्तता रही है. लेवी की रकम वसूलने के लिए सुरक्षित ठिकाने के रूप में सिदो कोड़ाने दुमका को चुना था. लेकिन, पुलिस के बिछाये गये जाल में वह फंस गया. बिहार से सटे इलाके में उसकी सक्रियता को देखते हुए उसके दुमका में सक्रिय नक्सलियों से संपर्क आदि की पड़ताल की जा रही है.

स्पेशल एरिया कमेटी के सचिव सिदो कोड़ाका दस्ता बिहार के जमुई और जिले की सीमा से सटे झारखंड के गिरिडीह जिले में काफी सक्रिय रहा है. जोनल कमांडर सिदो कोड़ाकी गिरफ्तारी से जमुई इलाके से नक्सली गतिविधियां खत्म होने की संभावना जतायी जा रही हैं. बताया जाता है कि सिदो कोड़ाका दस्ता जमुई जिले के चकाई थाना क्षेत्र के तेलंगा, मंझलाडीह, गुरुड़बाद बरामोरिया, बोंगी, पोझा के इलाकों में सक्रिय है. साथ ही जिले से सटे झारखंड के सीमावर्ती जिला गिरिडीह के भेलवाघाटी थाना क्षेत्र के पहाड़ी और जंगली इलाकों में सक्रिय है. दो राज्यों के सीमावर्ती पहाड़ों और जंगलों में सक्रिय होने के कारण वारदात को अंजाम देकर दूसरे राज्य में प्रवेश कर जाने के कारण नक्सली जोनल कमांडर पुलिस के लिए सिरदर्द बना हुआ था.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें