36.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Trending Tags:

Advertisement

बिहार: तेजी से विपक्ष हो एकजुट, बोले नीतीश कुमार – एक साल से हम विपक्षी एकजुटता में लगे

Bihar News: बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने बुधवार को भारत रत्न बाबा साहेब डॉ भीमराव अंबेडकर के महापरिनिर्वाण दिवस पर उन्हें श्रद्धांजलि दी. साथ ही कहा है कि वह चाहते है कि विपक्ष तेजी से एक जुट हो और वह एक साल से विपक्षी एकजुटता में लगे हुए है.

Bihar News: बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने बुधवार को भारत रत्न बाबा साहेब डॉ भीमराव अंबेडकर के महापरिनिर्वाण दिवस पर राजकीय समारोह में श्रद्धांजलि देने के बाद हाल में हुये पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव परिणाम पर कहा कि चुनाव में पिछली बार कांग्रेस उन राज्यों में जीती थी. कांग्रेस को इस बार भी अच्छा वोट आया है, लेकिन भाजपा जीती. तेलंगाना में कांग्रेस जीती है. इन सब चीजों पर कोई खास चर्चा की बात नहीं है. हम तो यही चाहते हैं कि बहुत तेजी से विपक्ष एकजुट हो. हम एक साल से विपक्षी एकजुटता में लगे हुए हैं. राज्यों के चुनाव में सभी पार्टियां अपनी- अपनी जीत के लिए लग जाती हैं, वो अलग चीज है. लेकिन हम चाहते हैं कि आगे से सब एकजुट होकर चुनाव लड़ें. उन्होंने भाजपा का नाम लिये बिना कहा कि अभी जो पार्टी केंद्र की सत्ता में है, उसके खिलाफ विपक्ष एकजुट होकर चुनाव लड़े. उन्होंने कहा कि खबर में चल रही थी कि हम इंडिया गठबंधन की बैठक में नहीं जा रहे हैं, जबकि ऐसी कोई बात नहीं थी. मेरी तबीयत खराब थी. मुझे सर्दी-खांसी और बुखार थी.

भाजपा पर साधा निशाना

मुख्यमंत्री ने भाजपा और केंद्र सरकार का नाम लिये बिना कहा कि वे लोग देश के इतिहास को बदलने में लगे हुए हैं. नयी पीढ़ी को आजादी की लड़ाई को याद रखना चाहिए. हम पहले से ही लोगों की सेवा करते आ रहे हैं. हमलोग आंदोलन भी किये हैं. हम राज्य के हित में अपने काम में लगे रहते हैं. हमलोग तेजी से युवाओं को रोजगार देने में लगे हुए हैं. देशहित में सभी विपक्षी पार्टियां एकजुट हों. सीएम नीतीश कुमार ने जातीय गणना को लेकर कहा है कि जाति आधारित गणना के साथ आर्थिक स्थिति की भी यहां बहुत अच्छी रिपोर्ट आई है. राज्य के हित में काम हुआ है. बिहार को विशेष राज्य का दर्जा मिलने पर राज्य और आगे बढ़ेगा. इसलिए सीएम ने बिहार को विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग भी की है. मुख्यमंत्री ने कहा है कि वह चाहते है कि तेजी से काम हो. सीएम ने बताया कि वह चाहते है कि सभी लोग मिलकर देश के हित में काम करें. देश के इतिहास को बदलने की कोशिश की जा रही है. उनका मकसद है कि सभी लोग मिलकर काम को करें.


Also Read: BPSC शिक्षक भर्ती की परीक्षा का 28 जिलों में आयोजन, ठहरने के लिए जगह की तलाश, जानिए कहां होगा रुकने का प्रबंध
देश में जातिगत जनगणना की मांग

मुख्यमंत्री ने कहा कि पूरे देश में जातिगत जनगणना होती तो सबको काफी फायदा होता. हमलोगों ने जाति आधारित गणना करायी. सिर्फ जातिगत गणना नहीं करायी, बल्कि हर परिवार की आर्थिक स्थिति का भी पता लगाया. हिंदू-मुस्लिम, अनुसूचित जाति-जनजाति, पिछड़ा-अति पिछड़ा वर्ग, अपर कास्ट किसी भी जाति-वर्ग का हो, सबका पता लगवाया. हर जाति में गरीबी है. अपर कास्ट में भी कितनी गरीबी है, इसका पता चला.

राजेंद्र विश्वनाथ आर्लेकर और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दी श्रद्धांजलि

भारत रत्न बाबा साहेब डॉ भीमराव आंबेडकर के महापरिनिर्वाण दिवस पर बुधवार को उनकी आदमकद प्रतिमा पर माल्यार्पण कर राज्यपाल राजेंद्र विश्वनाथ आर्लेकर और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने श्रद्धांजलि दी. इस अवसर पर पटना हाइकोर्ट के निकट बाबा साहेब डॉ भीमराव आंबेडकर प्रतिमा प्रांगण में राजकीय समारोह आयोजित किया गया था. इस अवसर पर उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव, वित्त मंत्री विजय कुमार चौधरी, ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार, भवन निर्माण मंत्री अशोक चौधरी, परिवहन मंत्री शीला कुमारी, सूचना प्रावैधिकी मंत्री मो इसराइल मंसूरी, विधान परिषद के उपसभापति रामचंद्र पूर्वे, पूर्व विधान पार्षद रोजीना नाजिश, राज्य नागरिक परिषद के पूर्व महासचिव अरविंद कुमार सिंह आदि ने भी बाबा साहेब डॉ भीमराव आंबेडकर को नमन कर श्रद्धा सुमन अर्पित किया.

जदयू ने निकाला ‘संविधान बचाओ मार्च’

जदयू नेताओं ने बुधवार को भारत रत्न डाॅ भीमराव अंबेडकर के महापरिनिर्वाण दिवस पर ‘संविधान बचाओ मार्च’ निकाला. नेताओं ने कहा कि नये संसद भवन में सावरकर का सम्मान और बाबा साहेब का अपमान स्वीकार नहीं है. जदयू प्रदेश मुख्यालय के कर्पूरी सभागार में बाबा साहेब के तैल्यचित्र पर माल्यापर्ण कर श्रद्धांजलि देने के बाद जदयू नेताओं ने इस मार्च का आयोजन किया. यह मार्च पटना के वीरचंद पटेल मार्ग स्थित पार्टी मुख्यालय से निकलकर आयकर गोलंबर होते हुए पटना हाइकोर्ट तक गया. हाईकोर्ट के समीप डाॅ भीमराव अंबेडकर की आदमकद प्रतिमा पर पार्टी के नेताओं ने पुष्पांजलि अर्पित कर उन्हें नमन किया.पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष उमेश सिंह कुशवाहा ने कहा कि भाजपा डाॅ भीमराव अंबेडकर के महान संविधान को मिटाना चाहती है. मोदी सरकार के द्वारा लगातार संवैधानिक एवं लोकतांत्रिक मूल्यों पर चोट किया जा रहा है. इसी के खिलाफ हम संविधान बचाओ मार्च निकाल रहे हैं. देश की जनता अब जागरूक हो चुकी है और संविधान को मिटाने वाले तत्वों को भलीभांति पहचान चुकी है. जनता ने ठान लिया है कि 2024 में भाजपा सत्ता में नहीं आएगी.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें