हिंदू व बौद्ध धर्मों के बीच बुनियादी समानता: रिजिजू

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

राजगीर (नालंदा) : अंतरराष्ट्रीय नालंदा विश्वविद्यालय के द्वारा दो दिवसीय पांचवां धर्म धम्म सम्मेलन का आयोजन अंतरराष्ट्रीय कन्वेंशन सेंटर में हुआ. सम्मेलन में 11 देशों के 250 प्रतिनिधियों ने भाग लिया. धम्म परंपराओं में सतचिंत आनंद और निर्वाण विषय पर आयोजित सम्मेलन में मुख्य अतिथि के रूप में केंद्रीय युवा मामले तथा खेल राज्य मंत्री किरण रिजिजू शामिल हुए.

उन्होंने कहा कि यह सम्मेलन एक ज्ञान संस्कृति अर्थात भारतीय संस्कृति की दो धराओं हिंदू और बौद्ध के बीच बुनियादी समानता को रेखांकित करने का एक प्रयास है. यद्धपि हिंदू और बौद्ध इन दोनों अलग-अलग सिद्धांत एवं पद्धति है, फिर भी यदि आप दोनों परंपराओं के ग्रंथों को पढ़ते हैं तो आप अत्यधिक समानता पायेंगे.
उन्होंने कहा कि यहां दो दिवसीय सम्मेलन के दौरान जो भी मुख्य बातें उभर कर आये और अंत में जो सार निकले उन सभी को एक पुस्तक छपवा कर इसके माध्यम से प्रचारित और प्रसारित करें. उन्होंने कहा कि राजगीर एक ऐतिहासिक और धार्मिक भूमि है. यहां की नैसर्गिक सुंदरता मनचित्र को प्रसन्न करती है. यहां आकर मुझे काफी प्रसन्नता हो रही है.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें