बिहार में 7 हजार नर्सों की होगी बहाली, अगले माह तक पूरी हो जायेगी प्रक्रिया : स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

बिहारशरीफ : बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि सूबे में सात हजार नर्सों की बहाली की जायेगी. अगले माह तक नर्सों की बहाली पूरी कर ली जायेगी. बहाली की प्रक्रिया चल रही है. बहाली होने से चिकित्सा व्यवस्था और भी सुदृढ़ होगी. रोगियों को इलाज कराने में सहूलियत होगी. शनिवार को स्थानीय सर्किट हाउस में संवाददाता सम्मेलन में यह जानकारी स्वास्थ्य मंत्री ने दी.

चिकित्सा व्यवस्था हो सबल बनाने के लिए चिकित्सकों की बहाली की प्रक्रिया की जा रही है. अब डॉक्टरों की बहाली तकनीकी आयोग के माध्यम से की जायेगी. विशेषज्ञ चिकित्सकों की बहाली कर चिकित्सकों की कमी को दूर की जायेगी. चिकित्सकों की कमी एक साल के दरम्यान दूर हो जायेगी. भारत व सूबे की सरकार चिकित्सा व्यवस्था को व्यवस्थित करने के लिए कई ठोस पहल की है. सरकार बेहतर चिकित्सा लोगों को प्रदान करने की दिशा में आये दिन कदम उठाने में लगी है.

मंगल पांडेय ने कहा, आयुष्मान भारत योजना के तहत पांच लाख तक के इलाज की व्यवस्था केंद्र सरकार ने की है. इसका लाभ सूबे के लोगों को अगले सितंबर माह से मिलना शुरू हो जायेगा. ट्रस्ट के माध्यम से यह सेवा शुरू होगी. देश के साढ़े पांच करोड़ लोग इससे लाभांवित होंगे. इस योजना से सूबे के एक करोड़ आठ लाख लाभांवित होंगे.

मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि ह्रदय, किडनी, लिवर, कैंसर जैसी गंभीर बीमारियों के इलाज के लिए ठोस व्यवस्था की गयी है. उन्होंने कहा कि केन्द्र व राज्य सरकार तेजी से हर क्षेत्र में विकास कार्य करने में लगी है. कई जनहित में योजनाएं सफल पूर्वक संचालित की जा रही हैं. जन धन योजना के तहत देश में करोड़ लोग लाभांवित हुए हैं. 35 करोड़ खाता खोले गये हैं. उज्जवला योजना के तहत देश के करीब 3.8 करोड़ लोगों को एलपीजी कनेक्शन दिया गया है. जिससे लोगों को खाना बनाने में सहूलियत हुई है.

2022 तक किसानों की आमदनी दोगुनी करने का लक्ष्य
मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि किसानों की आमदनी दोगुनी करने की दिशा में केंद्र व सूबे की सरकार ने कई योजनाएं लागू की हैं. 2022 तक किसानों की आमदनी दोगुनी करने का लक्ष्य बनाया गया है. सिंचाई, खाद, बीज आदि की मुकम्मल तौर पर व्यवस्था की गयी है. किसानों को उसकी लागत का डेढ़ गुना समर्थन मूल्य, 12.5 करोड़ से अधिक किसानों को स्वाइल हेल्थ कार्ड, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना से किसानों को लाभांवित किया जा रहा है. फसल क्षति का लाभ दिया जा रहा है. सरकार कृषि को बढ़ावा देने की दिशा में निरंतर काम कर रही है केन्द्र व सूबे की सरकार इस दिशा में निरंतर ठोस कदम उठाने में लगी है.

हर घर में शौचालय का निर्माण किया जा रहा है. ताकि लोग स्वस्थ जीवन जी सके.बाहरी शौच से कई तरह की बीमारियां होती हैं. 2022 तक लोगों को मकान उपलब्ध कराने का लक्ष्य बनाया गया है. इस दिशा में तेजी से काम किया जा रहा है. हर घर में बिजली पहुंचाने की दिशा में सरकार काम कर रही है. आने वाले दिनों में हर घर में बिजली पहुंच जायेगी. देश के युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराने की दिशा में 11 करोड़ लोगों को मुद्रा लोन दिया गया है. घरों में नल जल योजना से पेयजल की व्यवस्था की गयी है.

इस अवसर पर सांसद कौशलेंद्र कुमार, विधायक डॉ.सुनील कुमार, अविनाश मुखिया, वीरेन्द्र गोप, राजू पासवान, सुधीर कुमार, कौशलेंद्र कुमार उर्फ छोटे मुखिया, भाजपा नेता अविनाश मुखिया, सुधीर कुमार सिंह, जिला पार्षद अनिरुद्ध प्रसाद समेत कई लोग मौजूद थे.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें