मुजफ्फरपुर : गैंगवार में मारा गया कैशवैन से 52 लाख रुपये लूटकांड का आरोपित कुख्यात विकास उर्फ भुल्लर

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

मुजफ्फरपुर : जिले के जैतपुर थाना क्षेत्र में पिछले माह गार्ड को गोली मार कर 52 लाख रुपये लुटने के आरोपित कुख्यात विकास उर्फ भुल्लर सकरा के गैंगवार में मारे जाने की सूचना है. आशंका जतायी जा रही है कि लूट के रुपये की हिस्सेदारी को लेकर विकास के दोस्तों ने ही उसकी हत्या कर दी है. विकास के सिर में पांच गोलियां मार कर हत्या कर दी गयी है.

जानकारी के मुताबिक, जिले के सकरा थाना क्षेत्र मोहनपुर सकरा गांव के निकट निर्माणाधीन नहर के बीच में शनिवार की सुबह खून से लथपथ शव पर लोगों की नजर पड़ी. इसके बाद लोगों ने घटना की सूचना पुलिस को दी. बताया जा रहा है कि शुक्रवार की रात को ही घटना को अंजाम दिया गया है. घटना के संबध में एसएसपी मनोज कुमार ने विकास की गैंगवार में हत्या की पुष्टि की है. हालांकि, विकास की हत्या के कारणों का अभी पता नहीं चल पाया है. पुलिस ने आशंका जतायी है कि 22 नवंबर, 2018 को जैतपुर ओपी क्षेत्र के ऐमा टोल प्लाजा के पास कैशवैन से लूटे गये 52 लाख रुपये की हिस्सेदारी को लेकर हुए विवाद में गैंगवार में हत्या की गयी है. विकास की पहचान होने के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है. मालूम हो कि पारू थाना क्षेत्र के कटारू टांड़ा गांव निवासी विकास के खिलाफ करीब एक साल पूर्व ही प्रेम-प्रसंग में गांव की एक लड़की को भगा कर ले जाने के मामले में प्राथमिकी दर्ज करायी गयी थी. साथ ही उसके खिलाफ वारंट भी जारी हुआ था.

लूटकांड में दो आरोपित कर चुके हैं आत्मसमर्पण

कैशवैन लूटकांड मामले के आरोपित भगवानपुर पोखर निवासी राहुल कुमार और श्रमजीवी नगर निवासी गोलू गुप्ता कोर्ट में आत्मसमर्पण कर चुके हैं. वहीं, लूटकांड की रेकी करनेवाले यादव नगर निवासी एलडी यादव को भी गिरफ्तार कर पुलिस जेल भेज चुकी है. बताया जाता है कि लूटकांड में फरार अपराधियों के विरुद्ध कोर्ट से कुर्की का आदेश मिलने के बाद कुर्की के भय से ही दोनों आरोपितों ने न्यायालय में आत्मसमर्पण कर दिया था.

क्या है मामला?

मुजफ्फरपुर से छपरा जानेवाले एनएच-722 पर 22 नवंबर, 2018 को सुबह करीब 11.17 बजे निर्माणाधीन पोखरैरा टोल प्लाजा के समीप स्कॉर्पियो सवार अपराधियों ने सीएमएस कंपनी के गार्ड रामविनोद सिंह को गोली मार 52 लाख रुपये लूट लिये थे. इसके बाद अपराधी फायरिंग करते हुए सरैया से मोती चौक-तुर्की जानेवाले रास्ते से फरार हो गये थे. अपराधियों ने सुरक्षा गार्ड की बंदूक भी लूट ली थी. अपराधियों ने घटना को उससमय अंजाम दिया, जब सीएमएस कंपनी के कर्मी मुजफ्फरपुर से रकम लेकर सरैया स्थित एक्सिस बैंक के एटीएम में जमा कराने जा रहे थे.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें