26.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

ऑब्जर्वेशन ऑफ फिल्म एंड विजुअल कार्यशाला में फिल्मों का प्रदर्शन

पंडित राजकुमार शुक्ला सभागार में ''ऑब्जर्वेशन ऑफ फिल्म एंड विजुअल'' विषयक विशेष कार्यशाला का आयोजन विभाग के विद्यार्थियों द्वारा किया गया.

मोतिहारी. महात्मा गांधी केंद्रीय विश्वविद्यालय के मीडिया अध्ययन विभाग द्वारा चाणक्य परिसर स्थित पंडित राजकुमार शुक्ला सभागार में ””ऑब्जर्वेशन ऑफ फिल्म एंड विजुअल”” विषयक विशेष कार्यशाला का आयोजन विभाग के विद्यार्थियों द्वारा किया गया. कार्यक्रम के संरक्षक कुलपति प्रो. संजय श्रीवास्तव थे. विभागाध्यक्ष डॉ अंजनी कुमार झा की अध्यक्षता एवं मार्गदर्शन में कार्यक्रम आयोजित हुई. कार्यशाला में बाल और बंधुआ मजदूरी पर केंद्रित ऑस्कर नॉमिनेटेड और अवार्ड वीनिंग चार महत्वपूर्ण फिल्मों कवि, बत्ती, रूपा और जीरो का प्रदर्शन किया गया. स्वागत भाषण में डॉ परमात्मा कुमार मिश्र ने कहा कि फिल्म समाज का दर्पण होती है. फिल्मों की गहरी और सूक्ष्म समझ विकसित करना फ़िल्म अध्येता और जागरूक दर्शक की दृष्टि से महत्वपूर्ण है. छात्रा वागीशा श्रीवास्तव द्वारा बाल मजदूरी पर आधारित फिल्म “कवि ” की प्रस्तुति की गई जो एक ऑस्कर नॉमिनेटेड फिल्म है. फ़िल्म बंधुआ मजदूर और बाल मजदूरी पर शिक्षा दी गई है. बीएजेएमसी चतुर्थ सेमेस्टर के आदित्य कुमार ने “बत्ती ; डॉन्ट जज बुक बाई इट्स कवर ” नामक फिल्म की प्रस्तुति की। फिल्म में दर्शाया गया है कि कभी किसी को देखकर उसके बारे में अपनी राय नहीं बनानी चाहिए. बीएजेएमसी चतुर्थ सेमेस्टर के छात्र अभिषेक कुमार ने जीरो नामक फिल्म की प्रस्तुति की, जो की ब्रह्मानंद फिल्म फेस्टिवल से पुरस्कृत है. स्वागत भाषण एवं समाहार क्रमशः विभाग के सहायक प्रोफेसर डॉ. परमात्मा कुमार मिश्र और डॉ. सुनील दीपक घोड़के ने की. संयोजन बीएजेएमसी चतुर्थ सेमेस्टर के छात्र आर्यन सिंह ने की. कार्यक्रम के आयोजन और संयोजन में बीएजेएमसी चतुर्थ सेमेस्टर के छात्र आर्यन सिंह का अहम योगदान रहा.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें