27.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

पुल निर्माण कार्य में ग्रामीणों ने गड़बड़ी का लगाया आरोप

पुल निर्माण कार्य में ग्रामीणों ने गड़बड़ी का लगाया आरोप

उदाकिशुनगंज. प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत चौरी भीता टोला स्थित धार में करोड़ों की लागत से पुल का निर्माण हो रहा है. सहजादपुर व गोरियारी के ग्रामीणों ने कार्य में अनियमितता का आरोप लगाया है. ग्रामीणों ने कहा कि पुल निर्माण कार्य में घटिया गिट्टी और दोमट बालू का प्रयोग किया जा रहा है. ग्रामीणों ने प्राक्कलन के तहत निर्माण कार्य किये जाने की मांग की है.ज्ञात हो कि सहजादपुर और सिंगारपुर गोरियारी बीच चौरी भीता टोला स्थित धार में ग्रामीणों द्वारा वर्षों से पुल निर्माण के लिए मांग की जा रही थी. विधायक नरेंद्र नारायण यादव के प्रयास से करोड़ों की लागत से पुल का निर्माण हो रहा है. ग्रामीण चंदन कामत, राजेश कुमार, बौनु ऋषिदेव, मिट्ठू मंडल, सुमन कुमार, सुमन सिंह आदि ने प्रशासन से पुल निर्माण कार्य की जांच कराने और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है. बिना प्राक्कलन बोर्ड लगाये हो रहा निर्माण कार्य- पुल निर्माण स्थल पर प्राक्कलन का बोर्ड लगाये बगैर ही निर्माण कार्य हो रहा है. प्राक्कलन से संबंधित बोर्ड नहीं लगाये जाने की वजह से लोगों को कार्य की पूर्ण जानकारी नहीं मिल पाती है .कई लोगों ने बताया कि कार्य से पूर्व बोर्ड लग जाने की स्थिति में लोग वहां हो रहे कार्यों की गुणवत्ता सहित अन्य चीजों को देखने लगते हैं. इससे बचने के लिए संवेदक द्वारा कार्य से पूर्व बोर्ड नहीं लगाया जाता है, जबकि प्रावधान के मुताबिक कार्य शुरू करने से पूर्व स्थल पर बोर्ड लगाना अनिवार्य है. इसमें निर्माण से संबंधित सारी जानकारी देनी होती है. समाजसेवी आशीष कुमार बाबुल ने कहा है कि विधायक नरेंद्र नारायण यादव के प्रयास से यहां पुल निर्माण कार्य की स्वीकृति हुई है. पुल निर्माण कार्य में ठेकेदार के द्वारा अनियमितता बरते जाने की शिकायत लगातार मिल रही है. संबंधित विभाग अनियमितता को दूर करते हुए प्राक्कलन के तहत निर्माण कार्य पूरा कराये अन्यथा विभाग और ठेकेदार के खिलाफ वरीय अधिकारियों से शिकायत की जायेगी. वही इस बाबत जेई मुनिलाल दास ने बताया कि कार्य ठीक चल रहा है. लोगों की शिकायत है तो काम बंद करवा दीजिए. इस बाबत उदाकिशुनगंज कार्यपालक अभियंता ग्रामीण कार्य विभाग कार्य प्रमंडल प्रवीण कुमार सिन्हा ने कहा कि निर्माण कार्य स्थल पर जेई को भेजकर जांच करायी जायेगी. निर्माण कार्य में गड़बड़ी पाये जाने पर संवेदक के खिलाफ कार्रवाई की जायेगी.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें