1. home Home
  2. state
  3. bihar
  4. lakhisarai
  5. light a lamp in the name of martyrs on deepawali says ips in lakhisarai bihar skt

दीपावली पर शहीदों के नाम जलाएं एक दीया, देश के लिए सर्वोच्च बलिदान करने वाले शहीद ही हमारे नायक

लखीसराय में तैनात अपर पुलिस अधीक्षक (अभियान) अमृतेश कुमार ने देश में युवाओं को सही राह पर चलने की अपील की है.दीपावली पर शहीदों के नाम एक दीया जलाने की अपील भी की.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
अपर पुलिस अधीक्षक (अभियान) अमृतेश कुमार
अपर पुलिस अधीक्षक (अभियान) अमृतेश कुमार
प्रभात खबर

लखीसराय. युवा किसी भी देश की शक्ति होते हैं, शक्ति का उपयोग होना निश्चित है. यदि शक्ति का सदुपयोग नहीं हुआ तो दुरुपयोग होगा. उपरोक्त बातें जिले में तैनात अपर पुलिस अधीक्षक (अभियान) अमृतेश कुमार ने व्यक्त की. उन्होंने कहा कि भारत एक विविधताओं से परिपूर्ण देश है. लोगों के अपने आदर्शों में भी विविधता रहनी तय है, पर देश का हित इन तमाम विविधताओं से ऊपर होना चाहिए.

अमृतेश कुमार ने कहा कि अभी हमने देखा कि एक सफल अभिनेता का पुत्र ड्रग के मामले में कई दिन न्यायिक हिरासत में रहा. उसको जमानत मिलने पर उसके स्वागत में एक बड़ी भीड़ उमड़ी. ढोल-नगाड़े बजाये गये और नारे लगाये गये. ऐसा लग रहा था जैसे वह भारत के लिए ओलंपिक मेडल जीतकर लौटा हो. इन्हीं दिनों में एक भारत-पाक क्रिकेट मैच हुआ और उसमें पाकिस्तान जीता. खेल में हार-जीत चलता रहता है. अपने देश की विजय पर स्वाभाविक खुशी जाहिर हो जाती है पर भारत के अनेक क्षेत्रों में पाकिस्तान की जीत की ख़ुशियां मनायी गयी. यह एक विकृत और देशविरोधी मानसिकता है. वहीं इसी बीच कश्मीर में सैन्य-अभियान भी जारी हैं जिसमें अनेक युवा शहीद हो रहे हैं.

अपर पुलिस अधीक्षक (अभियान) ने कहा कि एक तरफ देश के लिए सैनिकों के द्वारा सर्वोच्च बलिदान दिया जा रहा है तो दूसरी तरफ देशविरोधी गतिविधि जारी है. हाल में ही बेगूसराय के 23 वर्षीय लेफ्टिनेंट ऋषि रंजन शहीद हुए और उन्हें भी सम्मान मिला, पर परिजनों का दुःख कोई कम नहीं कर सकता. हमें यह सोचना होगा कि हमारे देश में आज वह अभिनेता पुत्र और इस तरह के “तथाकथित भटके बच्चे” आदर्श बनेंगे या देश का नाम रौशन कर रहे लोग और देश के लिए शहीद हो रहे युवा. ये भटके हुए युवा इस तर्ज पर सोचते हैं कि “बदनाम होंगे तो क्या नाम नहीं होगा”. इस देश में “गलत कारणों” से चर्चा में आये कई लोग इसी रणनीति के तहत आज नेता बन बैठे हैं. यह दुर्भाग्य है और इस पर हमारे देश को आज-ना-कल सोचना ही होगा.

अमृतेश कुमार ने कहा कि हमें अपना नायक सोच-समझकर चुनना होगा. हमें देश के लिए बलिदान हो रहे लोगों और उनके परिवारों के लिए खड़े रहना होगा. एएसपी अभियान ने कहा कि अपना सही नायक चुनना आवश्यक है. देश के लिए सर्वोच्च बलिदान करने वाले शहीद हमारे नायक हैं. उन्होंने सबों से अपील किया कि आइए इस दीपावली में एक दिया शहीदों के नाम जलाकर उन्हें श्रद्धांजलि दें. जिन्होंने अपना जीवन बाकी भारतवासियों के जीवन में प्रकाश लाने के लिए कुर्बान कर दिया है.

इनपुट: (लखीसराय से राजीव मुरारी सिन्हा)

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें