18.1 C
Ranchi
Sunday, February 25, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

Homeबिहारखगड़ियाबिहार में लोन देने के नाम पर एक करोड़ से अधिक की ठगी, 72 घंटे में 60 हजार रुपये...

बिहार में लोन देने के नाम पर एक करोड़ से अधिक की ठगी, 72 घंटे में 60 हजार रुपये मिलने का दिया था झांसा

नॉन बैंकिंग कंपनी की ठगी की शिकार महिलाओं ने बताया कि बीते 11 जनवरी को बीमा राशि का भुगतान किए जाने के दौरान उन लोगों को बताया गया कि 72 घंटे के अंदर ऋण की राशि उनके खाते में पहुंच जाएगी.

बेगूसराय सहित खगड़िया के आधे दर्जन से अधिक गांवों की सैकड़ों महिलाओं से ऋण देने के नाम पर एक नॉन बैंकिंग कंपनी के द्वारा एक करोड़ से अधिक रुपये की ठगी कर फरार होने का मामला प्रकाश में आया है. नॉन बैंकिंग कंपनी के फरार होने के बाद अपनी गाढ़ी कमाई बैंक में जमा करने वाले गरीब ग्रामीणों के परिवार में मातम है. बैंकिंग कंपनी के मैनेजर समेत सभी कर्मियों के रातों-रात लापता हो जाने के बाद बीते दो दिनों से कंपनी के कार्यालय एवं आवास के सामने पीड़ित परिवार की महिलाओं का मेला लगा हुआ है.

2000 एवं 3060 रुपए प्रति महिला के हिसाब से उगाही

खगड़िया के सदर प्रखंड अंतर्गत नगर परिषद क्षेत्र के वार्ड संख्या 26 में महिलाओं ने बताया कि नॉन बैंकिंग कंपनी के नाम पर दर्जनों युवकों ने खगड़िया जिले के आधे दर्जन से अधिक गांव से बीते 11 जनवरी को 72 घंटे के अंदर 35 हजार एवं 60 हजार लोन देने के लिए बीमा कराने के नाम पर दो हजार एवं 3060 रुपए प्रति महिला के हिसाब से उगाही की.

72 घंटे के अंदर 60 हजार रुपये खाते में मिलने का दिया झांसा

नॉन बैंकिंग कंपनी के कथित कर्मियों ने महिलाओं को आश्वस्त किया कि 72 घंटे के अंदर उनके खाते में 60 हजार रुपए पहुंच जाएंगे महिलाओं से कहा गया कि कंपनी के द्वारा दी गई ऋण की राशि का भुगतान 18 एवं 24 क़िस्तों में प्रतिमाह के हिसाब से करना है. उक्त महिलाओं से कहा गया कि उन लोगों का बीमा के रूप में 3060 रुपए पहले जमा करना है.

पीड़ित महिलाओं ने कहा 

नॉन बैंकिंग कंपनी की ठगी की शिकार महिलाओं ने बताया कि बीते 11 जनवरी को बीमा राशि का भुगतान किए जाने के दौरान उन लोगों को बताया गया कि 72 घंटे के अंदर ऋण की राशि उनके खाते में पहुंच जाएगी. 72 घंटे बीत जाने के बावजूद जब उनके खाते में ऋण की राशि नहीं पहुंची तो उन्होंने संबंधित कर्मियों को मोबाइल लगाना शुरू किया तो सारे कर्मियों के मोबाइल का स्विच ऑफ बता रहा था.

Also Read: Cyber Crime : पटना के वकील को हैकर ने इमेल पर लिखा “आइ एम हैकर” फिर….
नॉन बैंकिंग कंपनी के सभी कर्मियों का मोबाइल ऑफ, कार्यालय में लटक रहा ताला

नॉन बैंकिंग कर्मियों का स्विच ऑफ मिलने के बाद बीते 16 जनवरी को पीड़ित महिलाओं ने कंपनी के सन्हौली स्थित कार्यालय एवं कर्मियों के आवास पर पहुंचने लगे. पीड़ित महिलाएं जब कंपनी के कार्यालय पहुंची तो गेट पर ताला लगा हुआ था एवं कंपनी का बैनर रातों-रात गायब हो चुका था. पीड़ित जन कंपनी के कार्यालय गेट पर ताला लगा देखकर जब कर्मियों के सन्हौली स्थित आवास पर पहुंचे तो वहां से भी सारे कर्मी फरार हो गये थे.

12 घंटे के अंदर एक करोड़ रुपए से अधिक की हुई उगाही

नॉन बैंकिंग कंपनी का नेटवर्क कितना मजबूत था. इसका अनुमान इसी से लगाया जा सकता है कि बीते 11 जनवरी को कंपनी की तथाकथित कर्मियों ने जिले के सदर प्रखंड समेत सुदूर अलौली एवं बेलदौर प्रखंड के अलावा बेगूसराय जिला अंतर्गत सुदूर पंचवीर, तेतरी, डंडारी, बांक बिसनपुर आदि गांव के सैकड़ों महादलित महिलाओं को 12 घंटे के अंदर एक करोड़ रुपए से अधिक की ठगी का शिकार बनाया.

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें