25.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

एनक्यूएएस प्रमाणीकरण को लेकर केंद्रीय टीम ने किया निरीक्षण

सदर अस्पताल के कई विभागों में मिली खामियां

राष्ट्रीय गुणवत्ता आश्वासन मानक (एनक्यूएएस) के तहत सदर अस्पताल कटिहार का दो सदस्यीय केंद्रीय रेपिड असेसमेंट टीम द्वारा मरीजों को मिल रही चिकित्सकीय सहायता का दो दिवसीय निरीक्षण किया गया. इसमें एक्सटर्नल असेसर के रूप में डॉ जसवंत कुमार मॉल और इंटरनल असेसर के रूप में पंकज तिवारी शामिल थे. इस दौरान केंद्रीय टीम द्वारा अस्पताल के जनरल क्लीनिक, ओपीडी, इमरजेंसी वार्ड, लेबर रूम, प्रसव वार्ड, एसएनसीयू वार्ड, ब्लड सेंटर, लैबोरेटरी वार्ड, फार्मेसी, पोषण पुनर्वास केन्द्र (एनआरसी) और परिवार नियोजन परामर्श केंद्र आदि का निरक्षण किया गया. जांच के दौरान अस्पताल में कई कमियां भी सामने आयी. यहां तक कि जब टीम सदर अस्पताल के रेबीज इंजेक्शन कक्ष में पहुंची तो वहां पर फ्रिज में रखने वाले दवाई के साथ नर्स के द्वारा लाए गए टमाटर, खीरा, प्याज भी फ्रिज में देखने को मिला. जिसके बाद टीम वहां बिफर पड़ी. इसके अलावा लैब में रजिस्टर मेंटेन सही से अंकित नहीं होने पर भी अपनी असंतुष्टि जाहिर की. ब्लड सेंटर में जांच के दौरान रूम में साफ सफाई पर असंतोष जताया. सभी क्षेत्रों में निरीक्षण टीम द्वारा मरीजों की जांच के लिए उपलब्ध सुविधाओं की जांच करते हुए मरीजों की पंजीकरण सूची अपडेट की का निरक्षण किया गया. टीम द्वारा अस्पताल में उपलब्ध सुविधाओं को और बेहतर करने और सभी विभागों में हो रही कुछ कमी को नियत समय के अंतर ठीक करने के लिए आवश्यक निर्देश दिया गया. टीम द्वारा बताया गया कि अस्पताल में मरीजों को मिल रही सुविधाओं के मूल्यांकन के लिए एनक्यूएएस का एक मानक निश्चित किया गया है. उसके अनुसार सभी विभागों में उन मानकों के अनुसार मरीजों को मेडिकल सहायता प्रदान करने पर सरकार द्वारा संबंधित अस्पताल को एनक्यूएएस प्रमाणीकरण किया जाता है. सरकार का लक्ष्य वर्ष 2025 तक देश के 25 प्रतिशत अस्पताल को एनक्यूएएस प्रमाणीकरण के अधिन करना है. जिससे कि संबंधित अस्पताल में मरीजों को आसानी से सभी मूलभूत सुविधाएं आसानी से उपलब्ध हो. सदर अस्पताल कटिहार में उपलब्ध सुविधाओं का एनक्यूएएस प्रमाणीकरण के लिए प्रदर्शन को आका गया है. कुछ विभागों में प्रमाणिकरण के अनुसार सुधार करने को कहा गया है. निश्चित समय बाद इसका फिर से मूल्यांकन करते हुए इसे एनक्यूएएस प्रमाणीकरण का लाभ मिल सकेगा. इस अवसर पर एसीएमओ डॉ कनक रंजन, सदर अस्पताल उपाधीक्षक डॉ आशा शरण, जिला सलाहकार गुणवत्ता यकीन पदाधिकारी डॉ किशलय कुमार, यूएनएफपीए जिला समन्यवक बुद्धदेव कुमार, पीएसआई जिला समन्यवक शिल्पी सिंह, अस्पताल प्रबंधक चंदन कुमार सिंह, भावेश रंजन के अलावा कई स्वास्थ्य कर्मी उपस्थित रहे.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें