25.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

बिहार में महंगी हुई बिजली, फिक्स्ड चार्ज डबल हुआ, जानें टैरिफ में कितनी फीसदी की हुई बढ़ोतरी

बिहार के बिजली उपभोक्ताओं बड़ा झटका लगा है. सरकार ने बिजली दर में बढ़ोतरी की घोषणा कर दी है. बिजली शुल्क में 24.10 फीसदी की बढ़ोतरी की गई है. अब सरकार की ओर से दी जाने वाली सब्सिडी के आधार पर प्रति यूनिट बिजली का दर तय होगा.

पटना. बिहार के बिजली उपभोक्ताओं बड़ा झटका लगा है. सरकार ने बिजली दर में बढ़ोतरी की घोषणा कर दी है. बिजली शुल्क में 24.10 फीसदी की बढ़ोतरी की गई है. बिहार विद्युत विनियामक आयोग ने बिजली दर में बढ़ोतरी की घोषणा की है. बिहार में बिजली की दर लगभग दो रूपये प्रति यूनिट बढ़ा दी गयी है. फिक्स चार्ज भी बढ़ा दिया गया है. इस बीच, सरकार ने कहा है कि वह बढ़े हुए बिजली दर पर उपभोक्ताओं को राहत देने पर विचार करेगी. एक अप्रैल 2023 से नयी दरें लागू हो जायेंगी जो मार्च 2024 तक लागू होंगी. अब सरकार की ओर से दी जाने वाली सब्सिडी के आधार पर प्रति यूनिट बिजली का दर तय होगा.

बिजली की दरों में 24.01 फीसदी की बढ़ोतरी

राज्य में बिजली बिल महंगा हो गया है. आयोग ने बिजली की दरों में 24.01 फीसदी की बढ़ोतरी का फैसला सुनाया है. यानी कि अब बिजली उपभोक्ताओं को सवा गुना ज्यादा खर्च करना पड़ेगा. इसके साथ ही बिजली बिल के फिक्स्ड चार्ज में भी दोगुना से ज्यादा की बढ़ोतरी की गयी है. हालांकि बिजली कंपनियों ने 53.62 फीसदी की बढ़ोतरी का प्रस्ताव दिया था.

सब्सिडी के आधार पर तय होगा रेट

बिहार विद्युत नियामक आयोग के अध्यक्ष शिशिर कुमार सिंह ने गुरुगुवार को बिजली दरों में बढ़ोतरी का फैसला सुनाया. प्रति यूनिट बिजली की नयी दरों का निर्धारण राज्य सरकार की ओर से दी जानेवाली सब्सिडी के आधार पर किया जाएगा. हालांकि, बिजली उपभोक्ताओं की जेब ढीली होना तय है. प्रति यूनिट बिजली दरों में बढ़ोतरी के साथ ही बिहार में इलेक्ट्रिसिटी बिल के फिक्स्ड चार्ज में भी बढ़ोतरी की गयी है. आयोग के अध्यक्ष ने कहा कि फिक्स्ड चार्ज में दोगुने से अधिक की बढ़ोतरी हुई है. साथ ही बिजली दरों के स्लैब को तीन से कम कर के अब दो कर दिया गया है.

समझिये कितना बढ़ गया आपका बिजली बिल

नयी दर के अनुसार अगर आप 100 यूनिट तक भी बिजली की खपत करते हैं तो हर महीने लगभग दो सौ रूपये ज्यादा देने होंगे. जिन घरों में 100 यूनिट से ज्यादा बिजली खर्च होती है उन्हें प्रति यूनिट दो रूपये से ज्यादा का बोझ पड़ेगा. ग्रामीण इलाकों में घरेलू कनेक्शन पहले 100 यूनिट तक बिजली खपत पर प्रति यूनिट 6 रूपये 40 पैसा लगता था. वहीं फिक्स चार्ज 20 रूपया प्रति महीना था. नये दर के मुताबिक 50 यूनिट की खपत पर 7 रूपये 57 पैसे प्रति यूनिट चार्ज होगा. 50 यूनिट से ज्यादा पर 8 रूपये 11 प्रति यूनिट चार्ज होगा. इसके साथ ही 40 रूपये फिक्स चार्ज देना होगा. यानि अगर किसी ने 100 यूनिट बिजली खपत की तो उसे लगभग 1 रूपये 91 पैसे प्रति यूनिट ज्यादा देने होंगे.

शहरी इलाकों में घरेलू कनेक्शन

पहले 100 यूनिट तक बिजली खपत पर लगते थे 6 रूपये 10 पैसे प्रति यूनिट और फिक्स चार्ज के 40 रूपये प्रति किलो वाट नयी दर के मुताबिक 50 यूनिट खपत तक 7 रूपये 57 पैसे प्रति यूनिट लगेंगे. 50 यूनिट से ज्यादा खर्च करने पर 8 रूपये 11 पैसे प्रति यूनिट चार्ज किया जायेगा. वहीं फिक्स चार्ज को 40 रूपये से बढ़ाकर 80 रूपया प्रति किलो वाट कर दिया गया है. सरकार पहले से इस पर 183 रूपये का सब्सिडी दे रही थी. मतलब आप 100 यूनिट बिजली खपत करते हैं तो पहले की तुलना में 251 रूपये ज्यादा बिजली बिल देना होगा.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें