25.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

बिहार के विश्वविद्यालयों में पढ़ा रहे शिक्षकों के लिए खुशखबरी, शिक्षा विभाग ने वेतन के लिए मंजूर किए 81 करोड़

शिक्षा विभाग ने बिहार के विश्वविद्यालयों में पढ़ा रहे तीन हजार से अतिथि एवं अंशकालिक शिक्षकों के लिए 81.40 करोड़ रुपये की राशि इसी वित्तीय वर्ष 2022-23 के लिए जारी की है. इस राशि से इन शिक्षकों के मानदेय का भुगतान अविलंब किया जा सकेगा.

बिहार के विश्वविद्यालयों में पढ़ा रहे तीन हजार से अतिथि एवं अंशकालिक शिक्षकों के लिए अच्छी खबर है. इन शिक्षकों के लिए शिक्षा विभाग द्वारा मानदेय राशि स्वीकृति कर दी गयी है. शिक्षा विभाग ने इस के लिए 81.40 करोड़ रुपये की राशि इसी वित्तीय वर्ष 2022-23 के लिए जारी की है. इस राशि से इन शिक्षकों के मानदेय का भुगतान अविलंब किया जा सकेगा.

किस विश्वविद्यालय को मिले कितने रुपये

शिक्षा विभाग की तरफ से दी गयी आधिकारिक जानकारी के मुताबिक पटना विश्वविद्यालय के अतिथि एवं अंशकालिक शिक्षकों के लिए 14.13 करोड़ रुपये, मुजफ्फरपुर कर बीआरए बिहार विश्वविद्यालय के लिए 21.56 करोड़ रुपये, भागलपुर के तिलका मांझी विवि के लिए 6.93 करोड़ रुपये, पूर्णियां विश्वविद्यालय के लिए 4.07 करोड़, मधेपुरा के बी एन मंडल विश्वविद्यालय के लिए 9.68 करोड़ रुपये, दरभंगा के ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय के लिए 20.40 करोड़ रुपये और आरा के वीर कुंवर सिंह विश्वविद्यालय के अतिथि एवं अंशकालिकि शिक्षकों के लिए 4.62 करोड़ रुपये की राशि जारी की गयी है.

सिर्फ मानदेय के लिए होगा जारी राशि का उपयोग

आदेश जारी किया गया हैं कि मानदेय के लिए जारी की गयी इस राशि का उपयोग किसी अन्य मद में नहीं किया जाये. इस राशि से अंशदान तभी दिया जायेगा, जब विश्वविद्यालयों को पहले दी गयी राशि का उपयोगिता प्रमाण पत्र शिक्षा विभाग को हासिल हो जाये. अतिथि शिक्षकों को भुगतान सीएफएमएस के माध्यम से पेयी आइडी बनाकर किया जायेगा.

Also Read: बिहार की अंबेडकर यूनिवर्सिटी Ph.D थीसिस ऑनलाइन करने में देश के टॉप 10 विवि में, अब तक 9194 थीसिस अपलोड

1500 रुपये प्रति पीरियड के हिसाब से होगा भुगतान

जारी की गयी राशि से यह भुगतान उन अतिथि शिक्षकों को किया जाना है, जिनकी सेवा को विभागीय संकल्प संख्या 925 के आलोक में फिर से नवीनीकरण किया गया है. अतिथि शिक्षकों को प्रति पीरियड 1500 रुपये और अधिकतम 50 हजार रुपये का भुगतान किया जाना है.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें