25.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

भूमिहीनों को मिलेगा जमीन, हर गांव में हुआ सर्वेक्षण

प्रखंड के सभी गांव में राज्य सरकार के निर्देश के बाद जमाबंदी का आधार सीडिंग कार्य 70% से अधिक पूरा कर लिया गया है

राजपुर. प्रखंड के सभी गांव में राज्य सरकार के निर्देश के बाद जमाबंदी का आधार सीडिंग कार्य 70% से अधिक पूरा कर लिया गया है. पिछले दिनों जिला के वरीय अधिकारियों के साथ हुई बैठक में यह निर्देश दिया गया था कि इस माह के अंत तक शत प्रतिशत आधार सीडिंग का कार्य पूरा कर लिया जायेगा. जिसके आलोक में अभी भी कार्य तीव्र गति से चल रहा है. शीघ्र ही कार्य पूरा कर लिया जायेगा. सरकार के निर्देश पर अभियान बसेरा टू के तहत भूमिहीनों का चयन किया जा रहा है. कुछ लोगों के नाम से पर्चा तैयार किया जा रहा है लक्ष्य के मुताबिक भू लगान वसूली का भी काम तीव्र गति से किया जा रहा है.विभाग से मिली जानकारी के अनुसार क्षेत्र के गांव में भूमिगत जल स्तर बनाए रखने एवं भूमि को हमेशा रिचार्ज करने के लिए सरकार के तरफ से चलाई जा रही जल जीवन हरियाली योजना को भी तीव्र रूप से गति दी जा रही है. इस योजना को साकार रूप देने के लिए सरकार ने सभी गांव में पहले से मौजूद सार्वजनिक तालाब, पोखरा का सर्वेक्षण शुरू कर दिया है. इसको लेकर सरकारी कर्मी गांव- गांव में इसकी जमीन की तलाश कर रहे हैं. चिन्हित किए गए तालाब पोखरों को खाली करने के लिए अतिक्रमणवाद अधिनियम के तहत नोटिस भेजा जा रहा है.कुछ जगहों पर अतिक्रमण हटाया भी गया है. जिन जगहों पर तालाबों की खुदाई की गई है. वहां भूमिगत जलस्तर सामान्य है.अन्य जगहों पर लोगों से अपील की जा रही है कि जल स्रोत को बचाए रखने में आप सभी सरकार का सहयोग करें. गांव में पहले से मौजूद कुआं का जीर्णोद्धार कर उन्हें जीवंत रखें.सीओ डॉक्टर शोभा कुमारी ने बताया कि सरकार के कार्यों को गति देने के लिए सभी कर्मी लगे हुए हैं.शीघ्र ही भूमिहीनों को परचा मिलेगा. आरटीपीएस पर आने वाले आवेदनों का समय पर निष्पादन किया जा रहा है.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें