29.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

Bihar Weather AQI: बिहार में दो दिन पड़ेगी बारिश! करवट लेगा मौसम, ठंड और प्रदूषण को लेकर जानिए बड़ी जानकारी..

Bihar Weather AQI: बिहार में दो दिन बारिश के आसार दिख रहे हैं. मौसम विभाग की ओर से जानकारी दी गयी है कि अगले 72 घंटे बिहार का मौसम कैसा रहेगा. चक्रवात को लेकर भी अहम जानकारी दी गयी है. वहीं सीमांचल प्रदूषण से त्रस्त है. जानिए वेदर रिपोर्ट..

Bihar Weather AQI : बिहार का मौसम (Bihar Ka Mausam) इन दिनों लगातार करवट ले रहा है. एकतरफ जहां पश्चिमी विक्षोभ इसका कारण बना है. तो वहीं दूसरी ओर तापमान में भी बढ़ोतरी देखी जा रही है. इस बार बिहार में ठंड (Bihar Me Thand) का असर कुछ खास देखने को नहीं मिला है. मौसम मामले के जानकार बताते हैं कि पिछली बार की तरह इस बार कड़ाके की ठंड पड़ने की संभावना बेहद कम है. वहीं बारिश को लेकर मौसम विभाग (IMD Report) की ओर से पूर्वानुमान जारी किया गया है. जिसके बाद तापमान में गिरावट देखी जा सकती है. इधर बिहार लगातार प्रदूषण की मार भी झेल रहा है. बिहार के कई शहरों का एक्यूआई लेवल (Bihar AQI Today) खतरनाक श्रेणी में पाया गया है. आए दिन एक शहर देशभर के सबसे प्रदूषित शहरों की सूचि में पहले नंबर पर दिख रहा है.

बिहार का मौसम कैसा रहेगा.. 

बंगाल की खाड़ी में सक्रिय मिचौंग सायक्लोन की वजह से अगले 72 घंटे राज्य में बादल छाये रहेंगे. वातावरण में नमी की मात्रा बढ़ जायेगी. विशेषकर दक्षिणी बिहार में हल्की से मध्यम बारिश के आसार हैं. इन सब की वजह से राज्य के उच्चतम तापमान में कुछ कमी और न्यूनतम तापमान में जबरदस्त इजाफे के आसार बनने जा रहे हैं. दक्षिण- मध्य, दक्षिण-पश्चिम और दक्षिणपूर्व जिलों में कुछ एक स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश के आसार हैं.

Also Read: Bihar Weather: बिहार में चक्रवात का दिखेगा असर? इन जिलों में बदलेगा मौसम, जानिए वेदर और AQI रिपोर्ट..
पटना में छह और सात दिसंबर को हो सकती है बारिश

पटना और आसपास के क्षेत्रों में 6 और 7 दिसंबर को बारिश की संभावना है. इस दौरान पूरे दिन बादल छाये रहेंगे और कुछ एक जगहों पर हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है. मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार दक्षिण में आये साइक्लोनिक तूफान के कारण राज्य के मौसम पर असर पड़ा है. वहीं, रविवार को शहर के न्यूनतम तापमान में शनिवार के मुकाबले थोड़ी कमी आयी, लेकिन बावजूद इसके तापमान सामान्य से छह डिग्री अधिक 17.4 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम तापमान 32 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. मौसम विज्ञान केंद्र की ओर से जारी पूर्वानुमान के अनुसार अगले 24 घंटे में तापमान में कोई विशेष अंतर होने की संभावना नहीं है.

भागलपुर व आसपास के क्षेत्रों में हल्की बारिश की संभावना

बिहार कृषि विश्वविद्यालय, सबौर के मौसम विभाग के नोडल पदाधिकारी डॉ. सुनील कुमार ने बताया कि 4 से 8 दिसम्बर के बीच भागलपुर में अधिकतम तापमान तथा न्यूनतम तापमान में कमी बनी रहेगी, 6 से 7 दिसम्बर के बीच भागलपुर में हल्की बारिश की संभावना है, इस दौरान आसमान में आंशिक बादल छाये रह सकते हैं, इस दौरान पश्चिमी हवा चलने की संभावना है. इस दौरान हवा की औसत गति 1 से 3 किलोमीटर प्रति घंटा रह सकती है.

बिहार के जिलों का तापमान

आइएमडी के मुताबिक रविवार को राज्य में सबसे अधिक उच्चतम तापमान 32 डिग्री सेल्सियस पटना में दर्ज किया गया. राज्य में पटना, गया, भागलपुर, पूर्णिया समेत सभी इलाकों में न्यूनतम तापमान सामान्य से छह डिग्री अधिक दर्ज किया गया है. हालांकि न्यूनतम तापमान में सोमवार से और अधिक इजाफा होने की संभावना है. पिछले कुछ समय से रात का तापमान सामान्य से आठ डिग्री सेल्सियस तक गया है. फिलहाल दिसंबर के पहले हफ्ते में भी राज्य में कड़ाके की ठंड नहीं महसूस होगी.

बिहार में प्रदूषण की मार..

बिहार प्रदूषण की मार से भी त्रस्त है. रविवार को कटिहार व पूर्णिया राज्य के सबसे प्रदूषित शहर रहे. दोनों शहरों का एयर क्वालिटी इंडेक्स (एक्यूआइ) 376 दर्ज किया गया. हालांकि पटना शहर का एक्यूआइ में दो दिनों से लगातार सुधार दर्ज किया जा रहा है. हालांकि, अशोक राजपथ के मुरादपुर, दानापुर व राजवंशीनगर के इलाके की हवा अब भी ज्यादा खराब है. मुरादपुर में एक्यूआइ सबसे अधिक 376 दर्जकिया गया, जबकि दानापुर व राजवंशीनगर में यह तो 300 से अधिक है या उसके पास. हालांकि, तारामंडल और शिकारपुर इलाके में वायु प्रदूषण काफी कम है. बेगूसराय की एक्यूआइ मॉनीटरिंग मशीन अब तक ठीक नहीं की गयी है. कटिहार व पूर्णिया शहर के अलावा बिहार के नौ शहरों का एक्यूआइ में 200 के पार यानी बहुत खराब श्रेणी में दर्जकिया जा रहा है. इन नौ प्रदूषित शहरों में उत्तर बिहार के शहरों की वायु गुणवत्ता ज्यादा खराब हो रही है. प्रदूषण नियंत्रण जानकार बताते हैं कि प्रशासन की तरफ से लाख मना करने पर भी कुछ किसान अब भी पुआल जलाने से बाज नहीं आ रहे हैं. प्रदूषण बोर्ड की निगरानी टीम लगातार ड्रोन के माध्यम से पुआल जलने वाले हॉट-स्पॉटों की पहचान की जा रही है.

पहाड़ों पर हो रही बर्फबारी का दिख रहा असर

पहाड़ों पर हो रही बर्फबारी व पहाड़ों से आने वाली पछुआ हवा ने कई शहरों की आबोहवा की गुणवत्ता में सुधार लाना शुरू कर दिया है. मौसम विज्ञानी ने बताया कि धूप की किरणों के तेज होने के कारण गोपालगंज का अधिकतम तापमान सामान्य से 5.2 डिग्री अधिक होकर 31.3 डिग्री पर अधिक रहा. वहीं न्यूनतम तापमान भी सामान्य 12.5 से 4.6 डिग्री अधिक होकर 16.1 डिग्री रहा.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें