1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. bihar lockdown 4 latest news updates hindi film to be made on jyoti who brought her sick father on a cycle and brought him to darbhanga from gurugram

बीमार पिता को साईकिल पर बैठाकर गुरुग्राम से दरभंगा लाने वाली ज्योति पर बनेगी हिंदी फिल्म

By ThakurShaktilochan Sandilya
Updated Date
 ज्योति के पिता मोहन पासवान ने आज विनोद कापड़ी की कंपनी BFPL के साथ एक अनुबंध पत्र पर हस्ताक्षर करके फ़िल्म और वेब सीरिज़ बनाने की सहमति दे दी है
ज्योति के पिता मोहन पासवान ने आज विनोद कापड़ी की कंपनी BFPL के साथ एक अनुबंध पत्र पर हस्ताक्षर करके फ़िल्म और वेब सीरिज़ बनाने की सहमति दे दी है
प्रभात खबर

लॉकडाउन में अपने बीमार पिता को गुरुग्राम से दरभंगा साईकिल से ले जाने वाली ज्योति कुमारी देश ही नहीं बल्कि विदेशी मीडिया में भी सुर्खियां बटोर रही हैं.वहीं अब मिस टनकपुर और पीहू जैसी फिल्में बना चुके राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कार विजेता निर्देशक विनोद कापड़ी ज्योति कुमारी की इस यात्रा पर फ़िल्म बनाने जा रहे हैं.मिली जानकारी के अनुसार उन्होंने ज्योति के पिता से फ़िल्म बनाने के लिए कानूनी तौर पर राइट्स ले लिए हैं. 15 साल की बेटी ने अपने बीमार पिता को गुरुग्राम से दरभंगा साईकल से ले जाने का फैसले के जिस साहस की चर्चा आज देश के हर कोने में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी है वहीं अब इसे जल्द ही पर्दे पर भी दिखाने की तैयारी शुरू हो गई है.

ज्योति के पिता ने अनुबंध पत्र पर किए हस्ताक्षर :

दिल्ली से भागीरथी फ़िल्म्स प्राइवेट लिमिटेड के प्रवक्ता ने बताया कि ज्योति की कहानी चुनौतियों से भरी है.यह एक मज़दूर की संघर्ष कथा है और इसके साथ ही यह बहुत प्रेरक भी है. इस संबंध में ज्योति के पिता मोहन पासवान ने आज विनोद कापड़ी की कंपनी BFPL के साथ एक अनुबंध पत्र पर हस्ताक्षर करके फ़िल्म और वेब सीरिज़ बनाने की सहमति दे दी है. जिसके तहत ज्योति पर बनने वाली फ़िल्म के सर्वाधिकार विनोद कापड़ी को दे दिए गए हैं. विनोद कापड़ी के प्रतिनिधि के तौर पर निर्भय भारद्वाज ने मोहन पासवान से मिलकर औपचारिकताएँ पूरी की.

फ़िल्मकार विनोद कापड़ी ने बताया कारण :

इस बारे में फ़िल्मकार विनोद कापड़ी ने बताया कि अभी हाल ही में उन्होंने 7 मज़दूरों के साथ ग़ाज़ियाबाद से सहरसा की 1232 किलोमीटर की यात्रा की है और वो जानते हैं कि ये यात्राएँ कितनी ख़तरनाक होती हैं. जिस पर उनकी डॉक्यूमेंट्री जल्द ही आने वाली है. लेकिन ज्योति और मोहन पासवान की कहानी को वो अलग तरह से पेश करना चाहेंगे क्योंकि इसमें संघर्ष पिता और पुत्री का है. कहानी को विस्तार से समझने के लिए विनोद कापड़ी जल्द ही दरभंगा आ कर ज्योति और मोहन पासवान से मिलेंगे.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें