1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. bhagalpur
  5. ganges reached danger mark pressure on dams started increasing

खतरे के निशान पर पहुंची गंगा, बांधों पर बढ़ने लगा दबाव

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
खतरे के निशान पर पहुंची गंगा, बांधों पर बढ़ने लगा दबाव
खतरे के निशान पर पहुंची गंगा, बांधों पर बढ़ने लगा दबाव

भागलपुर: नवगछिया के तटबंध पर नदियों के पानी का दबाव बढ़ने लगा है. गंगा के जल स्तर में लगातार वृद्धि जारी है. नदी वर्तमान में खतरे के निशान 31.60 मीटर पर बह रही है. नदी के जल स्तर में हो रही वृद्धि से इस्माइलपुर के लोगों में बाढ़ का संकट बढ़ गया है. इस्माइलपुर के लोग संभावित बाढ़ को देखते हुए अभी से अपने सामानों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाने में जुटे हैं. बाढ़ का पानी पूरी तरह से फैल गया है. दूसरी तरफ गंगा नदी के जलस्तर में हो रही वृद्धि के बाद इस्माइलपुर बिंदटोली के बीच स्परों पर भी नदी का दबाव बढ़ने लगा है.

जल संसाधन विभाग के कनीय अभियंता राजेन्द्र प्रसाद ने कहा कि गंगा नदी खतरे के निशान को छू लिया है. पिछले 24 घंटे में दस सेंटीमीटर की वृद्धि हुई है. जल स्तर में लगातार हो रही वृद्धि से इलाके में बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है.

मध्याह्न भोजन में मिलने वाले चावल में अनियमितता, ग्रामीणों ने किया हंगामा

नवगछिया . सोमवार को मध्य विद्यालय नगरह में मध्याह्न भोजन को लेकर मिलने वाले चावल को लेकर ग्रामीणों ने जमकर हंगामा किया. चावल वितरण को लेकर ग्रामीणों ने प्रभारी पर अनियमितता का आरोप लगाया है. ग्रामीणों ने बताया कि राज्य सरकार के द्वारा बच्चों के मध्याह्न भोजन को लेकर चावल का वितरण किया जा रहा है. जिसमें कक्षा दो से कक्षा पांच तक के बच्चे को आठ किलो चावल मिलना है. कक्षा छह से कक्षा आठ तक के बच्चों को बारह किलो चावल मिलता है, लेकिन शुक्रवार से मध्य विद्यालय में चावल का वितरण अनियमितता सेह वितरण किया जा रहा है. दूसरी कक्षा से पांचवीं कक्षा तक के बच्चों को साढ़े पांच किलो से सात किलो तक चावल दिया जा रहा है. जबकि, छठी कक्षा से आठवीं कक्षा के बच्चों को आठ किलो से दस किलो तक चावल दिया जा रहा है.

दर्जनों बच्चों के परिजनों का कहना है कि चावल सही से नहीं मिलता है, बिना नाप किये बाल्टी के निशान से चावल दिया जा रहा है. जिनको आठ किलो चावल मिलना चाहिए, उसे साढ़े पांच किलो से सात किलो तक दिया जाता है. जिन्हें बारह किलो मिलना चाहिए उसे आठ किलो से दस किलो तक दिया जा रहा है. इस संबंध में मध्य विद्यालय नगरह के प्रभारी हरिवल्लभ झा ने बताया कि दूसरी से पांचवीं कक्षा के 154 बच्चों को चावल दिया जाना है. जिसमें 110 बच्चों के बीच वितरण हो गया है. वहीं, पांचवीं से आठवीं कक्षा के 220 बच्चों में 188 बच्चों को चावल दिया गया है. चावल जनवरी माह का आया हुआ वितरण किया जा रहा है. वितरण में माप में कुछ कमी हुई थी, जिसकी शिकायत अभिभावकों द्वारा की गयी. जानकारी मिलने पर उसमें सुधार करवा दिया गया है.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें