1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. bhagalpur
  5. bhagalpur blast investigation of terrorist and naxalite connections continues azad still away from police grip rdy

भागलपुर विस्फोट: आतंकी और नक्सली कनेक्शन की जांच जारी, आजाद अब भी पुलिस की पकड़ से दूर

पुलिस का दावा है कि कई बिंदुओं पर जांच जारी है, जल्द सबकुछ सामने होगा. दूसरी ओर राज्य के उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन देर शाम पीड़ितों से मिलने काजीवली चक और अस्पताल पहुंचे. उन्होंने सबकी पीड़ा जानी व आश्वासन दिया कि राज्य सरकार इस मामले पर गंभीर है और उचित निर्णय लिया जायेगा.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
भागलपुर विस्फोट मामले की जांच जारी
भागलपुर विस्फोट मामले की जांच जारी
प्रभात खबर

भागलपुर के काजीवली चक विस्फोट में 75 घंटे बाद भी पुलिस के हाथ खाली हैं. आजाद भी पकड़ से दूर है और पुलिस किसी ठोस निष्कर्ष पर नहीं पहुंच सकी है. हालांकि तीसरे दिन भी एटीएस, बम स्क्वायड व पुलिस की जांच और कॉबिंग जारी रही. इस क्रम में कुकर बम व अन्य सामान हाथ लगे. इधर, जांच के क्रम में मुजफ्फरपुर गयी पुलिस भी देर रात लौट आयी. पुलिस का दावा है कि कई बिंदुओं पर जांच जारी है, जल्द सबकुछ सामने होगा. दूसरी ओर राज्य के उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन देर शाम पीड़ितों से मिलने काजीवली चक और अस्पताल पहुंचे. उन्होंने सबकी पीड़ा जानी व आश्वासन दिया कि राज्य सरकार इस मामले पर गंभीर है और उचित निर्णय लिया जायेगा.

दूसरी ओर जर्जर घोषित तीन मकानों को तोड़ने गयी प्रशासन व निगम की टीम को पीड़ितों ने बैरंग लौटा दिया. इस दौरान मजिस्ट्रेट के रूप में गयीं नाथनगर की सीओ को भला-बुरा भी सुनना पड़ा. पीड़ितों ने आरोप लगाया कि उनके राहत की कोई व्यवस्था नहीं की गयी है. दूसरी ओर आयशा मंसूर का शव रविवार रात करीब 10 बजे भागलपुर लाया गया. मिट्टी मंजिल सोमवार को होगी. याद रहे आयशा विस्फोट में गंभीर रूप से घायल हो गयी थी. इलाज के दौरान सिलीगुड़ी में उसकी शनिवार को मौत गयी.

आजाद अब भी पकड़ से दूर

काजीवली चक विस्फोट मामले में आरोपित मो आजाद, जिसे पुलिस एक मामूली वेल्डिंग कारीगर बता रही है, अब तक पकड़ से दूर है. आजाद की गिरफ्तारी के लिए भागलपुर पुलिस की टीम ने मुजफ्फरपुर में भी छापेमारी की. हालांकि वह नहीं मिला. गुरुवार रात हुई घटना के तुरंत बाद पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों ने जहां पटाखा में इस्तेमाल किये जाने वाले विस्फोटक से हुए धमाके की बात बतायी थी, वहीं दूसरे दिन एटीएस के भागलपुर पहुंचने के बाद मामले को आतंकी कनेक्शन को जोड़ा जा रहा है. दूसरे दिन शनिवार को काजीवली चक में ही रात में चलाये गये अभियान में एक घर से प्रेशर कुकर में रखा विस्फोटक मिले के बाद अब मामले को नक्सली कनेक्शन से जोड़ कर देखा जा रहा है. एटीएस (एंटी टेररिज्म स्क्वाड) व बीडीडीएस (बॉम्ब डिटेक्शन एंड डिस्पोजल स्क्वॉड) लगातार भागलपुर में कैंप कर रही है.

साहेबगंज में मलबे की हुई जांच

एटीएस व बीडीडीएस की टीम ने रविवार की सुबह साहेबगंज में गिराये गये मलबे की जांच की. हालांकि इस दौरान टीम को कोई खास प्रदर्श हाथ नहीं लगे. दरअसल, मलबे से शनिवार को एक शव मिलने के बाद कई सवाल उठने लगे हैं. इस मामले को लेकर अब लोगों की ओर से भी सवाल उठने लगे हैं.

काजीवली चक विस्फोट मामले में भागलपुर पुलिस हर बिंदु पर जांच कर रही है. मो आजाद की गिरफ्तारी के साथ बारूद के कारोबार से जुड़े सभी लिंक को एसआइटी खंगाल रही है. जल्द ही पुलिस ठोस निष्कर्ष पर पहुंच मामले का खुलासा करेगी. घटना में शामिल हर एक अभियुक्त की गिरफ्तारी की जायेगी. विस्फोटक व बारूद संबंधित सामग्री के अवैध कारोबार से जुड़े लोगों के विरुद्ध भागलपुर पुलिस की विशेष टीम लगातार अभियान चला रही है.

- बाबू राम, एसएसपी, भागलपुर

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें