29.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

बिहार की पहली ट्रांसजेंडर दारोगा बनी मधु, संघर्ष भरा रहा नाटक मंडली से पुलिस तक का सफर

बिहार सब इंस्पेक्टर भर्ती परीक्षा में तीन ट्रांसजेंडर भी सफल हुए हैं. इनमें से एक बांका की रहने वाली मानवी मधु कश्यप हैं. मानवी का जीवन संघर्ष से भरा रहा है. जीविकोपार्जन के लिए उन्होंने कभी अखबार बेचा तो कभी शॉपिंग सेंटर में भी काम किया. पढ़िए पंजवारा से गौरव कश्यप की मानवी मधु कश्यप पर रिपोर्ट...

Bihar Daroga Result: मंगलवार को बिहार पुलिस अवर सेवा आयोग ने सब इंस्पेक्टर का रिजल्ट जारी कर दिया है. मूल रूप से बांका जिले के बाराहाट प्रखंड के पंजवारा की रहने वाली मानवी मधु कश्यप पहली ट्रांसजेंडर महिला सब इंस्पेक्टर बनी हैं. इस सफलता पर उन्होंने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, गुरु रहमान सर, रेशमा मैडम, सुल्तान सर, अपने माता-पिता और भाई-बहन पिता स्वर्गीय नटवर प्रसाद सिंह माता माला देवी दो भाई सोनू कुमार सिंह मुनमुन कुमार सिंह दो बहन लवली कुमारी चांदनी कुमारी को धन्यवाद दिया है.

कभी वह नाटक मंडली में अभिनेत्री बनकर तो कभी अखबार बेचकर करती थीं जीवनयापन

पंजवारा बाजार निवासी स्वर्गीय नरेंद्र प्रसाद सिंह उर्फ ​​नटवर प्रसाद सिंह और माला देवी के घर जन्मी मानवी मधु कश्यप शुरू से ही पढ़ाई में काफी होशियार थी. मानवी का जन्म पुरुष के रूप में हुआ था लेकिन उसके अंदर स्त्रियोचित गुण थे. जिसके कारण मानवी नाटक मंडली में अभिनेत्री और नर्तकी बनकर लोगों का मनोरंजन करती थी. इस दौरान उसने राज्य संपोषित उच्च विद्यालय पंजवारा से मैट्रिक और सीएम कॉलेज बौंसी से इंटर और स्नातक की परीक्षा पास की. पढ़ाई के दौरान खर्च चलाने के लिए वह गांव-गांव में अखबार पहुंचाने का काम भी करती थी.

शॉपिंग सेंटर में भी किया काम

इसी बीच 2015 में मानवी घर छोड़कर आसनसोल में अपनी बहन और बहनोई के साथ रहने लगी. वहां उसने कुछ दिनों तक एक शॉपिंग सेंटर में भी काम किया. करीब तीन-चार साल आसनसोल में रहने के बाद वह पटना पहुंची जहां ट्रांसजेंडर एसोसिएशन के सदस्यों के साथ शेल्टर होम में रहने लगी. शुरुआत में संघ द्वारा उसे घर-घर भेज कर बधाइयां दिलवाने का काम करवाया जाता था.

Also Read: बिहार पुलिस दारोगा भर्ती परीक्षा का रिजल्ट जारी, 3 ट्रांसजेंडर सहित 1275 अभ्यर्थी चयनित

गुरु रहमान की पारखी नजर ने मानवी को बनाया सब इंस्पेक्टर

गुरु रहमान कहते हैं कि कई तरह की प्रताड़ना झेलने के बाद मानवी मधु कश्यप मेरे पास आई. पढ़ने की उसकी ललक को देखते हुए हमने उसे कई कोचिंग संस्थानों में भेजा लेकिन किसी संस्थान ने उनका एडमिशन नहीं लिया. इसके बाद हमने उसे पढ़ाना शुरू किया. पढ़ाई में बहुत अच्छी होने के कारण उसने सब इंस्पेक्टर की परीक्षा में सफलता हासिल की. ​​उसकी यह सफलता गर्व की बात है. मानवी अब लोगों के घर बधाई देने नहीं जाएगी, बल्कि वह कलम चलाएगी.

Also Read: पेपर लीक मामले में बिहार से दो और आरोपी गिरफ्तार, CBI ने पटना से दबोचा

मानवी का सपना आईएएस बनने का है

मानवी मधु कश्यप का कहना है कि सब इंस्पेक्टर की परीक्षा की तैयारी 2021 से कर रही थी. आसनसोल से पटना आने के बाद इस पद तक पहुंचने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा. मेरे लिए यह संघर्ष काफी चुनौती भरा था. लेकिन परिवार जनों व गुरु की कृपा से आज इस मुकाम तक पहुंची हूं. मेरा सपना आईएएस बनकर देश की सेवा करना है.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें