24.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

बकरीद के मौके पर चप्पे-चप्पे पर रहेगी प्रशासन की नजर

असामाजिक तत्वों पर कार्रवाई का निर्देश

औरंगाबाद नगर. रविवार को जिला योजना भवन के सभा कक्ष में सदर अनुमडल पदाधिकारी, संतन कुमार सिंह के नेतृत्व में बकरीद को लेकर अनुमंडलस्तरीय शांति समिति की बैठक की गयी. बैठक में एसडीओ ने सभी जगह से बकरीद पर होने वाले कार्यक्रम, होने वाली समस्या, समाधान, विशेष व अतिरिक्त सतर्कता बरतने सहित कई बिंदुओं पर विचार विमर्श किया. बकरीद पर्व शांतिपूर्ण व सौहाद पूर्ण वातावरण में सम्पन्न हो इसके लिए कई निरोधात्मक कदम उठाये गये है. स्थानीय असामाजिक तत्वों द्वारा जानवरों को बाहर से लाने एवं ले जाने पर उसे रोकने अथवा विवाद पैदा कर सांप्रदायिक तनाव उत्पन्न करने की संभावना हो सकती है. अनचिह्नित क्षेत्रों में पूर्व घटित सांप्रदायिक विवाद की जानकारी प्राप्त कर ली जाये व पहले से पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चत की जाये. चिह्नित क्षेत्रों में ऐसे तत्वों की पहचान कर ली जाये, जिनका पूर्व में सांप्रदायिक सद्भाव बिगाड़ने का इतिहास रहा हो. गोपनीय सूत्रों से यह भी पता किया जाए कि किन असामाजिक तत्वों द्वारा इस पर्व पर सांप्रदायिक सद्भाव बिगाड़ने का प्रयास किया जा रहा है. ऐसे अवसरों पर असामाजिक तत्व मौके का फायदा उठाकर अफवाह फैलाते है, जिससे सामाजिक तनाव बढ़ता है. ऐसे तत्वों पर विशेष निगरानी रखने की आवश्यकता होगी. ऐसे अफवाह फैलाने वाले व्यक्तियों के विरूद्ध कार्रवाई की जाए.अफवाहों पर त्वरित गति से रोकथाम हो. सोशल मीडिया, फेसबुक, वॉट्सएप तथा इंटरनेट पर धार्मिक भावनाओं से संबंधित फोटो, विडियो, चित्र, संवाद, संप्रेषण संबंधित गतिविधियों पर भी पैनी नजर रखी जाये. ध्वनि विस्तारक यंत्र का उपयोग प्रतिनियुक्त दंडाधिकारी इसका शत- प्रतिशत अनुपालन सुनिश्चित करायेंगे. ज्ञातव्य हो कि ध्वनि विस्तारक यंत्र का उपयोग छह बजे से 10 बजे अपराहन तक ही मधुर आवाज में किया जा सकता है.ईद-उल-अजहा (बकरीद) के अवसर पर सांप्रदायिक दृष्टिकोण से औरंगाबाद शहर, रफीगंज, मदनपुर, नवीनगर बाजार पूर्व से ही संवेदनशील है. पूर्व में संपन्न त्योहार के अवसर पर संवेदनशील स्थान के रूप में चिन्हित किये गये है, जिनके अपनी सांप्रदायिक पृष्ठभूमि रही है. इन स्थानों पर पर्व के समय विशेष प्रशासनिक चौकसी वव्यवस्था को सामान्य बनाये रखने की दिशा में सहायक सिद्ध होगी. सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी, अंचल अधिकारी , पुलिस निरीक्षक, थानाध्यक्ष अपने-अपने क्षेत्र के विधि व्यवस्था के लिए पूर्ण रूप से जिम्मेवार होंगे तथा किसी अप्रिय घटना के होने पर अविलंब आवश्यक सुरक्षा आकलन एवं सूचना संग्रहण के आधार पर आवश्यक कार्रवाई करेंगे .बैठक में एसडीपीओ संजय कुमार पांडेय, नप अध्यक्ष उदय कुमार गुप्ता, उपाध्यक्ष मो एहसान सहित कई पदाधिकारी मौजूद थे.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें