26.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

महिलाओं ने सुबह में पहले किया मतदान फिर जाकर किया घर का काम

पीरो प्रखंड में 52 फीसदी हुआ मतदान, लोगों में सुबह में दिखा उत्साह

संवाददाता, पीरो

लोकसभा आम निर्वाचन 2024 के अंतिम चरण के मतदान के सुबह में तो मतदाताओं में काफी उत्साह देखने को मिला, लेकिन दिन चढ़ने के साथ गर्मी के कारण दोपहर में वोटिंग की रफ्तार में कमी नजर आयी. शनिवार को पीरो प्रखंड में करीब 52 फीसदी मतदान होने की खबर है. सुबह सात बजे मतदान शुरू होने के पहले से ही कई मतदान केंद्रों पर मतदाताओं की लंबी कतारें लग गयी थीं. खासकर महिला मतदाता सारे काम घंधे छोड़कर अपने मताधिकार का प्रयोग करने के लिए बूथों पर पहुंच गयी थीं. पीरो नगर के शहीद भवन स्थित मतदान केंद्र संख्या 14 पर सात बजे तक 70-80 महिलाएं कतार में लगी दिखायी दीं. वहीं, प्राथमिक विद्यालय भागलपुर मतदान केंद्र पर महिला व पुरुष दोनों की लंबी कतार दिखाई दी. भागलपुर प्राथमिक विद्यालय मतदान केंद्र पर मतदान करने आए 70 वर्षीय अवकाश प्राप्त शिक्षक मो इमदाद खान ने बताया कि धूप निकलने के बाद घर से बाहर आना मुश्किल हो जायेगा. मतदान करना भी जरूरी है इसलिए सुबह से ही कतार में लग गये हैं. महिला मतदाताओं ने कहा कि पहले वोट डाल लें फिर घर जाकर अपना काम निपटायेंगी. पुष्पा उच्च विद्यालय स्थित मतदान केंद्र संख्या तीन पिंक बूथ था, जहां सभी कर्मी महिलाएं ही थीं. यहां वीवीपैट सेटिंग में परेशानी के कारण मतदान थोड़ा विलंब से शुरू हुआ. यहां भी मतदाता वोटिंग शुरू होने से पहले से ही कतारबद्ध थे मतदान शुरू होने में विलंब होने पर उनमें थोडी नाराजगी थी पर कोई भी मतदाता टस से मस नहीं हुआ. पुष्पा उच्च विद्यालय स्थित एक मतदान केंद्र पर धीमी वोटिंग की शिकायत भी लोगों ने की. हालांकि शिकायत मिलने के बाद मौके पर पहुंचकर प्रशासनिक अधिकारियों ने वहां की व्यवस्था ठीक करायी. प्रखंड के तिलाठ स्थित मतदान केंद्र पर दो पक्षों के बीच नोक-झोंक हुई. नोकझोक के बाद यहां पहुंची पुलिस टीम के साथ भी मामूली झड़प की खबर है. हालांकि इसकी आधिकारिक पुष्टि नही है. बाद में यहां भारी संख्या में पहुंचे सशस्त्र बलों ने स्थिति पर नियंत्रण किया. उर्दू प्राथमिक विद्यालय मिल्की स्थित मतदान केंद्र संख्या 8 पर प्रतिनियुक्त द्वितीय मतदान पदाधिकारी की अचानक तबीयत खराब होने पर तत्काल उसे अस्पताल पहुंचाया गया. बीडीओ पीरो ने उक्त बूथ पर रिजर्व पार्टी से दूसरे कर्मी की प्रतिनियुक्त कर मतदान प्रक्रिया पूरी करायी. यहां लगभग सभी मतदान केंद्रों पर दिव्यांग मतदाताओं के लिए व्हील चेयर की व्यवस्था की गयी थी, लेकिन कई मतदान केंद्रों पर शेड की व्यवस्था नहीं होने से मतदाताओं को परेशानी हुई. वैसे अधिकांश मतदान केंद्रों पर पेयजल, बिजली, शौचालय आदि की व्यवस्था ठीक-ठाक थी। बावजूद इसके कई केन्द्रों पर मतदान कर्मियों को भोजन नहीं मिला जिससे उन्हें पूरे दिन भूखे रहना पड़ा. दिन चढने के साथ जैसे जैसे धूप तेज होती गई मतदाताओं का उत्साह ठंडा पड़ता गया. बारह बजे के बाद ज्यादातर मतदान केंद्रों पर सन्नाटा छा गया. हालांकि एक बजे तक मतदान का आंकडा 30 प्रतिशत से ऊपर पहुंच गया था. शाम चार बजने के बाद फिर से मतदान केंद्रों पर मतदाताओं की कतार दिखने लगी. इस दौरान युवा मतदाताओं के साथ साथ बुजुर्ग मतदाता भी मताधिकार का प्रयोग करने में पीछे नहीं रहे. पीरो नगर स्थित भागलपुर मुहल्ले की 90 वर्षीया हाजरा खातून अपने पोतों के कंधे का सहारा लेकर वोट डालने पहुंची थी तो जमुनीपुर के 80 वर्षीय परशुराम सिंह लाठी टेकते हुए मतदान केंद्र पहुंच गए थे. दिव्यांग व निःशक्त मतदाता भी मताधिकार का प्रयोग करने में पीछे नहीं रहे.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें