सिंधू ने बताया, कैसे विदेशी कोच के सुझाव ने उनके खेल में निखार लाया

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

मुंबई : विश्व चैंपियन पीवी सिंधू ने रविवार को कहा कि भारत की विदेशी बैडमिंटन कोच किम जी ह्युन ने उन्हें खेल में बदलाव करने के जो सुझाव दिए उन पर काम करने से उन्हें काफी मदद मिली.

ओलंपिक रजत पदक विजेता सिंधू ने हाल में बीडब्ल्यूएफ विश्व चैंपियनशिप के फाइनल में जापान की नोजोमी ओकुहारा को हराया. यह पूछने पर कि किम की सलाह का उनके खेल पर क्या असर पड़ा, सिंधू ने कहा, निश्चित तौर पर इसका काफी असर पड़ा क्योंकि वह पिछले कुछ महीनों से हमारे साथ है.

उन्होंने कहा, उनके दिमाग में कुछ बदलाव थे और मुझे लगता है कि इससे काफी मदद मिली. हमने इस पर काम किया, बेशक गोपी सर (मुख्य कोच पुलेला गोपीचंद) के मार्गदर्शन में और यह काफी अच्छा रहा. मेरे कौशल में काफी इजाफा हुआ और अब भी काफी सुधार हो सकता है.

सिंधू को सहारा इंडिया परिवार ने यहां उनकी उपलब्धियों के लिए सम्मानित किया. यह पूछने पर कि क्या 2017 के फाइनल में ओकुहारा के खिलाफ मिली हार उनके दिमाग में थी तो सिंधू ने कहा कि ऐसा नहीं था.

उन्होंने कहा, नहीं मुझे नहीं लगता कि मेरे दिमाग में ऐसा कुछ चल रहा था और साथ ही मैं काफी सकारात्मक थी. यह मेरे लिए नया मैच था. हम उसके बाद भी कुछ मैच खेले और यह मेरे लिए नया मुकाबला था.

सिंधू ने अनुसार उन्हें अधिक आक्रामक होने और तेज दिखाने का फायदा विश्व चैंपियनशिप में मिला. उन्होंने कहा, मैं काफी सतर्क थी और इस टूर्नामेंट (विश्व चैंपियनशिप) के लिए काफी तैयारी की थी. चीन की चेन यूफेई और ओकुहारा के खिलाफ खेलते हुए मैं अधिक आक्रामक थी और तेज मूवमेंट कर रही थी जिसकी जरूरत थी.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें