25.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ अभ्यास मैच में नाकाम रहे सलामी बल्लेबाज रोहित, मैच ड्रॉ

विजयनगरम : एकदिवसीय मैचों में भारतीय टीम के नियमित सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ शुरू होने वाली टेस्ट शृंखला से पहले बोर्ड अध्यक्ष एकादश की तरफ से अभ्यास मैच में शनिवार को यहां ओपनर के तौर पर विफल रहे, लेकिन प्रियांक पांचाल और कोना भरत ने अपने प्रदर्शन से प्रभावित किया. कप्तान […]

विजयनगरम : एकदिवसीय मैचों में भारतीय टीम के नियमित सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ शुरू होने वाली टेस्ट शृंखला से पहले बोर्ड अध्यक्ष एकादश की तरफ से अभ्यास मैच में शनिवार को यहां ओपनर के तौर पर विफल रहे, लेकिन प्रियांक पांचाल और कोना भरत ने अपने प्रदर्शन से प्रभावित किया. कप्तान रोहित के खराब प्रदर्शन के बाद भी बोर्ड एकादश ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मैच के तीसरे तीन खेल खत्म होने से पहले 64 ओवर में आठ विकेट पर 265 रन बनाये.

इसके बाद बारिश से प्रभावित यह तीन दिवसीय मैच ड्रॉ समाप्त घोषित कर दिया गया. इससे पहले दिन की शुरुआत चार विकेट पर 199 रन से करने वाले दक्षिण अफ्रीका ने छह विकेट पर 279 रन पर पारी घोषित कर दी. उसके लिए तेंदा बावुमा ने नाबाद 87 रन की पारी खेली.

मैच के दूसरे दिन सलामी बल्लेबाज ऐडन मार्कराम ने शतक लगाया था. रोहित को दो अक्टूबर से शुरू होने वाली टेस्ट शृंखला के लिए भारतीय टीम में सलामी बल्लेबाज के तौर पर चुना गया है. लेकिन बोर्ड एकादश के लिए पारी की अगाज करने पहुंचे रोहित दो गेंद तक ही क्रीज पर टिक सके.

वर्नोन फिलैंडर की गेंद पर वह स्थानापन्न खिलाड़ी हेनरीच क्लासेन को कैच थमा बैठे. राष्ट्रीय चयन समिति और टीम प्रबंधन ने रोहित के स्ट्रोक्स खेलने की काबिलियत को देखते हुए उन्हें सलामी बल्लेबाज के तौर पर आगे बढ़ाने का फैसला किया है और ऐसे में अगले कुछ टेस्ट इस 32 साल के कलात्मक बल्लेबाज के लिये अहम साबित होंगे.

सफेद गेंद के प्रारूप में आधुनिक समय के महान खिलाड़ियों में से एक रोहित का 27 टेस्ट मैचों में औसत 39.62 का है जिसमें तीन शतक शामिल हैं. टेस्ट उप कप्तान अजिंक्य रहाणे और तेजी से आगे बढ़ रहे हनुमा विहारी ने वेस्टइंडीज में प्रभावशाली प्रदर्शन के बूते मध्यक्रम का अपना स्थान मजबूत किया है जिससे रोहित के लिए बचा हुआ एकमात्र विकल्प शीर्ष स्थान पर बल्लेबाजी करना था.

भारतीय टीम के दूसरे सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल भी बोर्ड एकदश के लिए बड़ी पारी खेलने में नाकाम रहे. उन्होंने अच्छी शुरुआत की लेकिन स्पिनर केशव महाराज गेंद पर फिलैंडर को कैच थमा बैठे.

उन्होंने 92 गेंद में छह चौकों की मदद से 39 रन बनाये. प्रियांक पंचाल ने 60 रन की परी खेलकर भारतीय मध्यक्रम को संभाला, लेकिन उनके आउट होने के बाद राष्ट्रीय टीम में वापसी की कोशिश में लगे करूण नायर (19) भी पवेलियन लौट गये जिससे टीम को 136 रन पर पांचवा झटका लगा.

इसके बाद सिद्देश लाड (नाबाद 52) और कोना भरत (72) की अर्धशतकीय पारियों और दोनों के बीच छठे विकेट के लिए 100 रन साझेदारी के साथ भारत का स्कोर को दक्षिण अफ्रीका के करीब पहुंच पाया.

इस दौरान भरत ज्यादा आक्रामक दिखे जिन्होंने 57 गेंद की पारी में सात चौके और पांच छक्के लगाये. दक्षिण अफीका के महाराज ने तीन और फिलैंडर ने दो विकेट चटकाये. भारत और दक्षिण के बीच तीन टेस्ट मैचों की शृंखला का पहला मैच दो अक्टूबर से विशाखापत्तनम में खेला जाएगा.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें