Advertisement

Company

  • Feb 14 2018 3:24PM
Advertisement

डोनाल्ड ट्रंप ने हार्ले डेविडसन पर हार्इ इंपोर्ट डूयूटी को लेकर भारत पर साधा निशाना

डोनाल्ड ट्रंप ने हार्ले डेविडसन पर हार्इ इंपोर्ट डूयूटी को लेकर भारत पर साधा निशाना

वॉशिंगटन : अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बुधवार को हार्ले डेविडसन मोटरसाइकिल पर उच्च आयात शुल्क को लेकर भारत पर निशाना साधा है. उन्होंने इसे अनुचित करार दिया है. ट्रंप की यह प्रतिक्रिया उस समय आयी है, जब भारत ने हार्ले डेविडसन जैसी महंगे ब्रांड की आयतित मोटरसाइकिलों पर आयात शुल्क को घटाकर 50 फीसदी कर दिया है. यही नहीं, ट्रंप ने भारतीय मोटरसाइकिलों पर आयात शुल्क बढ़ाने की भी धमकी दी. इस्पात उद्योग पर कांग्रेस के सदस्यों के साथ चर्चा के दौरान ट्ंरप ने यह बात कही.

इसे भी पढ़ेंः अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने कहा, भारत जैसे देश के साथ काम करना अच्छी बात

ट्रंप ने कहा कि भारत सरकार ने हाल में आयातित मोटरसाइकिलों पर शुल्क 75 फीसदी से घटाकर 50 फीसदी कर दिया है, जो कि काफी नहीं है. उन्होंने इसे परस्पर अनुवर्ती बनाने के लिए कहा है, क्योंकि अमेरिका में मोटरसाइकिल आयात पर शून्य कर लगता है. अमेरिकी राष्ट्रपति ने अप्रत्यक्ष रूप से इस संबंध में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ हुई हालिया बातचीत का भी उल्लेख किया.

ट्रंप ने मोदी के साथ पिछले हफ्तों हुर्इ बातचीत के संदर्भ में कहा कि भारत से एक महान सज्जन ने मुझे फोन किया. उन्होंने कहा कि हमने मोटरसाइकिलों पर शुल्क को 75 फीसदी और यहां तक कि 100 फीसदी से घटाकर 50 प्रतिशत कर दिया है. ट्रंप ने एक बार फिर से "परस्पर अनुवर्ती कर" की वकालत करते हुए देशों पर अमेरिका के साथ व्यापारिक संबंधों का दुरुपयोग करने का आरोप लगाया है.

उन्होंने कहा कि इसलिए मैं कहता हूं कि इस तरह के मामलों में परस्पर अनुवर्ती कर होना चाहिए. मैं भारत को दोष नहीं दे रहा हूं. मुझे लगता है कि उन्हें इसके साथ जाना चाहिए. मुझे नहीं पता क्यों लोग उन्हें इससे (परस्पर अनुवर्ती कर) दूर रहते हैं, लेकिन यह एक उदाहरण है जो कि अनुचित है. मेरा मानना है कि परस्पर अनुवर्ती कर होना चाहिए.

उल्लेखनीय है कि हार्ले डेविडसन आैर ट्रायंफ जैसी महंगे ब्रांड की आयातित मोटरसाइकिलें आयात शुल्क कम होने के बाद भारत में सस्ती होने जा रही हैं. अब तक 800 सीसी या इससे कम इंजन क्षमता वाली मोटरसाइकिल के आयात पर 60 फीसदी शुल्क लगता था. वहीं, 800 सीसी व इससे अधिक इंजन क्षमता वाले इंजन पर 75 फीसदी शुल्क लगता है.

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement