calcutta

  • Mar 6 2019 10:10AM
Advertisement

मतुआ समाज की बड़ो मां बीणापाणि देवी नहीं रहीं, राजकीय सम्मान के साथ होगा अंतिम संस्कार, पीएम व सीएम ने शोक जताया

मतुआ समाज की बड़ो मां बीणापाणि देवी नहीं रहीं, राजकीय सम्मान के साथ होगा अंतिम संस्कार, पीएम व सीएम ने शोक जताया

कोलकाता : मतुअा समाज की बड़ो मां बीणापाणि देवी (101) का मंगलवार की रात को कोलकाता के एसएसकेएम (पीजी) अस्पताल में निधन हो गया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने उनके निधन पर शोक व्यक्त किया है. दोनों ने इसे व्यक्तिगत क्षति बताया है. बुधवार को ठाकुरबाड़ी में राजकीय सम्मान के साथ बीणापाणि देवी का अंतिम संस्कार संपन्न होगा.

इसे भी पढ़ें : खड़ी हाइवा को दूसरी हाइवा ने मारी टक्कर, ड्राइवर की मौत

अंतिम संस्कार का निश्चित समय नहीं बताया गया है, लेकिन कहा गया है कि बड़ो मां का शव एसएसकेएम अस्पताल से ठाकुरनगर ले जाया जायेगा. जसोर रोड से ठाकुरनगर तक शांति यात्रा निकाली जायेगी. वहां पूजा-पाठ का आयोजन किया गया है. पूजा-पाठ के बाद राजकीय सम्मान के साथ उनकी अंत्येष्टि होगी.

बड़ो मां पिछले कुछ दिनों से बीमार चल रही थीं. गुरुवार को फेफड़े में संक्रमण की शिकायत पर उन्हें कल्याणी के जवाहरलाल नेहरू मेमोरियल मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था. उनकी बिगड़ती सेहत को देखते हुए डॉक्टरों ने उन्हें पीजी रेफर कर दिया. रविवार को उन्हें यहां लाया गया.

बड़ो मां के इलाज के लिए सात सदस्यीय मेडिकल बोर्ड का गठन किया गया था. वह आइसीयू में भर्ती थीं. मंगलवार सुबह 5 बजे उन्हें वेंटिलेशन पर शिफ्ट कर दिया गया. इसके बाद भी उनकी सेहत में कोई सुधार नहीं हुआ और मंगलवार रात के 8:52 बजे उन्होंने अंतिम सांस ली. उनके निधन से मतुअा समाज में शोक की लहर है.

इसे भी पढ़ें : बलात्कार के बाद महिला को जिंदा जलाने की कोशिश में खुद जला बलात्कारी

उधर, मौत की खबर पाकर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी दोबारा पीजी पहुंचीं. उन्होंने खुद मीडिया को बड़ो मां के निधन की खबर दी. मौके पर उपस्थित पीजी के अधीक्षक प्रो डॉ रघुनाथ मिश्र ने बताया कि बीणापाणि देवी की हालत मंगलवार को अधिक बिगड़ गयी थी. निमोनिया बढ़ता जा रहा था. उम्र अधिक होने के कारण दवाएं भी असर नहीं कर रही थीं.

बड़ो मां के निधन की खबर सुनकर राज्य के खाद्य मंत्री ज्योतिप्रिय मल्लिक तथा पूर्व खेल मंत्री मदन मित्रा भी अस्पताल पहुंचे. बड़ी मां की छोटी बहू ममता बाला ठाकुर पहले से अस्पताल में मौजूद थीं.

मुख्यमंत्री ने अस्पताल में ही घोषणा की कि बड़ी मां के शव को सुबह आठ बजे कोलकाता से उत्तर 24 परगना के ठाकुरनगर के लिए रवाना किया जायेगा. कोलकाता पुलिस की पायलट कार बड़ो मां के वाहन के साथ जायेगी.

आठ बार अस्पताल में भर्ती हुईं बड़ी मां

सीएम ने कहा कि बड़ो मां इससे पहले पीजी व बेलव्यू क्लिनिक में आठ बार भर्ती हो चुकी थीं. इस बार वह घर नहीं लौट सकीं. मैंने अपने राजनीतिक जीवन में उनसे काफी प्रेरणा ली. उन्हें बंगविभूषण प्रदान हम गर्व महसूस कर रहे हैं. शोक की इस घड़ी में बड़ो मां के परिवार एवं मतुआ संप्रदाय के भाई-बहनों के प्रति गंभीर संवेदना ममता बनर्जी ने जतायी.

इन रास्तों होकर गुजरेगी अंतिम यात्रा

अस्पताल सूत्रों के अनुसार, पीजी से शव को जेसोर रोड, वीआईपी, बारासात, अशोक नगर, हाबड़ा होते हुए ठाकुरनगर ले जायेगा जायेगा. वहां शव को उनके अनुयायियों के अंतिम दर्शन के लिए रखा जायेगा.

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement