1. home Hindi News
  2. national
  3. terrorists will get a befitting reply as soon as they set foot in delhi delhi police did mock drill at three places watch video vwt

दिल्ली में पैर धरते ही आतंकियों के उखड़ जाएंगे कदम, दिल्ली पुलिस ने तीन जगहों पर किया मॉक ड्रिल, देखिए VIDEO

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
आतंकियों से मुकाबला.
आतंकियों से मुकाबला.
फोटो : ट्विटर.

नई दिल्ली : देश की राजधानी दिल्ली में आतंकवादियों का मुकाबला करने के लिए दिल्ली पूरी तरह से मुस्तैद है. शनिवार को आतंकियों का डटकर मुकाबला करने के लिए राजधानी के तीन क्षेत्रों में मॉक ड्रिल किया गया. समाचार एजेंसी एएनआई की ओर से दी गई खबर के अनुसार, शनिवार को दिल्ली पुलिस के जवानों ने आईटीओ, वसंत कुंज और द्वारका इलाके में मॉक ड्रिल किया. इसमें दिल्ली पुलिस के जवानों के अलावा नेशनल सिक्योरिटी गार्ड (एनएसजी) के जवानों ने हिस्सा लिया.

दिल्ली पुलिस की ओर से जारी किए गए बयान के अनुसार, राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में आतंकवादी रोधी अभियान के तहत यह मॉक ड्रिल किया गया. यह मॉक ड्रिल शनिवार को दोपहर बाद करीब 4 बजे आयोजित किया गया. बयान में कहा गया है कि यह मॉक ड्रिल एक मानक प्रक्रिया है, जिसमें संस्थागत व्यवस्था की दक्षता, प्रभाव और अंतर एजेंसी समन्वय की जांच विभिन्न परिस्थितियों में की जाती है. दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने इस मॉक ड्रिल के विभिन्न एजेंसियों के साथ तालमेल स्थापित किया, जो दिल्ली पुलिस की नोडल आंतकवादी रोधी एजेंसी है.

बयान के अनुसार, आईटीओ स्थित दिल्ली पुलिस के पुराने मुख्यालय के निकास द्वारा पर छद्म आतंकवादियों के वाहन के आने के साथ ही इसकी शुरुआत की गई. सुरक्षा बलों के साथ संक्षिप्त संघर्ष के बाद छद्म आतंकवादियों का समूह इमारत में दाखिल होने में कामयाब रहा और बंदूक की नोक पर कुछ लोगों को बंधक बना लिया. वहीं, दूसरा समूह कार से निकलकर घटनास्थल से ओझल हो गया. इसी प्रकार दूसरे हमले का दृश्य वसंत कुंज के नेल्सन मंडेला रोड स्थित एम्बियंस मॉल में रचा गया, जहां पर छद्म आतंकवादियों ने मुख्य द्वार पर इम्प्रोवाइस्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस (आईईडी) लगाने के बाद अंधाधुंध गोलीबारी कर फरार हो गए.

बयान के अनुसार, मॉक ड्रिल का तीसरा स्थान द्वारका सेक्टर 21 मेट्रो स्टेशन रहा, जहां पर मुख्य द्वारा पर विस्फोटक लगाने और छद्म आतंकवादियों द्वारा प्लेटफार्म पर खड़ी मेट्रो ट्रेन को हाईजैक करने की सूचना मिली. बयान के अनुसार, सभी तीनों स्थानों पर स्थानीय पुलिस, यातायात पुलिस, पीसीआर, स्वाट और प्रशासन की एजेंसिया और स्वास्थ्य विभाग केंद्रीय पुलिस नियंत्रण कक्ष के निर्देश पर पहुंचे. इस दौरान घटना कमान चौकी स्थापित की गई और रक्षात्मक तरीके से लोगों को निकालने का अभ्यास किया गया.

बयान में बताया कि पूर्वाभ्यास के तहत स्वाट, स्पेशल सेल और मेट्रो रेल को सुरक्षा प्रदान कर रहे सीआईएसएफ ने आंतरिक तलाशी और आंतकवाद रोधी अभियान को अंजाम दिया. हालांकि, पूरे मॉक ड्रिल के दौरान कोई अप्रिय घटना या अवांछित भय का माहौल नहीं देखा गया.

Posted by : Vishwat Sen

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें