1. home Hindi News
  2. national
  3. teachers principals from cbse affiliated schools awarded by union education minister ramesh pokhriyal nishank suy

केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल द्वारा सम्मानित हुए सीबीएसई के 38 शिक्षक

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल 'निशंक'
केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल 'निशंक'

केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ’द्वारा स्कूली शिक्षा में योगदान के लिए बुधवार को सीबीएसई से संबद्ध स्कूलों के 38 शिक्षकों और प्राचार्यों को सम्मानित किया गया. सीबीएसई अधिकारियों के अनुसार, स्कूली शिक्षा, नवाचार और समर्पण में सुधार के लिए उनके बहुमूल्य योगदान के लिए शिक्षकों और प्राचार्यों के सम्मान में वर्ष 2019-20 के लिए पुरस्कार प्रदान किए गए.

ये पुरस्कार शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल 'निशंक' शिक्षा राज्य मंत्री संजय धोत्रे, अनीता करवल, सचिव (विद्यालय शिक्षा एवं साक्षरता), मनोज आहूजा, अध्यक्ष, सीबीएसई और अनुराग त्रिपाठी, सचिव, सीबीएसई की उपस्थिति में प्रदान किए गए.

यह कार्यक्रम देखने के लिए शिक्षा मंत्रालय, एनवीएस, केवीएस, सीबीएसई के कई अन्य विशिष्ट अतिथिगण और सभी कोनों से प्रधानाचार्य, शिक्षकगण, विद्यार्थी, अभिभावक और परिवार ऑनलाइन शामिल हुए.

इन 38 शिक्षकों में 27 महिला शिक्षक है जबकि शेष 11 पुरुष शिक्षक है. पुरुषों में तीन विदेशों के भारतीय शिक्षक हैं जिनमे दो मस्कट में भारतीय स्कूल में पढ़ाने वाले शिक्षक हैं. उनके नाम हैं, वेंकटेशन कार्तिकायन और ऐ गोंजाल्विस। इसके अलावा मास्को में भारतीय स्कूल में पढ़ाने वाले भी एक शिक्षक श्रीजीत के वी हैं.

इन पुरस्कृत शिक्षकों में 11 दिल्ली के शिक्षक हैं जबकि उत्तरप्रदेश के पांच शिक्षक हैं जिनमे दो नोएडा के और गाज़ियाबाद, मेरठ और लखनऊ से एक-एक शिक्षक हैं. चंडीगढ़ , गुरुग्राम तमिलनाडु और मध्यप्रदेश के तीन-तीन शिक्षक शामिल हैं. उड़ीसा से दो तथा राजस्थान, बिहार, तेलंगाना और बंगाल से एक-एक शिक्षक शामिल हैं.

पुरस्कार में शिक्षकों और प्रधानाचार्यों को प्रशस्ति पत्र, शॉल और 50 हजार रुपये की धनराशि मिली है. बोर्ड के अधिकारियों के मुताबिक पुरस्कार के लिए चयनित विजेताओं में प्राइमरी और मिडिल स्तर के भाषा, विज्ञान, सामाजिक विज्ञान, शारीरिक शिक्षा, गणित, अर्थशास्त्र, सूचना प्रौद्योगिकी और ललित कला विषय के शिक्षक, स्कूल काउंसलर, उप-प्रधानाचार्य और प्रधानाचार्य शामिल हैं.

साल 2018 से सीबीएसई की तरफ से चयन की एक ऑनलाइन चयन प्रक्रिया अपनाई जाती है. आवेदकों का मूल्यांकन प्रत्येक श्रेणी के अंतर्गत सामान्य और विशिष्ट मानदंडों के साथ-साथ स्कूली शिक्षा से संबंधित कई मापदंडों और उनके योगदान के आधार पर किया जाता है.

यह कार्यक्रम देखने के लिए शिक्षा मंत्रालय, एनवीएस, केवीएस, सीबीएसई के कई अन्य विशिष्ट अतिथिगण और सभी कोनों से प्रधानाचार्य, शिक्षकगण, विद्यार्थी, अभिभावक और परिवार ऑनलाइन शामिल हुए.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें