1. home Hindi News
  2. national
  3. nia filed charge sheet against 17 accused involved in isis activities in india

भारत में ISIS की गतिविधियों में लगे 17 आरोपियों के खिलाफ NIA ने दायर की चार्जशीट

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
NIA
NIA
File Photo

पिछले सप्ताह एनआईए ने मेहबूब पासा सहित 6 आतंकियों के खिलाफ चार्जशीट दायर की थी. 10 जुलाई को तमिलनाडु के कन्याकुमारी जिले में हिंसक जिहाद के तहत एक पुलिस अधिकारी की हत्या में शामिल रहने के आरोप में अब्दुल शमीम (30), वाई तौफीक (27), खाजा मोहिदीन (53), जाफर अली (26), महबूब पाशा (48) और इजास पाशा (46) के खिलाफ चार्जशीट दायर किये गये थे.

इनमें शमीम और तौफीक कन्याकुमारी के निवासी हैं जबकि मोहिदीन और अली तमिलनाडु के कुड्डालोर जिले के हैं. वहीं, महबूब पाशा और इजास पाशा बेंगलुरु के हैं. एक एनआईए प्रवक्ता ने बताया कि उन लोगों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता, गैरकानूनी गतिविधियां (रोकथाम) कानून और हथियार कानून की संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है.

उन्होंने कहा कि आरोपपत्र चेन्नई में एक विशेष एनआईए अदालत के समक्ष दायर किया गया है. अधिकारी ने कहा कि विशेष उप-निरीक्षक (एसएसआई) विल्सन की शमीम और तौफीक ने आठ जनवरी को गोली और चाकू मारकर हत्या कर दी थी. उस समय विल्सन ड्यूटी पर थे. एनआईए अधिकारी ने बताया कि 15 जनवरी को हमलावरों की गिरफ्तारी के बाद यह पता चला कि उन्होंने पुलिस सहित लोगों के मन में आतंक पैदा करने के इरादे से इस अपराध को अंजाम दिया था और यह हिंसक जिहाद का हिस्सा था.

एनआईए ने एक फरवरी को यह मामला तमिलनाडु पुलिस से अपने हाथ में ले लिया. जांच के दौरान बड़ी साजिश में मोहिदीन, महबूब, इजास और जाफर की भूमिकाओं का खुलासा हुआ. उन्होंने बताया कि आईएसआईएस आतंकी समूह के सदस्य मोहिदीन ने मई 2019 से शमीम और तौफीक को जिहादी (हिंसक चरमपंथी) विचारधारा की ओर आकर्षित किया तथा उन्हें तमिलनाडु में विशेषकर पुलिस के खिलाफ हमले करने के लिए अपने आतंकवादी गिरोह में भर्ती कर लिया था.

उन्होंने कहा कि अक्टूबर 2019 में, मोहिदीन ने महबूब, इजास और जाफर को अवैध हथियारों की खरीद करने का निर्देश दिया. जांच एजेंसी के अधिकारी के अनुसार, जनवरी के शुरू में तमिलनाडु पुलिस ने महबूब के साथियों को बेंगलुरु में गिरफ्तार किया और अन्य की खोज शुरू की. तब मोहिदीन ने शमीम और तौफीक को कन्याकुमारी जिले में अंतरराज्यीय सीमा पर जांच चौकी में तमिलनाडु पुलिस पर हमला करने का निर्देश दिया.

हमलावर आठ जनवरी को कलियक्काविलई पहुंचे और ड्यूटी पर तैनात एसएसआई विल्सन पर हमला कर दिया. एनआईए के अधिकारी ने बताया कि वारदात के बाद हमलावर केरल भाग गये और हथियारों को छिपा दिया. फिर वे अपनी पहचान छिपा कर कोझीकोड गये और वहां से महाराष्ट्र गये. वहां से वे लोग कर्नाटक के उडुपी आए, जहां 15 जनवरी को उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया.

Posted By: Amlesh Nandan Sinha.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें