1. home Hindi News
  2. national
  3. navjot singh sidhu will have to prove his importance in punjab old leaders are doing factionalism against him pkj

Punjab Congress Controversy : सिद्धू को सिद्ध करनी होगी अहमियत, पुराने नेता उनके खिलाफ कर रहे हैं गुटबाजी

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
punjab congress controversy
punjab congress controversy
file

पंजाब कांग्रेस में चल रहा संकट अबतक खत्म नहीं हुआ है. नवजोत सिंह सिद्धू और कैप्टर अमरिंदर सिंह के बीच जारी विवाद अब और बढ़ गया है. कांग्रेस की दिल्ली में हुई लंबी बैठक, मुलाकातों के दौर से भी कांग्रेस कोई हल नहीं निकाल सकी है. अगले साल पंजाब में विधानसभा चुनाव है ऐसे में कांग्रेस में हो रही फूट, बगावाट पार्टी को बड़ा नुकसान पहुंचा सकती है.

नवजोत सिंह सिद्धू के विरोध में रहने वाले लोग अब कैप्टन के नजदीक आने लगे हैं. इन विधायकों का मानना है कि नवजोत सिंह सिद्धू को जरूरत से ज्यादा तरजीह दी गयी. कैप्टन अमरिंदर सिंह, प्रताप सिंह बाजवा के साथ- साथ कई वरिष्ठ नेताओं की यही शिकायत है.

कांग्रेस के इन वरिष्ठ और पुराने नेताओं का मानना है कि उन्होंने यहा पार्टी को मजबूत करने के लिए खूब काम किया है और अब कांग्रेस सिद्धू को महत्व दे रही है. सिद्धू के खिलाफ एक अलग बागी गुट तैयार हो रहा है जिसमें बावजा, कैप्टन सहित कई वरिष्ठ कांग्रेस के नेता विधायक तैयार हैं. इस समूह में कई लोग हैं जो यह मानते हैं कि नवजोत सिंह सिद्धू को पार्टी ने ज्यादा महत्व दिया है जिस वजह से यह परेशानी हुई है.

सिद्धू के खिलाफ पुराने नेताओं ने एक गठबंधन बना लिया है जो पूरी कोशिश करेगा कि सिद्धू को पार्टी में कोई बड़ी जिम्मेदारी ना मिले इनका मानना है कि जिन लोगों ने पंजाब में पार्टी को खड़ा किया, पार्टी के लिए लंबे समय से काम कर रहे हैं उन्हें अब महत्वपूर्ण जिम्मेदारियां मिलनी चाहिए.

ध्यान रहे कि हाल में ही पंजाब के कई बड़े नेताओं को दिल्ली बुलाया गया था. पार्टी इस मंथन के जरिये कोई रास्ता निकालना चाहती थी. इसमें पार्टी के सभी वरिष्ठ नेता थे सिद्धू, बाजवा, कैप्टन अमरिंदर सिंह सहित कई नेता थे. पार्टी ने पंजाब में चल रहे घमासान को शांत करने की पूरी कोशिश की लेकिन इस लंबी चौड़ी बैठक और कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं की कमेटी भी इस विवाद को खत्म नहीं कर सकी.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें