1. home Hindi News
  2. national
  3. maharashtra kovid 19 hotspot area case filed against 32 people bus service

महाराष्ट्र में COVID-19 हॉटस्पॉट इलाके में 32 लोगों पर मामला दर्ज, 22 मई से बहाल होंगी बस सेवा

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
धारावी
धारावी
फाइल फोटो

औरंगाबाद : देशभर में महाराष्ट्र एक ऐसा राज्य है जहां कोरोना संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले हैं. महाराष्ट्र में अंतर-जिला एसटी बस सेवा 22 मई से बहाल होंगी लेकिन इसमें कुछ शर्तें शामिल हैं और कोविड-19 रेड जोन तथा निरूद्ध क्षेत्रों को इससे बाहर रखा गया है.

दूसरी तरफ महाराष्ट्र के औरंगाबाद शहर में एक कोविड-19 निरूद्ध क्षेत्र में सड़कों पर घूमते पाए जाने के बाद गुरुवार को 32 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया. अधिकारियों ने यह जानकारी दी. उन्होंने कहा कि ये लोग पुंडलिक नगर इलाके में घूमते पाए गए, जहां से अब तक कोविड-19 के 44 मामले समने आ चुके हैं.

पुलिस निरीक्षक घनश्याम सोनवणे ने कहा, ‘‘वे बिना किसी वैध कारण के निरूद्ध क्षेत्र में सड़कों पर घूमते पाए गए. उनके खिलाफ भारतीयं दंड संहिता की धारा 188 (लोक सेवक के विधिवत आदेश की अवज्ञा) के तहत मामला दर्ज किया गया है.'' डिप्टी कलेक्टर और इस क्षेत्र के निगरानी प्रभारी, सोहम वायल ने कहा, ‘‘पुंडलिक नगर एक घनी आबादी वाला क्षेत्र है, जो एक कोविड-19 हॉटस्पॉट के रूप में उभरा है. अब तक, 44 कोरोना पॉजिटिव मरीज़ वहां पाए गए हैं.

धारावी और मुंबई के कुछ इलाकों में सीआरपीएफ तैनात

धारावी और मुंबई के कुछ अन्य इलाकों में बृहस्पतिवार को केंद्रीय पुलिस सशस्त्र पुलिस बल (सीएपीएफ) के जवानों को तैनात कर दिया गया ताकि कोरोना वायरस पर काबू के लिए लॉकडाउन लागू करने में नगर पुलिस को मदद मिल सके. एक अधिकारी ने यह जानकारी दी. एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि धारावी में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) की एक कंपनी को स्थानीय पुलिस के साथ तैनात किया गया है.

इससे पहले बुधवार की रात केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल के जवानों ने सख्त लॉकडाउन लागू करने के लिए दक्षिण मुंबई के भेंडी बाजार में फ्लैग मार्च किया. अधिकारी ने बताया कि बृहस्पतिवार को सीआरपीएफ कर्मियों ने धारावी में पुलिस अधिकारियों से मुलाकात की और क्षेत्र में तैनाती की योजना पर चर्चा की.

धारावी कोविड-19 से काफी प्रभावित (हॉटस्पॉट) क्षेत्रों में से एक है . इससे पहले महाराष्ट्र सरकार ने कहा था कि उसने केंद्रीय बलों की मांग की है ताकि थक चुके पुलिस बल को थोड़ा आराम मिल सके. मुंबई में 700 से अधिक पुलिसकर्मी कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं. उनमें से दस की मौत हो चुकी है. केंद्रीय बल कानून व्यवस्था बनाए रखने और लॉकडाउन के दौरान किसी अप्रिय घटना को रोकने में मुंबई पुलिस की सहायता करेंगे.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें