1. home Hindi News
  2. national
  3. jee main 2020 news latest update jee main off to glitch free start first day amid stringent safety measures neet jee exam upl

JEE Main 2020: जेईई मेंस के पहले दिन नहीं हुई कोई परेशानी, आज परीक्षा के लिए बैठेंगे ज्यादा छात्र

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
 देश भर में 500 से ज्यादा सेंटर बनाए गए थे
देश भर में 500 से ज्यादा सेंटर बनाए गए थे
Prabhat khabar

JEE Main 2020, NEET JEE exam, National Testing Agency: तमाम विरोधों और विवादों के बाद इंजीनियरिंग कॉलेजों में दाखिले के लिये संयुक्त प्रवेश परीक्षा जेईई मेंस परीक्षा मंगलवार से शुरू हो गयी है. एनटीए द्वारा आयोजित परीक्षा में कोविड-19 महामारी के मद्देनजर सामाजिक दूरी और कठोर ऐहतियाती कदम उठाए गए. देश भर में 500 से ज्यादा सेंटर बनाए गए थे लेकिन कहीं से भी किसी परेशानी या तकनीकी दिक्कत की बात सामने नहीं आई.

देशभर में विभिन्न परीक्षा केंद्रों में अलग-अलग प्रवेश एवं निकास द्वारों पर सेनिटाइजर की व्यवस्था तथा कतारों में उम्मीदवारों को सामाजिक दूरी बनाये रखते हुए मास्क का वितरण जैसे प्रबंध आमतौर पर देखने को मिले. प्रत्येक छात्रों की थर्मल स्क्रीनिंग परीक्षा केंद्रों के प्रवेश द्वार पर की गई थी, छात्रों के एडमिट कार्ड का सत्यापन बारकोड पाठकों के माध्यम से किया गया था, बजाय ऐसा करने के. परीक्षा केंद्रों के प्रवेश द्वार पर और परीक्षा हॉल के अंदर भी हैंड सैनिटाइटर उपलब्ध कराए गए थे.

मंगलवार को परीक्षा देने वाले छात्रों के मुताबिक, वे शुरू में महामारी के बीच परीक्षा लेने को लेकर आशंकित थे, लेकिन केंद्रों पर उन्हें किसी तरह की दिक्कत का सामना नहीं करना पड़ा क्योंकि सभी सुरक्षा मानदंडों का ठीक से पालन किया गया था. कोविड-19 के कारण जेईई (मुख्य) प्रवेश परीक्षा इससे पहले दो बार टाली जा चुकी हैं और अब ये एक से छह सितंबर के बीच निर्धारित हैं.

करीब नौ लाख उम्मीदवारों ने आईआईटी, एनआईटी और केंद्र पोषित तकनीकी संस्थानों में इंजीनियरिंग कोर्स में दाखिले के लिये जेईई मेंस के लिए पंजीकरण कराया है. प्रवेश परीक्षा दो पालियों में आयोजित की गई थी. प्रत्येक पारी की शुरुआत से पहले और बाद में, सभी सीटों को पूरी तरह से साफ कर दिया गया था. कार्य स्टेशनों और कीबोर्ड को हटा दिया गया था.

मंगलवार को दो सत्र में B/Arch और B planning (पेपर 2) के अभ्यर्थी परीक्षा में बैठे. इसके लिए 53,500 छात्रों ने पंजीकरण कराया था. एग्जाम सेंटर से लेकर सीट पर बठने तक का व्यवस्था कॉन्टेक्ट लेस था. बुधवार को BE/BTech (पेपर 1) की परीक्षा होगी जिसके लिए आठ सत्रों में होगी. शिक्षा विभाग के उच्च शिक्षा सचिव अमित खरे ने कहा कि जेईई परीक्षा सुचारू रूप से आयोजित की गई थी. उन्होंने कहा कि मैं परीक्षा के सुचारू संचालन के लिए सभी राज्य सरकारों और एनटीए के अधिकारियों को धन्यवाद देना चाहूंगा."

राज्य सरकारों, रेलवे का सहयोग

ओडिशा, मध्य प्रदेश, उत्तराखंड, राजस्थान और छत्तीसगढ़ सहित कई राज्य सरकारों ने छात्रों के लिए मुफ्त परिवहन सुविधा की व्यवस्था की. ओडिशा सरकार ने शुक्रवार को जेईई और एनईईटी दोनों उम्मीदवारों के लिए मुफ्त परिवहन और आवास सुविधा की घोषणा की थी. पश्चिम रेलवे ने घोषणा की कि वह जेईई उम्मीदवारों की सुविधा के लिए 1 सितंबर से 6 सितंबर, 2020 तक मुंबई में 46 अतिरिक्त विशेष उपनगरीय सेवाएं चलाएगा. बिहार में भी राज्य सरकार के आग्रह पर पूर्व मध्य रेलवे ने दो से 15 सितंबर तक 15 जोड़ी पैसेंजर ट्रेन चलाने का ऐलान किया है.

बता दें कि कि संयुक्त प्रवेश परीक्षा (जेईई) की मुख्य परीक्षा इस बार एक नहीं, बल्कि छह दिनों में होनी है. बदली परिस्थितियों को देखते हुए सरकार ने इस परीक्षा को लगातार छह दिनों तक पालियों में करवाने का निर्णय लिया.

Posted By: Utpal kant

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें