1. home Hindi News
  2. national
  3. hathras gangrape case village of victim sealed no one is permitted to enter in the village converted to police caontonment hindi news pwn

Hathras case: पीड़िता का गांव सील, किसी को आने-जाने की इजाजत नहीं, पुलिस छावनी में तब्दील हुआ गांव

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
Hathras case: पीड़िता का गांव सील, किसी को आने-जाने की इजाजत नहीं, पुलिस का सख्त पहरा
Hathras case: पीड़िता का गांव सील, किसी को आने-जाने की इजाजत नहीं, पुलिस का सख्त पहरा
Twitter

उत्तरप्रदेश के हाथरस में गैंगरेप की घटना के बाद बढ़ते राजनीतिक बवाल को देखते हुए पीड़िता के गांव को सील कर दिया गया है. तनाव को देखते हुए हाथरस को पुलिस छावनी के रूप में तब्दील कर दिया गया है. गांव में पुलिसकर्मियों की तैनाती बढ़ा दी गयी है. पीड़ित परिवार से मिलने के लिए लगातार विपक्षी नेताओं का दौरा गांव में हो रहा है इसे देखते हुए पूरा हाथरस में धारा 144 लगा दी गयी है. अलीगढ़ रेंज के आईजी पीयूष मोर्दियाने बताया कि हाथरस में लॉ एंड ऑर्डर की स्थिति को देखते हुए धारा 144 लागू की गई है. पीड़िता के गांव तक पहुंचने वाले हर रास्ते को सील कर दिया गया है.

बता दें कि इससे पहले हाथरस जाने के क्रम में हुए हंगामे के बाद राहुल गांधी और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी पर नोएडा पुलिस ने एफआइआर दर्ज किया है. कांग्रेस का आरोप है कि दोनों नेताओं को गिरफ्तार किया गया और पुलिस ने लाठियां चलायीं. इस बीच, कांग्रेस ने कुछ तस्वीरें जारी कर दावा किया है कि पुलिस ने राहुल के साथ धक्का-मुक्की भी की, जिस कारण वे जमीन पर गिर गये.

इस मामले पर शिवसेना के संजय राउत ने कहा कि राहुल गांधी से जिस तरह से बर्ताव किया है वहां कि पुलिस ने उसका समर्थन इस देश में कोई नहीं कर सकता है. राहुल गांधी इंदिरा गांधी के पोते हैं यह हमें भूलना नहीं चाहिए. राहुल गांधी राजीव गांधी के बेटे भी हैं. इन सभी लोगों ने देश के लिए अपनी शहादत भी दी है.

वहीं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हाथरस की घटना बहुत दर्दनाक है और पीड़ित परिवार के साथ सरकार का आचरण ठीक नहीं है. हम लोकतंत्र में रह रहे हैं और सत्ता में बैठे लोगों को यह नहीं भूलना चाहिए कि वे इस देश के मालिक नहीं बल्कि 'सेवक' हैं.

राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी की नेता सुप्रिया सुले ने कहा कि यूपी में दो दिनों में तीन बलात्कार के मामले सामने आए. राज्य के गृह मंत्री और मुख्यमंत्री ने कुछ भी नहीं कहा है. मैं पीएम से अनुरोध करता हूं कि इसकी विस्तृत जांच होनी चाहिए. अगर योगी सरकार राज्य में महिला सुरक्षा के लिए काम नहीं कर पा रही है, तो उन्हें इस्तीफा दे देना चाहिए.

Posted By : Pawan Singh

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें