1. home Hindi News
  2. national
  3. fact check viral news on social media about the vaccine of covid 19 is wrong health minister of india dr harsh vardhan told the truth rjh

डॉ हर्षवर्धन ने कहा, त्योहारों के दौरान भीड़ लगाना अनुचित, आज सबसे बड़ा धर्म कोविड से जंग

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
 Dr Harsh Vardhan
Dr Harsh Vardhan
Photo : Twitter

नयी दिल्ली : स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने आज कहा कि अपने धर्म के प्रति विश्वास दिखाने के लिए कोविड 19 के दौर में बड़ी संख्या में एक जगह जमा होना या भीड़ लगाना बिलकुल भी उचित नहीं है, त्योहारों के दौरान अगर हमने ऐसा किया तो हम बड़ी परेशानी में आ सकते हैं. आज हमारा सबसे बड़ा धर्म है कोविड 19 के खिलाफ लड़ाई लड़ना.

मेरा आप सबसे यह आग्रह है कि ध्यान दें और सोशल मीडिया में चल रहे ऐसे ‘फेक न्यूज’ से बचें. कोविड 19 के वैक्सीन को लेकर फेक न्यूज चल रहा है, जिसमें यह दावा किया जा रहा है कि वैक्सीन देने में युवा और वृद्ध के साथ भेदभाव किया जा सकता है. इसमें कोई सच्चाई नहीं है इसलिए आपसब सतर्क रहें. हम सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म की नियमित जांच करते हैं,आप सबका भी यह कर्तव्य है कि ऐसे फेक न्यूज के बारे में शिकायत करें.

देश में कोविड 19 का वैक्सीन पहले, दूसरे और तीसरे चरण के ट्रायल में है, इसके परिणाम की हम प्रतीक्षा कर रहे हैं. कोविड 19 से लड़ाई में केंद्र सरकार ने 3,000 करोड़ का फंड रिलीज किया है. कई राज्यों में इसका प्रयोग हो रहा है. कोविड 19 से लड़ाई में हम अपने हेल्थ वर्कर की बहुत चिंता करते हैं. इस लड़ाई में हर किसी को जिम्मेदार बनने की जरूरत है. स्वास्थ्य से संबंधित किसी भी सूचना को सोशल मीडिया में शेयर करने से पहले उसकी सत्यता की जांच कर लें या फिर किसी विश्वसनीय स्रोत से ही लिंक शेयर करें.

कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में हम सफल रहे हैं. हमने इस लड़ाई को काफी परिपक्वता के साथ लड़ा है और काफी हद तक वायरस को मात देने में सफल भी रहे हैं. रिकवरी रेट 80 प्रतिशत होना इस बात का प्रमाण है. हमारे हेल्थ वर्कर ने उल्लेखनीय कार्य किया है.

Posted By : Rajneesh Anand

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें