1. home Hindi News
  2. national
  3. dominica court to hear today on fugitive mehul choksi saga initiates political war across carribean islands pwn

मेहुल चोकसी को लेकर कैरिबियाई द्वीप में छिड़ी बहस के बीच आज डोमिनिका कोर्ट में उसे लेकर सुनवाई

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
मेहुल चोकसी को लेकर कैरिबियाई द्वीप में छिड़ी बहस के बीच आज डोमिनिका कोर्ट में उसे लेकर सुनवाई
मेहुल चोकसी को लेकर कैरिबियाई द्वीप में छिड़ी बहस के बीच आज डोमिनिका कोर्ट में उसे लेकर सुनवाई
twitter

भगोड़े हीरा व्यापारी मेहुल चोकसी के एंटीगुआ और बारबुडा के लापता होने के बाद से ही कैरीबियन द्वीप समूहों के बीच आपस में बहस छिड़ गयी है. हालांकि मेहुल चोकसी के लापता होने के मामले में एंटीगुआ और बारबुडा के प्रधानमंत्री गैस्टन ब्राउन सरकार की संलिप्ता से साफ इनकार किया है. मेहुल चोकसी के लापता होने के बाद उसे डोमिनिका से गिरफ्तार किया गया था. इसके बाद से ही राजनीतिक बहस छिड़ गयी है.

गौरतलब है कि आज मेहुल चोकसी को लेकर डोमिनिका के कोर्ट में सुनवाई होनी है. आज फैसला होगा की उसे वापस एंटीगुआ भेजा जाएगा या भारत को उसकी कस्टडी मिल जाएगी. उसे लाने के लिए भारत का जेट डोमिनिका पहुंच चुका है.

इससे पहले एंटीगुआ और बारबूडा की नागरिकता रखने वाला भारतीय मूल का मेहुल चोकसी पिछले रविवार को यहां से रहस्यमय तरीके से गायब हो गया था. इसके बाद मंगलवार रात को उसे डोमिनिकन पुलिस से अवैध रुप से डोमिनिका में प्रवेश करते हुए गिरफ्तार कर लिया था. डोमिनिका और एटीगुआ और बारबूडा की दूरी 100 समुद्री मील है.

डोमिनिका में मेहुल की गिरफ्तारी के बाद इस देश में भी राजनीतिक विवाद शुरु हो गया है. हिंदुस्तान टाइम्स के मुताबिक डोमिनिका में विपक्ष के नेता लेनोक्स लिंटन ने चोकसी के कथित अपहरण को लेकर पीएम रूजवेल्ट स्केरिट पर निशाना साधा. साथ ही उनपर एक साजिश का हिस्सा होने का आरोप लगाया जो इस क्षेत्र में पूर्वी कैरेबियाई सुप्रीम कोर्ट के तहत क्षेत्र के नागरिकों को दी गई सुरक्षा को कमजोर करता है.

डोमिनिका की यूनाइटेड वर्कर्स पार्टी (यूडब्ल्यूपी) के नेता लिंटन इस बात की मांग की है कि इस पूरे मामले की जांच होनी चाहिए. वहीं एंटीगुआ और बारबूडा के प्रधानमंत्री ने स्थानीय मीडिया से बात करते हुए चोकसी के लापता होने में अपनी सरककार की संलिप्ता से इनकार किया है.

उन्होंने कहा कि भले ही चोकसी को अस्थायी नागरिकता मिली थी लेकिन एक नागरिक के रुप में उसके संवैधानिक अधिकारों का ख्याल रखा गया था. हालांकि विपक्ष ने उनपर हमला बोलते हुए कहा कि चोकसी को इस देश के नागरिक के रुप में कथित तौर पर सुरक्षा प्रदान नहीं की गयी.

इस बीच मेहुल चोकसी के छोटे भाई चेतन चिनुभाई चोकसी डोमिनिका पहुंच चुके हैं. उन्होंने डोमिनिका में विपक्ष के नेता से दो घंटे तक मुलाकात की है और उनके समर्थन के बदले मदद करने का भरोसा दिया है. हालांकि चोकसी परिवार के वकील ने कहा कि चेतन चोकसी अपने भाई का इलाज कराने के लिए डोमिनिका पहुंचे हैं. पर वह कोरेटिंन नियमों के कारण बाहर नहीं निकल पा रहे हैं. इसलिए सभी बातें झूठी हैं.

Posted By: Pawan Singh

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें