1. home Hindi News
  2. national
  3. chief minister responsible for violence during election in punjab captain amarinder singh resign immediately aap mla baljinder kaur said this aml

पंजाब में चुनावी हिंसा के लिए मुख्यमंत्री जिम्मेदार, तुरंत इस्तीफा दें कैप्टन, आप विधायक बलजिंदर कौर ने की मांग

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
मीडिया से बात करते हुए विधायक बलजिंदर कौर.
मीडिया से बात करते हुए विधायक बलजिंदर कौर.
Twitter
  • 2022 में पंजाब में बनेगी आम आदमी पार्टी की सरकार, दोषियों पर होगी सख्त कार्रवाई : आप विधायक

  • चुनावी हिंसा में घायल आप नेता लालजीत सिंह भुल्लर मनवीर सिंह से आप नेताओं ने की मुलाकात

  • लोगों को वोट देने से रोकने के लिए कांग्रेस के लोगों ने की हिंसा, लेकिन पंजाब के लोग बहादुर

अमृतसर : निकाय चुनाव के दौरान पंजाब में हुए हिंसा और आप कार्यकर्ताओं पर हुए हमले पर आम आदमी पार्टी (AAP) ने खेद प्रकट किया. सोमवार को पार्टी के विधायक बलजिंदर कौर (MLA Baljinder Kaur) ने हिंसा में घायल हुए आप नेता लालजीत सिंह भुल्लर से उनके निवास पर मुलाकात के दौरान कहा कि 14 फरवरी को मतदान के दिन पट्टी में कांग्रेस के गुंडों ने मतदान केंद्रों के पास हिंसा कर, तोडफोड़ कर मतदान प्रक्रिया को प्रभावित करने की कोशिश की.

कांग्रेस के गुंडों ने हथियारों के साथ मतदान केंद्रों में प्रवेश किया और वोट डालने आये मतदाताओं को मतदान केंद्र से बाहर निकालने की कोशिश की. जब उन्हें ऐसा करने से रोका गया, तो उन्होंने गोलीबारी शुरू कर दी. गोलीबारी में आप के एक कार्यकर्ता मनवीर सिंह को गोली लगी और वह गंभीर रूप से घायल हो गये. वहीं, एक आप नेता लालजीत भुल्लर, जिन्होंने कांग्रेस के गुंडों के गुंडई का प्रतिकार किया था, उनकी पुलिस ने बेरहमीपूर्वक पिटाई की और जबर्दस्ती हिरासत में लिया.

उन्हें मतदान समाप्त होने तक रिहा नहीं किया गया था. पुलिस ने ऐसा कांग्रेस के गुंडों द्वारा मतदान केंद्रों पर कब्जा करवाने के उद्देश्य से किया. आप विधायक सोमवार को चुनाव के दौरान कांग्रेस के गुंडो द्वारा की गई गोलीबारी में गोली लगने से गंभीर रूप से घायल हुए आप कार्यकर्ता मनवीर सिंह और अन्य आप कार्यकर्ताओं से अमृतसर के अस्पताल मिलने पहुंचे. अस्पताल में उन्होंने मनवीर सिंह और अन्य घायल कार्यकर्ताओं से मुलाकात कर उनका हाल जाना और उन्हें पार्टी द्वारा हरसंभव मदद देने का आश्वासन दिया.

उन्होंने सवालिया लहजे में कहा, क्या यही मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह का लोकतंत्र है? क्या यही वह लोकतंत्र है जिसे आपको पंजाब के लोगों द्वारा सुरक्षित रखने का जिम्मा दिया गया था? आपने अपने गुंडों द्वारा उन लोगों के अधिकारों पर हमला करवाया जिन्होंने आप पर भरोसा करके सत्ता सौंपा था. उन्होंने कहा कि कांग्रेस के गुंडों ने इस मकसद से पूरे राज्य में हिंसा कर लोगों में दहशत का माहौल फैलाया ताकि मतदाता डर के मारे वोट करने के लिए अपने घरों से बाहर न निकले.

राज्य के गृह मंत्री के रुप में यह कैप्टन अमरिंदर सिंह की जिम्मेवारी थी कि हिंसा की घटना को रोके ताकि लोग भयमुक्त होकर मतदान कर सकें. लेकिन कैप्टन राज्य की कानून व्यवस्था बनाए रखने में बुरी तरह विफल रहे और गुंडागर्दी की घटनाओं को रोक पाने में नाकाम रहे. मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह पंजाब के लोगों का भरोसा खो दिया है, वे जनता की कुर्सी पर बैठने लायक नहीं है. अब उन्हें हिंसा की नैतिक जिम्मेवारी लेते हुए मुख्यमंत्री के पद से तुरंत मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे देना चाहिए.

उन्होंने कहा कि अब पंजाब के लोग कैप्टन सरकार की गुंडागर्दी से तंग आ चुके हैं. 2022 में आम आदमी पार्टी पूर्ण बहुमत से सत्ता में आ रही है. सत्ता में आने के बाद हम इन गुंडों को गिरफ्तार कर उनकी असली जगह जेल में भेजेंगे. मौके पर उनके साथ आप पंजाब के संयुक्त सचिव बलजीत सिंह खैहरा, अशोक तलवार, तरणतारन जिला प्रधान गुरविंदर सिंह, अमृतसर के शहरी प्रधान परमिंदर सिंह सेठी, पार्टी नेता कुलदीप धालीवाल, रंजीत सिंह चीमा, गुरदेव सिंह लक्खा, दिलबाग सिंह फौजी, रंजीत कोटदाता, जगजीत बुर्ज, विरसा सिंह, सुखदेव सिंह, फुला सिंह, जैमल सिंह और अन्य पार्टी नेता उपस्थित थे.

Posted By: Amlesh Nandan.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें