1. home Home
  2. national
  3. cds bipin rawat helicopter crash news captain varun singh condition is critical rjh

हेलिकॉप्टर क्रैश में जीवित बचे ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह की स्थिति गंभीर, पिता ने कहा-मेरा बेटा फाइटर है...

वरुण सिंह के पिता रिटायर्ड कर्नल केपी सिंह ने बताया कि उनके बेटे वरूण सिंह को तमिलनाडु के वेलिंगटन स्थित आर्मी अस्पताल से बेंगलुरु के एक अस्पताल में स्थानांतरित किया जा रहा है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
GC Varun Singh
GC Varun Singh
Twitter

Chief Of Defence Staff बिपिन रावत की कल हेलिकॉप्टर दुर्घटना में मौत हो गयी है. इस दुर्घटना में हेलिकॉप्टर पर सवार कुल 14 लोगों में से 13 की मौत हुई है और सेना के एक अधिकारी ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह अभी जिंदगी से जूझ रहे हैं.

वरुण सिंह के पिता रिटायर्ड कर्नल केपी सिंह ने बताया कि उनके बेटे वरूण सिंह को तमिलनाडु के वेलिंगटन स्थित आर्मी अस्पताल से बेंगलुरु के एक अस्पताल में स्थानांतरित किया जा रहा है.

ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह मूलत: उत्तरप्रदेश के देवरिया के रहने वाले हैं. वरुण सिंह के पिता केपी सिंह फिलहाल भोपाल में रहते हैं. उन्होंने फोन पर पीटीआई न्यूज एजेंसी को बताया कि वरूण की स्थिति गंभीर बनी हुई है इसलिए उन्हें बेंगलुरु शिफ्ट किया जा रहा है. उन्होंने बताया कि वे वेलिंगटन में हैं, लेकिन वरूण सिंह की स्थिति के बारे में उन्होंने कुछ भी डिटेल में नहीं बताया.

केपी सिंह के पड़ोसी रिटायर्ड लेफ्टिनेंट कर्नल ईशान ने पीटीआई न्यूज को बताया कि मुझे उम्मीद है कि ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह ठीक हो जायेंगे. उन्होंने बताया कि जब वरुण सिंह के पिता के पी सिंह को दुर्घटना की जानकारी मिली तब वे अपने छोटे बेटे तनु के घर पर थे, जो मुंबई में रहते हैं. तनुज नौसेना में लेफ्टिनेंट कमांडर हैं. ईशान ने कहा, मैंने कर्नल के पी सिंह से बात की. उन्होंने कहा कि उनका बेटा फाइटर है और वह इस संकट से निकल आयेगा.

ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह पिछले साल तेजस विमान की परीक्षण उड़ान के दौरान भी तकनीकी खामी के बाद विमान को आपातकालीन स्थित में सुरक्षित उतार लिया था और सुरक्षित निकल आये थे. उन्हें इसी साल शौर्य चक्र से सम्मानित किया गया है.

ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह 42 साल के हैं और उनके दो बच्चे हैं. जानकारी के अनुसार वरुण सिंह कैप्टन अभिनंदन के बैचमेट हैं. इनका पूरा सेना की सेवा में जुटा रहा है. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने संसद में बयान दिया है कि दुर्घटना में जांच चल रही है और दुर्घटना में अकेला बचा सैन्य कर्मी जीवन रक्षक प्रणाली पर है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें