1. home Home
  2. national
  3. arrest terrorist ashraf exposed pakistan isi was involved in delhi and jammu kashmir blast prt

खुल गई पाकिस्तान की पोल, गिरफ्तार आतंकी ने उगले कई राज, बताया जम्मू-कश्मीर समेत इन धमाकों में था ISI का हाथ

अशरफ ने बताया कि 2011 में दिल्ली हाईकोर्ट के बाहर जो धमाके हुए थे उसमें वो भी शामिल था। इसके अलावा पाकिस्तानी आतंकी ने ये भी खुलासा किया कि 2009 में जम्मू बस स्टैंड में हुए बम धमाके में पाकिस्तान की कुख्यात खुफिया एजेंसी आईएसआई का हाथ था.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
पाकिस्तानी आतंकवादी अशरफ ने उगले कई राज
पाकिस्तानी आतंकवादी अशरफ ने उगले कई राज
Twitter

Delhi Police, Pakistan Terrorist: दिल्ली में स्पेशल सेल के हत्थे चढ़ा पाकिस्तानी आतंकी अशरफ ने कई बड़े खुलासे किये हैं. अशरफ ने बताया कि 2011 में दिल्ली हाईकोर्ट के बाहर जो धमाके हुए थे उसमें वो भी शामिल था। इसके अलावा पाकिस्तानी आतंकी ने ये भी खुलासा किया कि 2009 में जम्मू बस स्टैंड में हुए बम धमाके में पाकिस्तान की कुख्यात खुफिया एजेंसी आईएसआई का हाथ था.

कई बार की थी महत्वपूर्ण जगहों की रेकी : पाकिस्तानी आतंकी अशरफ ने ये भी खुलासा किया कि 2011 के आसपास उसने आईटीओ स्थित पुलिस मुख्यालय की कई बार रेकी की. साथ ही उसने ये भी कहा कि कोर्ट में धमाके से पहले उसने वहीं की रेकी की थी. उसने बताया कि वो अपने पाकिस्तान आकाओं को आईएसबीटी की जानकारी भी दी थी. इसके अलावा भी आतंकी ने कई और खुलासे किए हैं.

ईमेल के जरिए पाकिस्तानी आकाओं से करता था बात: अशरफ ने बताया कि वो ईमेल के जरिए पाकिस्तानी आकाओं के संपर्क में रहता था. उन्हीं के निर्देशों पर काम करता था. उसने बताया कि वो आईएसआई अधिकारी के कहने पर वो कई बार जम्मू कश्मीर हथियार सप्लाई करने गया था. इसके अलावा वो आईएसआई को सुरक्षा वयवस्था की पूरी जानकारी देता था. रेकी के बाद योजना बनाकर आतंकी गतिविधियों को अंजाम दिया जाता था.

पुलिस ने निशानदेही पर बरामद किये हथियार: गौरतलब है कि पाकिस्तान के गिरफ्तार की निशानदेही पर पुलिस ने दिल्ली के कालिंदी कुंज इलाके से कई बरामद किए हैं. जिसमें एकके-47 रायफल, कारतूस, हैंड ग्रेनेड, और अत्याधुनिक पिस्टल भी शामिल है. बता दें, यह आतंकी बांग्लादेश से होकर भारत आया था. इसके पास 6 तरह के फर्जी पासपोर्ट थे. बीते 10 साल से ज्यादा समय से वो भारत में रह रह रहा था. उसे आएसआई ने प्रशिक्षण भी दिया था.

Posted by: Pritish Sahay

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें