स्वामी की टिप्पणी पर टीम मोदी गंभीर, राजनाथ ने की बात, तो जेटली ने कहा - अरविंद पर पूरा भरोसा

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date


नयी दिल्ली : मुख्य आर्थिक सलाहकार अरविंद सुब्रमण्यन पर भाजपा नेता व राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यन स्वामी के हमले पर वित्त मंत्रीअरुण जेटली ने आज कहा कि मुख्य आर्थिक सलाहकार पर सरकार का पूरा भरोसा है और उनकी सलाह काफी महत्व रखती है. वित्त मंत्री अरुण जेटली ने राजनीतिज्ञों द्वारा सरकार में बैठे लोगोंपर हमले को लेकर कहा(उन लोगों पर हमले को लेकर जो जवाब नहीं दे सकते) कि ‘‘हमें किस हद तक इसे ले जाना चाहिए?' . जेटली ने इन आरोपाें को खारिज किया कि स्वामी के हमलाें के मद्देनजर सरकार और भाजपा ने रिजर्व बैंक गवर्नर रघुराम राजन का बचाव नहीं किया.


उधर, स्वामी द्वारा अरविंद सुब्रमण्यन को निशाना बनाये जाने पर भारतीय जनता पार्टी ने भी उनसे पल्ला झाड़ लिया है. पार्टी सचिव श्रीकांत शर्मा ने इसे उनके निजी विचार बताते हुए कहा है कि भाजपाकाइससेकुछ लेना-देना नहीं है.


वहीं,आज स्वामी केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह से मिलनेपहुंचे. मीडिया को इसमुलाकातका ब्याैरानहीं मिला है, लेकिन इसे स्वामी द्वारामुख्यआर्थिक सलाहकार पर निशाना बनाये जाने से जोड़ कर देखा जा रहा है.स्वामीकाभाजपा के एककद्दावरनेता से मिलना और एक अन्य कद्दावर नेता द्वारा सिरे से उनकी बातों को खारिजकर दियेजानेसे यह साफहैकिभारतीय जनता पार्टीसुब्रमण्यनस्वामी द्वारा सरकार केगैरराजनीतिक पदों पर बैठे अहम लोगों कोलगातारनिशाना बनाये जाने को लेकर गंभीर है और अब वह इसे हल्के में नहीं लेगी.


अरविंद सुब्रमण्यम पर क्या कहा था स्वामी ने


आरबीआइ गवर्नर रघुराम राजन का विरोध कर चुके भाजपा के राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यन स्वामी ने मोदी सरकार के मुख्य आर्थिक सलाहकार अरविंद सुब्रमण्यन परट्विटर पर निशाना साधा है. स्वामी ने अरविंद सुब्रमण्यन पर भारत के खिलाफ कार्रवाई करने का आरोप लगाया है और उन्हेंबरखास्त करने की मांग की. स्वामी ने कहा है कि अरविंद वही शख्स हैं जिन्होंने मार्च 2013 में अमेरिका को विश्व व्यापार संगठन में अमेरिकी फार्मास्युटिकल्स के हितों का बचाव करते हुए भारत के खिलाफ कार्रवाई करने की सलाह दी थी. स्वामी इतने में ही नहीं रुके उन्होंने यह भी दावा किया है कि अरविंद सुब्रमण्यन ने जीएसटी में कांग्रेस से सुझावों को मानने की सलाह दी थी. सुब्रमण्यन स्वामी का कहना है कि अरविंद सरकार के विरोधी काम में लिप्त हैं अत: उन्हें फौरन उनके पद से हटा देने चाहिए.


अपने ट्वीट के संबंध में उन्होंने कहा कि मैंने ट्विटर पर यही बताया है कि अरविंद अमेरिका में काम करता था. ग्रीन कार्ड तो नहीं है, सिटिजन है भी या नहीं पता नहीं. स्वामी ने कहा कि उसने लिखित में बयान दिया... जिसमें उसने कहा कि भारत अमेरिका के अनुकूल नहीं चल रहा है, उसको सबक सिखाने के लिए कुछ करना चहिए. उन्होंने कहा कि मैंने 27 नामों की लिस्ट तैयार की है जिनको एक-एक कर निपटाऊंगा.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें