राजनाथ बोले उत्तराखंड कांग्रेस का संकट, लोकसभा में सिख गुरुद्वारा बिल पास

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

नयी दिल्ली : संसद के दोनों सत्रों में आज उत्तराखंड के मुद्दे पर जोरदार हंगामा हुआ. लोकसभा व राज्यसभा में मुख्य विपक्ष कांग्रेस ने यह मुद्दा उठाया. लोकसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खडगे ने उत्तराखंड के मुद्दे को उठाया, जिस पर गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने जवाब दिया. गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि उत्तराखंड में जिस संकट के पैदा होने की बात उठायी गयी है, वह हमारी पार्टी या एनडीए द्वारा उत्पन्न नहीं किया गया है, यह संकट उनके दल कांग्रेस के आंतरिक संकट का परिणाम है. गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने स्पीकर सुुमित्रा महाजन के उस फैसले का स्वागत किया, जिसमें यह मामला न्यायालय के विचाराधीन होने के कारण इस सदन में चर्चा नहीं हो सकती है. हालांकि गृहमंत्री ने कहा कि राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने के मुद्दे पर अगर चर्चा होनी होगी तो दोनों सदन में होगी.लोकसभा की कार्यवाहीभी दोपहर दो बजे तक के लिए स्थगितकरदी गयी है.लोकसभा की कार्यवाही दो बजे पुन: शुरू हुई और अभी जारी है.लोकसभा में आज सिख गुरुद्वारा (संशोधन) बिल 2016पारितहो गया.

नयी दिल्ली : संसद का सत्र आज से शुरू हो गया है. 15 दिन के इस सत्र में कामकाज के लिए कुल 90 घंटे निर्धारित किये गये हैं. लोकसभा में कार्यवाही शुरू होने के साथ जहां हाल में दिवंगत हुए पूर्व सांसदों को श्रद्धांजलि दी गयी, वहीं राज्यसभा में नवनिर्वाचित सांसदों को शपथ दिलायी गयी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज संसद पहुंचने पर इस सत्र को उत्पादक बनाने व सभी पार्टियों से इसमें सहयोग की उम्मीद जतायी. जबकि विपक्षी पार्टियों के तेवर से स्पष्ट है कि सरकार के लिए के लिए सुचारू रूप से संसद का यह सत्र चलाना काफी मुश्किल है. कांग्रेस, जदयू व वाम दल सरकार को घेरने के लिए उत्तराखंड, सूखा, कन्हैया कुमार, विजय माल्या सहित कई मुद्दों को उठायेंगे, वहींसत्ता पक्ष इशरत जहां मामले से कांग्रेस पर निशाना साध सकती है.


लोकसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खडगे ने उत्तराखंड के मुद्दे को उठाया, जिस पर गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने जवाब दिया. गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि उत्तराखंड में जिस संकट के पैदा होने की बात उठायी है, वह हमारी पार्टी या एनडीए द्वारा उत्पन्न नहीं किया गया है, यह संकट उनके दल कांग्रेस के आंतरिक संकट का परिणाम है. गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने स्पीकर सुुमित्रा महाजन के उस फैसले का स्वागत किया, जिसमें यह मामला न्यायालय के विचाराधीन होने के कारण इस सदन में चर्चा नहीं हो सकती है. हालांकि गृहमंत्री ने कहा कि राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने के मुद्दे पर अगर चर्चा होनी होगी तो दोनों सदन में होगी.


विपक्ष के एजेंडे में क्या है?


कांग्रेस जहां संसद में सूखा एवं जल संकट के मुद्दे को उठायेगी, वहीं जनता दल यूनाइटेड ने आज राज्यसभा में उत्तराखंड संकट के मुद्दे पर नोटिस दिया है.उधर, सीपीआइ ने कहा है कि वह संसद में जवाहर लाल नेहरू छात्र संघ के अध्यक्ष कन्हैया कुमार पर होने वाले जानलेवा हमलों को उठायेगी. राज्यसभा की कार्यवाही शुरू होने पर कांग्रेस ने आज उत्तराखंड का मुद्दा उठाया भी. जिसके बाद सदन की कार्यवाही 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गयी.बाद में पुन: सदन की कार्यवाही शुरू होने पर उत्तराखंड मुद्दे पर हंगामे के कारण उसे दो बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया.दो बजे राज्यसभा की कार्यवाही शुरू होने के बाद हंगामे के कारण उसे पुन: तीन बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया.दोपहर तीन बजे राज्यसभा की कार्यवाही शुरू होने के बाद पुन: उत्तराखंड मुद्दे पर कांग्रेस के हंगामे के कारण उसे पूरे दिन के लिए स्थगित कर दिया गया.विपक्ष का आरोप था कि सरकार ने गलत ढंग से वहां राष्ट्रपति शासन लगाया, जबकि सत्तापक्ष का कहना था कि मुख्यमंत्री विधायकों की खरीद-फरोख्त में लगे हुए थे.


कार्यमंत्रणा समिति की बैठक


उधर, दिन के एक बजे संसद के दोनों सदनों लोकसभा व राज्यसभा के कार्य मंत्रणासमितिकी अलग-अलग बैठक होगी, जिसमेंकामकाज के एजेंडेपर चर्चा की जायेगी. उधर, राज्यसभा के सभापति हामिद अंसारी ने सभी दलों को सदन की कार्यवाही चलाने में सहयोग देने के लिए सुबह एक बैठक की है.


पीएम नरेंद्र मोदी ने क्या कहा?


वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज संसद भवन पहुंचने के बाद पत्रकारों से कहा कि हमें उम्मीद है कि संसद के बजट सेशन का दूसरा हिस्सा भी पहले हिस्से की तरह उत्पादक होगा और हम कई अहम निर्णय इसमें लेंगे.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें