नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रीय अधिवेशन में कांग्रेस पर साधा निशाना, कहा इन्हें राजशाही पसंद है पर हमें लोकशाही

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date



नयी दिल्ली :
भारतीय जनता पार्टी के दो दिवसीयराष्ट्रीय अधिवेशन केसमापन समारोह को संबोधित करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी नेअपने संबोधन में कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा इन्हें सीबीआई स्वीकार नहीं है, कल कोई दूसरी संस्था स्वीकार नहीं होगी. आर्मी, पुलिस, सुप्रीम कोर्ट, इलेक्शन कमीशन, सीएजी, सब गलत हैं, लेकिन एकमात्र वही सही हैं. क्या हम राष्ट्र को उनके भरोसे छोड़ सकते हैं?

जमानत पर बाहर घूमने वाले इन नेताओं को न कानून पर विश्वास है, न सत्य पर भरोसा है, और न ही इनको संस्थानों पर विश्वास है. इनको राजशाही पर भरोसा है, लेकिन हम लोकशाही को मनाने वाले लोग हैं. अपने संबोधन की शुरुआत करते हुए पीएम मोदी नेकहा कि कभी दो कमरों और दो सांसदों की पार्टी कही जाने वाली भाजपा आज कार्यकर्ताओं की बैठक इतने विशाल पैमाने पर कर रही है, यह हमारे लिए गौरव की बात है.


पीएम मोदी ने युवा दिवस पर स्वामी विवेकानंद को याद करते हुए कहा कि वे कहते थे कि हर राष्ट्र की एक नीति और ध्येय होता है. हमें भी उस ध्येय को प्राप्त करना है.मोदी ने कहा कि ऐसा पहली बार हो रहा है कि कार्यकर्ता परिषद की बैठक अटलबिहारी वाजपेयी के बिना हो रहा है. वे आज जहां भी हैं और हमेन देख रहे होंगे तो हमें आशीष दे रहे होंगे. मैं उन्हें नमन करता हूं.

अपनी सरकार के कार्यों का उल्लेख करते हुए नरेंद्र मोदी ने सामान्य वर्ग के लोगों को 10 प्रतिशत आरक्षण दिये जाने की बात कही. उन्होंने कहा कि इससे सामान्य वर्ग के लोगों को फायदा होगा. पीएम मोदी ने कहा कि मैंने कभी यह दावा नहीं किया कि 10 आरक्षण से सबकुछ ठीक हो जायेगा, लेकिन यह तय है कि इससे भी कुछ फायदा होगा. कुछ लोग यह कोशिश कर रहे हैं कि इस आरक्षण के बारे में भ्रम फैलाया जाये, लेकिन हमें उन कोशिश को दरकिनार करना है.

नरेंद्र मोदी ने अपनी सरकार के कार्यों का उल्लेख करते हुए कहा कि हमारा ध्येय सबका साथ सबका विकास. हमने महिलाओं को सशक्त करने का निर्णय लिया है और ‘बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ’ अभियान चला रहे हैं. आज बेटियां फायटर प्लेन चला रही हैं. कांग्रेस ने अन्नदाता को सिर्फ मतदाता बना रखा था, लेकिन हमने उन्हें सशक्त करने की कोशिश की है. किसानों को लाभ देने के लिए हमने कई योजनाओं को शुरू किया है जो उन्हें लाभ देगी, भले ही अभी उनका लाभ स्पष्ट नहीं दिख रहा, लेकिन कुछ दिनों में उन्हें लाभ दिखेगा. जैसे नहर जब बनना शुरू होता है तो उसका लाभ नहीं दिखता, एक बड़े गड्‌ढे के अलावा वह कुछ नहीं होता है. लेकिन जब उस नहर से पानी खेत तक पहुंचता है तो लोग खुश होते हैं. सरकार ने किसानों को डेढ़ गुना एमएसपी दिया. हम किसानों को लाभ पहुंचाने के लिए कई प्रयास कर रहे हैं.

नरेंद्र मोदी ने कहा कि किसानों को सशक्त करने के प्रयास में जितनी चुनौतियां हैं उतना ही ईमानदार प्रयास हम कर रहे हैं. बावजूद इसके विपक्ष की पार्टियां हमपर यह आरोप लगाती हैं कि हमने सिर्फ नाम बदला है, योजनाएं तो पुरानी है. पता नहीं वे क्या कहना चाहते हैं. आप बतायें मैंने किस योजना के साथ अपना नाम जोड़ा है. देश में पहले भी गैस मिलता था, पासपोर्ट बनते थे, पुल बनते थे, सड़के बनती थीं, लेकिन हमने उन कार्यों में गति थी. ऐसा नहीं है कि देश में सबकुछ ठीक हो गया है, लेकिन बहुत कुछ हुआ है और हम ईमानदारी से प्रयास कर रहे हैं. भाजपा की सरकार ने व्यवस्था बदलने की हर कोशिश को गति दी. हर तरफ बदलाव दिख रहा है.
Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें