26.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

टहलने पर शुल्क तय किये जाने के खिलाफ सड़क उतरे लोग, किया प्रदर्शन

ध्रुव उद्यान का मामला.

वाकिंग टैक्स लगाने के बाद मॉर्निंग वाक करने वालों पर लगा ब्रेक, बुजुर्ग-बच्चे निराश

पूर्णिया. शहर के जनता चौक स्थित ध्रुव उद्यान में मॉर्निंग वॉक करनेवालों

ध्रुव उद्यान का मामला.

वाकिंग टैक्स लगाने के बाद मॉर्निंग वाक करने वालों पर लगा ब्रेक, बुजुर्ग-बच्चे निराश

पूर्णिया. शहर के जनता चौक स्थित ध्रुव उद्यान में मॉर्निंग वॉक करनेवालों से मासिक शुल्क तय किये जाने के फैसले के खिलाफ अब लोग सड़क पर उतर आये हैं. पिछले दो दिनों से पूर्णिया के नागरिक ध्रुव उद्यान पर लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं. शहर वासियों ने मॉर्निंग वॉकर्स पर लगाये गये मासिक शुल्क से जुड़े फैसले का विरोध करते हुए जमकर नारेबाजी की. प्रदर्शन करने वालों में न सिर्फ पुरुष बल्कि महिलाएं और बड़ी तादात में युवा भी शामिल रहे. डीएफओ के फैसले का विरोध कर रहे समाजसेवी पंकज नायक ने कहा कि खुद को फिट और सेहतमंद रखने के लिए बड़ी संख्या में महिलाएं, पुरुष, बच्चे और बुजुर्ग ध्रुव उद्यान पार्क मॉर्निंग वॉक पर पहुचते हैं. वन विभाग ने एक आदेश जारी करते हुए पहली मई से ध्रुव उद्यान पार्क में सुबह टहलने वालों के लिए 100 मासिक शुल्क लगा दिया है. सुबह के दो घंटे जो पहले नि:शुल्क प्रवेश हुआ करता था, उसे भी शुल्क के दायरे में लाना कहीं से भी उचित नहीं है. यहां छोटे-छोटे बच्चे जो जूडो कराटे की प्रेक्टिस करते हैं। बच्चे माता-पिता के साथ मॉर्निंग वॉक पर चले आते हैं. मॉर्निंग वॉक पर मासिक शुल्क लगाना निहायत ही गैर वाजिब है. गुरूवार को पूर्व सांसद पप्पू यादव भी ध्रुव उद्यान पहुंचे और प्रदर्शनकारियों की बातें सुनीं. उन्होने लोगों को हरसंभव सहयोग का भरोसा दिलाया.

सुविधा पर लोगों ने उठाये सवाल

मौजूद लोगों ने कहा कि एक तरफ विभाग मॉर्निंग वॉक करनेवालों से मासिक शुल्क तय कर रहा है वहीं दूसरी तरफ उद्यान के अंदर अभी भी बहुत सारी सुविधा नहीं है. लोगों ने बताया कि पार्क की एक्सरसाइज करने वाली कई मशीनें पूरी तरह खराब पड़ी है. वॉकिंग ट्रैक जगह-जगह जर्जर हो चुकी है. इसे लेकर कई बार शिकायत की गई मगर किसी का अब तक इस पर कोई ध्यान नहीं गया. लोगों ने जिला पदाधिकारी व शहर के मेयर से इस मामले में तुरंत संज्ञान लेते हुए शुल्क वापस लेने की मांग की. इस मामले में मुख्यमंत्री को भी मेल किया गया है. प्रदर्शनकारियों में डॉ आलोक कुमार, अरुण यादव, सोपाल शाह, विवेक सिंह, राजकुमार सिंह, लखन यादव, सुबोध राय, आनंद कुमार समेत सैकड़ो की संख्या में लोग शामिल थे. डॉ. आलोक, बमभोला सहनी, विजय कुमार सक्सेना, सोपाल साह, विकास कुमार, कुमोद कुमार, सुमन सिंह, मनोज कुमार गुप्ता, हरी नारायण यादव, चन्दा कुमारी, रंजीता आदि ने भी इस सवाल को लेकर अपनी आवाज बुलंद की.

सात दिसंबर 2016 को प्रथम परिदर्शक के रूप में पहुंचे थे मुख्यमंत्री

जिले के सबके आकर्षण का केंद्र रहे ध्रुव उद्यान के सबसे प्रथम परिदर्शक के रूप में 7 दिसंबर 2016 को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार यहां पहुंचे थे. ध्रुव उद्यान की व्यवस्था और वहां की साज सज्या को देखकर वे मुग्ध हो गये थे. इसके बाद पूर्णिया की यात्रा के क्रम में कई बार उन्होंने उक्त उद्यान का भ्रमण भी किया था. लोगों के टहलने से लेकर मनोहारी दृश्य, बाग़ बगीचे, तालाब, हट, बैठक, पेय जल, कूड़ादान व प्रसाधन कक्षों के अलावा अनेक झूले व ओपन जिमखाना सबकुछ बेहद करीने से स्थापित किये गये थे. जिसका लाभ सभी को मिलता था. धीरे धीरे प्रतिदिन सैकड़ों लोगों ने यहां आना शुरू कर दिया. दिन के समय भी बड़ी संख्या में युवाओं व अन्य लोगों के आने से राजस्व में भी काफी बढ़ोत्तरी हुई. बावजूद इसके बेहतर प्रबंधन व्यवस्था नहीं होने के कारण धीरे धीरे हर क्षेत्र में गिरावट आनी शुरू हो गयी.

फोटो. 2 पूर्णिया 12- ध्रुव उद्यान के बाहर विरोध प्रदर्शन करते लोग

………………………

बोले लोग

हम महिलायें कामकाजी हैं हर दिन चारों ओर से समय पर काम का दबाव रहता है. सुबह में हर दिन नहीं आ पाते, लेकिन यहां सुबह में सभी के लिए टहलना निःशुल्क होने पर कुछ समय अपने स्वास्थ्य के लिए मिल जाता था. अब कुछ ही दिन घूमने टहलने के एवज में सौ रुपये शुल्क क्यों दूं.

रंजीता जायसवाल, प्रभात काॅलोनी निवासी.

फोटो. 2 पूर्णिया 8-रंजीता जायसवालइस उद्यान के बनने से पहले से ही प्रतिदिन सुबह यहां टहलने आते रहे हैं. जब उद्यान बना तो बेहद अच्छा लगने लगा. पहले लोग कम आते थे बाद में काफी लोग बढ़ गये. सभी उम्र के महिला, पुरुष और बच्चों में स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता बढ़ी. अब विभाग ने टैक्स जारी कर दिया जो गलत है.

हरिनारायण यादव, स्थानीय

फोटो. 2 पूर्णिया 9- हरिनारायण यादव समाज में स्वास्थ्य के प्रति चेतना के विकास में ध्रुव उद्यान ने महत्वपूर्ण भूमिका निभायी है. यहां के आकर्षण में सभी खींचे चले आते हैं. लेकिन देखरेख सही ढंग से नहीं होने के कारण बहुत चीजें खराब हो चुकी हैं. और अब पूर्व की निःशुल्क व्यवस्था को समाप्त कर दिया गया है. इससे लोग अपने स्वास्थ्य के प्रति उदासीन हो जायेंगे.

डॉ. आलोक, स्थानीय

फोटो. 2 पूर्णिया 10-डॉ.आलोक

ध्रुव उद्यान में हर तरह के आय वाले लोग सुबह में टहलने आते हैं. छोटे बच्चों से लेकर घर आये अतिथियों के साथ यहां टहलना बेहद अच्छा लगता था. लेकिन अब शुल्क लगा दिए जाने के बाद गेस्ट तो दूर खुद भी रोज आना संभव नहीं है. अकेले की बात होती तो कुछ और था बच्चे भी तो हैं.

चन्दा कुमारी, बसंत विहार

फोटो. 2 पूर्णिया 11- चन्दा कुमारी

———————-

-उक्त स्थल पर 10 बजे से सैर करने आने वालों के लिए टिकट का निर्धारण किया गया था लेकिन अब सुबह टहलनेवालों से पैसे की उगाही करना तुगलकी फरमान है, इसे जन भावना का ख्याल रखते हुए तुरंत वापस लिया जाना चाहिए.

तनवीर मुस्तफा उर्फ मुन्ना, सचिव कुल्हैया डेवलपमेंट ऑर्गेनाइजेशन

……………………………………………………………………………..

अगले तीन दिनों में ध्रुव उद्यान की पूर्व व्यवस्था लागू होगी: खेमका

विधायक के नेतृत्व में एक शिष्टमंडल डीएफओ से की मुलाकात

शिष्टमंडल ने फैसले पर पुनर्विचार करने का किया आग्रह

पूर्णिया. ध्रुव उधान में प्रात: कालीन टहलनेवालों पर वन विभाग दवारा शुल्क निर्धारित किये जाने के मसले को लेकर सदर विधायक विजय खेमका के नेतृत्व में एक शिष्टमंडल जिला वन पदाधिकारी से मुलाकात की और अपने फैसले पर पुनर्विचार करने का आग्रह किया. विधायक ने अधिकारी से अन्य सरकारी उद्यान व पार्क में की गयी व्यवस्था के अनुरूप पूर्णिया ध्रुव उद्यान में मोर्निंग वाक करने वालो को कोई कठिनाई नहीं हो इसका समाधान तत्काल करने को कहा है. वन विभाग द्वारा संचालित शहर के सभी पार्कों में साफ़ सफाई शौचालय आदि की व्यवस्था दुरुस्त रखने की भी विधायक ने विभाग के अधिकारी से कहा. डीएफओ ने दो से तीन दिनों के अन्दर विभागीय मार्गदर्शन के बाद ध्रुव उद्यान में पूर्व व्यवस्था लागू करने का भरोसा दिलाया. विधायक ने अधिकारी से शहर में सड़क के किनारे तथा वार्डों में सूखे हुए वृक्ष, जिससे दुर्घटना की आशंका है, उसे तत्काल वन कर्मी से सर्वे कराकर हटाने को कहा. विधायक श्री खेमका ने कहा कि शहर वासियों की सुविधा के लिए वन विभाग द्वारा संचालित शहर के सभी पार्क का सौन्दर्यीकरण शीघ्र किया जायेगा. वार्ता में भाजपा जिला अध्यक्ष राकेश कुमार जदयू जिला अध्यक्ष राकेश कुमार, पप्पू गिरी, राजू मंडल, समाज सेवी पंकज नायक, हीरा यादव, दयानंद साह, आनंद मेहता, सोभाल साह आदि उपस्थित थे . इधर जदयू के जिला अध्यक्ष राकेश कुमार ने भी वन विभाग के इस फैसले को अनुचित ठहराया.

फोटो- 2 पूर्णिया 13- डीएफओ से मुलाकात करते विधायक के नेतृत्व में शिष्टमंडल.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें