25.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

Jagannath Rath Yatra 2024: ‘आदपा मंडप’ के दर्शन मात्र से मिलता है भक्तों को पुण्य, जानिए क्या है यह विशेष अनुष्ठान

रथ यात्रा कई महत्वपूर्ण अनुष्ठानों, विधियों से सम्पन्न होती है जिनमें से एक अडापा मंडप बिजे भी शामिल है,जो देवताओं के जन्मस्थान प्रतीक है. इस स्थान के दर्शन मात्र से लोगों के जन्मों के पाप धूल जाते है.

Jagannath Rath Yatra 2024: जगन्नाथ रथ यात्रा, जिसे ‘रथ उत्सव’ के रूप में भी जाना जाता है, भारत के ओडिशा(Odisha) में सबसे प्रमुख और व्यापक रूप से मनाए जाने वाले त्योहारों में से एक है. यह भव्य आयोजन हर साल पुरी शहर(Puri) में होता है और यह भगवान जगन्नाथ, उनके भाई-बहनों, भगवान बलभद्र और देवी सुभद्रा को समर्पित है जिसमें तीनों देवता अपने अपने रथ पर सवार होकर अपनी मौसी गुंडीचा माता के घर जाते है.  

रथ यात्रा तीन भव्य रथों के निर्माण के साथ शुरू होती है, जिनमें से तीनों देवता का एक अलग रथ होता है. भगवान जगन्नाथ का रथ, जिसे ‘नंदीघोष’ के नाम से जाना जाता है, सबसे बड़ा और सबसे विस्तृत होता है, उसके बाद भगवान बलभद्र के लिए ‘तलध्वज’ और देवी सुभद्रा के लिए ‘दर्पदलन’ होता है. यात्रा की तैयारी बहुत ही सावधानी से की जाती है और इसमें जगन्नाथ मंदिर के सेवकों द्वारा किए जाने वाले विभिन्न अनुष्ठान भी शामिल होते हैं, जिससे यह सुनिश्चित होता है कि उत्सव का हर पहलू परंपरा का पालन करता है.

The 2024 Puri Jagannath Rath Yatra
The 2024 puri jagannath rath yatra

पहांडी बिजे: रथ यात्रा का शुभारंभ

रथ यात्रा के दौरान सबसे महत्वपूर्ण अनुष्ठानों में से एक पहांडी बिजे है जिसमें देवताओं को जगन्नाथ मंदिर के गर्भगृह से उनके संबंधित रथों तक भजनों के जाप, ढोल की थाप और शंख बजाने के साथ ले जाया जाता है.

Also Read- Jagannath Rath Yatra 2024: क्या है विशेषता भगवान जगन्नाथ, देवी सुभद्रा और भगवान बलभद्र के रथ की

क्या है आदपा मंडप(Adapa Mandap) बिजे?

Bhagwan Jagannath Temple
Jagannath rath yatra 2024- gundicha mata mandir (image source-social media)

देवताओं के अपने रथों पर सवार होने के बाद, वे गुंडिचा मंदिर की यात्रा पर निकलते हैं, जिसे उनकी मौसी का घर भी कहा जाता है. जगन्नाथ मंदिर से लगभग 3 किलोमीटर की दूरी पर स्थित यह मंदिर अगले नौ दिनों तक उत्सव का मुख्य केंद्र बन जाता है. आगमन पर, देवताओं को गुंडिचा मंदिर के भीतर एक विशेष मंच, आदपा मंडप में ले जाया जाता है. यह अनुष्ठान, जिसे आदपा मंडप बिजे के रूप में जाना जाता है, यह बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि यह देवताओं के अपने जन्मस्थान पर लौटने का प्रतीक है.

आदपा मंडप: देवताओं का पवित्र जन्मस्थान

आदपा मंडप भक्तों के दिलों में एक पूजनीय स्थान रखता है. इसे भगवान जगन्नाथ, भगवान बलभद्र और देवी सुभद्रा का जन्मस्थान माना जाता है. आदपा मंडप बिजे के अनुष्ठान में देवताओं को जन्मबेदी पर रखा जाता है, एक पवित्र मंच जिसके बारे में माना जाता है कि यह वही स्थान है जहां उनका जन्म हुआ था.

गुंडिचा मंदिर में रहने के दौरान, जगन्नाथ मंदिर के सभी दैनिक अनुष्ठान यहां किए जाते हैं. भक्तगण आदपा मंडप में देवताओं की एक झलक पाने के लिए मंदिर में आते हैं, क्योंकि ऐसा माना जाता है कि ऐसा करने से सौ जन्मों में किए गए सभी पापों से मुक्ति मिलती है. इस अवधि को गहन भक्ति और आध्यात्मिक शुद्धि की भावना से चिह्नित किया जाता है.

Jagannath Rath Yatra 2024: गुंडिचा माता मंदिर से जुड़ी रोचक जानकारी, यहां ठहरते है जगन्नाथ

आदपा अभदा:भगवान जगन्नाथ का दिव्य प्रसाद

Shri Jagannath 1 5
Jagannath rath yatra 2024- gundicha mata mandir (image source-social media)

गुंडिचा मंदिर में देवताओं के ठहरने का एक मुख्य आकर्षण ‘आदपा अभदा’ नामक विशेष प्रसाद है. बड़ी श्रद्धा और सावधानी से तैयार किया गया यह प्रसाद भक्तों में वितरित किया जाता है. इस प्रसाद को खाना बहुत शुभ माना जाता है और माना जाता है कि इससे ईश्वरीय आशीर्वाद मिलता है.

रथ यात्रा के दौरान भक्तों की भारी भीड़ को देखते हुए, मंदिर प्रशासन देवताओं के सुगम और परेशानी मुक्त दर्शन सुनिश्चित करने के लिए तमाम इंतेजाम करता है.गुंडिचा मंदिर का गर्भगृह देवताओं और भक्तों दोनों को आराम प्रदान करने के लिए अनूकूल है. इसके अतिरिक्त, बड़ी भीड़ को संभालने के लिए व्यवस्थित कतारों और पर्याप्त सुविधाओं की व्यवस्था की जाती है.

रथ यात्रा केवल एक उत्सव नहीं है; यह आस्था, भक्ति और समुदाय का उत्सव है. यात्रा से जुड़े अनुष्ठान, विशेष रूप से अदपा मंडप बिजे, देवताओं और उनके भक्तों के बीच गहरे आध्यात्मिक संबंध को उजागर करते हैं.

Also Read-Jagannath Rath Yatra 2024: रथ उत्सव से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी- जानें कौन-कौन सी होती है रस्में

Jagannath Rath Yatra 2024:क्या है नेत्रोत्सव और नवयौवन दर्शन

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें