25.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

Type Of Magnesium: मांसपेशियों और ब्रेन सिस्टम को फिट रखने में फायदेमंद है मैग्नीशियम

मैग्नीशियम सप्लीमेंट्स कई प्रकार के होते हैं. सभी मैग्नीशियम के अलग-अलग फायदे हैं. जानिए मैग्नीशियम के प्रकार और उनके फायदों के बारे में.

Type Of Magnesium: स्वस्थ रहने के लिए शरीर को विभिन्न प्रकार के पोषक तत्वों जैसे प्रोटीन, विटामिन्स और मिनरल्स की आवश्यकता पड़ती है. मैग्नीशियम एक ऐसा ही आवश्यक पोषक तत्व है, जो हमारे शरीर को सेहतमंद बनाये रखने में सहायता करता है. दरअसल, मैग्नीशियम मांसपेशियों और ब्रेन सिस्टम को दुरुस्त रखने के साथ-साथ ब्लड शुगर से लेकर ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखने में अहम भूमिका निभाता है. साथ ही यह हमारे शरीर के विभिन्न अंगों को फिट रखकर शारीरिक गतिविधियों को संचालित करने भी में सहायता करता है. हालांकि, सभी मैग्नीशियम सप्लीमेंट एक जैसे काम नहीं करते हैं. मैग्नीशियम सप्लीमेंट्स कई प्रकार के होते हैं. सभी मैग्नीशियम के अलग-अलग फायदे हैं. जानिए मैग्नीशियम के प्रकार और उनके फायदों के बारे में.

मैग्नीशियम ग्लाइसीनेट (Magnesium Glycinate)

Improves Sleep Quality 1
Type of magnesium: मांसपेशियों और ब्रेन सिस्टम को फिट रखने में फायदेमंद है मैग्नीशियम 6

मैग्नीशियम ग्लाइसीनेट मैग्नीशियम का एक प्रचलित रूप है. यह नींद की गुणवत्ता में सुधार करने के साथ-साथ शरीर को आराम पहुंचाने में मदद करता है. मैग्नीशियम ग्लाइसीनेट में अमीनो एसिड ग्लाइसिन पाया जाता है, जो शरीर में इसके अवशोषण को बढ़ाता है. अगर आप अनिद्रा(इंसोमेनिया) या रात में घबराहट जैसी नींद की समस्याओं से परेशान हैं, तो मैग्नीशियम ग्लाइसीनेट का सेवन अवश्य करें. सोने से पहले मैग्नीशियम ग्लाइसीनेट का सेवन आपके दिमाग को शांत करने, आपकी मांसपेशियों को आराम देने और आपकी नींद की गुणवत्ता में सुधार करने में मदद कर सकता है, जिससे सुबह में आप तरोताजा महसूस करेंगे.

​मैग्नीशियम ऑक्साइड (Magnesium Oxide)

Digestion 3
Constipation relief

अगर आप अपने पाचन तंत्र को मजूबत करने के लिए मैग्नीशियम सप्लीमेंट की तलाश में हैं, तो मैग्नीशियम ऑक्साइड आपके लिए सही विकल्प हो सकता है. मैग्नीशियम ऑक्साइड में काफी लैक्सेटिव इफेक्ट होता है, जो इसे कब्ज से राहत दिलाने और नियमित मल त्याग को बढ़ावा देने में मदद करता है. हालांकि, इस बात का हमेशा ख्याल रखें कि मैग्नीशियम ऑक्साइड शरीर द्वारा मैग्नीशियम के अन्य रूपों की तरह अच्छी तरह से अवशोषित नहीं हो पाता है. अगर आप अधिक मात्रा में इसका सेवन करते हैं, तो यह कभी-कभी पेट खराब और दस्त का कारण बन सकता है. कुछ लोग इसे एसिड रिफ्लक्स, सीने में जलन और पेट की खराबी के इलाज के लिए एंटासिड के रूप में लेते हैं.

मैग्नेशियम साइट्रेट (Magnesium Citrate)

Constipation Relief
Constipation relief

मैग्नीशियम साइट्रेट मैग्नीशियम का एक अन्य रूप है, जो अपने पाचन संबंधी समस्याओं में राहत दिलाने में मदद करता है. मैग्नीशियम का यह रूप साइट्रिक एसिड से जुड़ा होता है, जो आसानी से शरीर में अवशोषित हो जाता है. मैग्नीशियम ऑक्साइड की तुलना में यह पेट को ठीक रखने में सहायता करता है. मैग्नीशियम साइट्रेट पाचन को ठीक रखता है और कब्ज से राहत दिलाता है. साथ ही यूरिन में ऑक्सालेट से जुड़कर गुर्दे की पथरी (किडनी स्टोन) को रोकने में मदद कर सकता है.अगर आप भी बिना किसी नुकसान के लिए अपने पाचन तंत्र को दुरुस्त रखना चाहते हैं, तो मैग्नेशियम साइट्रेट को सेवन फायदेमंद साबित हो सकता है.

मैग्नीशियम सल्फेट (Magnesium Sulphate)

Shoulder Pain
Shoulder pain

मैग्नीशियम सल्फेट, जिसे एप्सम सॉल्ट के रूप में भी जाना जाता है. यह एक प्रकार का मैग्नीशियम है, जिसका उपयोग आमतौर पर मांसपेशियों के दर्द को ठीक करने और शरीर को आराम देने के लिए बाहरी रूप से किया जाता है. गर्म पानी में घुलने के बाद एप्सम सॉल्ट से नहाने पर मांसपेशियों के दर्द और ऐंठन को कम करने में मदद कर सकता है. यही कारण है कि अधिकतर खिलाड़ी मांसपेशियों से संबंधित समस्याओं से राहत पाने के लिए इसका इस्तेमाल करते हैं. कुछ लोग कब्ज जैसी दिक्कत होने पर भी इसे लैक्सेटिव के रूप में इस्तेमाल करते हैं.

आयनिक मैग्नीशियम (Ionic Magnesium)

Yoga For Weakness And Fatigue
Healthy body

आयनिक मैग्नीशियम प्राकृतिक रूप से पाया जाने वाला मैग्नीशियम का सबसे शुद्ध रूप है. यह शरीर में आसानी से एब्जॉर्ब हो जाता है. साथ ही आयनिक मैग्नीशियम का इस्तेमाल करना बहुत आसान है. मैग्नीशियम के अन्य रूपों की तरह आयनिक मैग्नीशियम को पाचन की जरूरत नहीं पड़ती है. इन्हीं सब विशेषताओं के कारण जिन लोगों को पाचन संबंधी समस्या है, उनके लिए यह कारगर मैग्नीशियम सप्लीमेंट है. आयनिक मैग्नीशियम को पानी या जूस जैसे पेय पदार्थों में आसानी से मिक्स किया जा सकता है, जिससे राजमर्रा के उपयोग के लिए यह एक बेहतर सप्लीमेंट है.

Also Read: Weight Loss Diet Plan: डिलीवरी के बाद उड़ीसा की इस महिला ने ऐसे घटाया 27 किलो वजन, जानें वेट लॉस डाइट

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें