1. home Hindi News
  2. health
  3. who honored over 1 million female volunteers asha in india mtj

डब्ल्यूएचओ ने भारत की 10 लाख महिला आशा स्वयंसेवकों को किया सम्मानित

आशा दीदी भारत सरकार से संबद्ध स्वास्थ्य कार्यकर्ता हैं, जो ग्रामीण क्षेत्र में कार्य करते हैं. भारत में कोरोना वायरस महामारी के चरम पर रहने के दौरान रोगियों का पता लगाने के लिए घर-घर जाकर जांच करने को लेकर आशा कार्यकर्ता विशेष तौर पर चर्चा में आयीं.

By Agency
Updated Date
आशा कार्यकर्ता ने कोरोना काल में घर-घर जाकर दवाएं पहुंचायीं
आशा कार्यकर्ता ने कोरोना काल में घर-घर जाकर दवाएं पहुंचायीं
Prabhat Khabar

संयुक्त राष्ट्र/जिनेवा: विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने रविवार को भारत की 10 लाख महिला आशा स्वयंसेवकों को सम्मानित किया. आशा स्वयंसेवकों को यह सम्मान ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सुविधाएं पहुंचाने और देश में कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) के खिलाफ अभियान में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका के लिए दिया गया है.

आशा दीदी कहलाती हैं महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ता

मान्यताप्राप्त सामाजिक स्वास्थ्य कार्यकर्ता या आशा दीदी भारत सरकार से संबद्ध स्वास्थ्य कार्यकर्ता हैं, जो ग्रामीण क्षेत्र में कार्य करते हैं. भारत में कोरोना वायरस महामारी के चरम पर रहने के दौरान रोगियों का पता लगाने के लिए घर-घर जाकर जांच करने को लेकर आशा कार्यकर्ता विशेष तौर पर चर्चा में आयीं.

इसलिए आशा कार्यकर्ताओं को दिया गया सम्मान

WHO के महानिदेशक टेड्रोस अदनोम घेब्रेयेसस ने रविवार को छह पुरस्कारों की घोषणा की. ये पुरस्कार वैश्विक स्वास्थ्य को आगे बढ़ाने, क्षेत्रीय स्वास्थ्य मुद्दों के लिए नेतृत्व और प्रतिबद्धता का प्रदर्शन करने के लिए दिये गये हैं. महानिदेशक घेब्रेयेसस ने ‘ग्लोबल हेल्थ लीडर्स अवार्ड’ के लिए विजेताओं का फैसला किया.

2019 में हुई थी पुरस्कार की स्थापना

इन पुरस्कारों की स्थापना वर्ष 2019 में की गयी थी और पुरस्कार समारोह 75वीं विश्व स्वास्थ्य सभा के उच्चस्तरीय उद्घाटन सत्र का हिस्सा था. डब्ल्यूएचओ ने कहा कि सम्मानित लोगों में आशा भी हैं, जिसका हिंदी में अर्थ है उम्मीद. भारत में 10 लाख से अधिक महिला स्वयंसेवकों को समुदाय को स्वास्थ्य प्रणाली से जोड़ने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के लिए सम्मानित किया गया.

स्वास्थ्य की रक्षा में उत्कृष्ट योगदान के लिए दिया गया पुरस्कार

डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक ने कहा, ‘ऐसे समय, जब दुनिया असमानता, संघर्ष, खाद्य असुरक्षा, जलवायु संकट और एक महामारी का एक साथ सामना कर रही है, यह पुरस्कार उन लोगों के लिए है, जिनका दुनिया भर में स्वास्थ्य की रक्षा और बढ़ावा देने में उत्कृष्ट योगदान रहा है.’

Prabhat Khabar App :

देश-दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, मोबाइल, गैजेट, क्रिकेट की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

googleplayiosstore
Follow us on Social Media
  • Facebookicon
  • Twitter
  • Instgram
  • youtube

संबंधित खबरें

Share Via :
Published Date

अन्य खबरें