1. home Hindi News
  2. health
  3. oxford university coronavirus vaccine production in india covid19 treatment corona medicine tieup with united kingdom britian company latetst health news

भारत में ऑक्सफोर्ड की Corona Vaccine का उत्पादन शुरू, जानें क्या हुआ करार

By SumitKumar Verma
Updated Date
Oxford university Corona Vaccine Production in India
Oxford university Corona Vaccine Production in India
Prabhat Khabar

Oxford university Corona Vaccine Production in India, britian company tieup with India for vaccine production ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी की ओर से तैयार की गयी कोरोना वैक्सीन का उत्पादन अब भारत में भी शुरू होने की खबर है. यह जानकारी ब्रिटेन की दवा कंपनी एस्ट्राजेनेका ने दी है. दरअसल, कोरोना के वैक्सीन का दावा करने वाले ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी ने लाखों डोज का निर्माण कार्य शुरू कर दिया है. इसके उत्पादन के लिए कुछ देशों को भी जिम्मेदारी दी गयी है. इन देशों में ब्रिटेन, स्विट्जरलैंड, नॉर्वे के साथ-साथ भारत भी शामिल है.

खबरों की मानें तो ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी अगस्त तक वैक्सीन का अंतिम परिणाम जारी करेगी. AZD1222 नाम की इस वैक्सीन के साइड इफेक्ट की जांच करने हेतु, इसका परीक्षण भी किया जा चुका है. 18 से 55 उम्र के 160 स्वस्थ लोगों पर परीक्षण के दौरान इस वैक्सीन को सही पाया गया. अब इसके दूसरे और तीसरे चरण का ट्रायल शुरू किया जाना है.

ऐसे में ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी द्वारा बनायी गयी AZD1222 नाम की कोरोना वैक्सीन का निर्माण कार्य पहले ट्रायल के परफार्मेंस के अनुसार ही किया जा रहा है जबकि दूसरे और तीसरे ट्रायल का अभी परिणाम आना बाकी ही है.

इसपर एस्‍ट्राजेनेका के सीईओ पैस्कल सोरिअट ने बीबीसी से बातचीत में कहा है कि रिजल्ट आने तक हमारे पास वैक्सीन तैयार हो जाएंगी. इसी उद्देश्य से इसपर काम किया जा रहा है. हालांकि, उन्होंने यह भी कहा है कि इसमें काफी रिस्क भी है क्योंकि अगर वैक्सीन काम नहीं करेगा तो यह करार बेकार भी हो सकता है. लेकिन, हमने पहले से ही तय कर रखा है कि इसपर पैसे नहीं कमाएंगे. जबतक विश्व स्वास्थ्य संगठन दुनिया से कोरोना के समाप्ति की घोषणा नहीं कर देता है.

एस्‍ट्राजेनेका ने आगे बताते हुए कहा, हमारे पास इस सितंबर तक दुनियाभर के कारखाने में तैयार किए जा रहे वैक्सीन की लाखों डोज तैयार हो जाएंगी. हमारा टारगेट 2021 के मध्य तक करीब 2 अरब डोज तैयार करने का है.

आपको बता दें कि इसी कड़ी में भारत के सीरम इंस्टीट्यूट से 2021 तक एक अरब वैक्सीन के डोज की उत्पादन का करार किया गया है. जबकि, 2020 के समाप्ति तक 40 करोड़ का लक्ष्य रखा गया है. वहीं अमेरिका से 40 करोड़ वैक्सीन सप्लाई करने का करार किया गया है. लेकिन, इन सब करार और दुनियाभर की उम्मीदें तब ही पूरी हो पायेंगी जब कोरोना का यह वैक्सीन अपने बाकी बचे ट्रायल में भी सफल हो जाएगा.

Posted By: Sumit Kumar Verma

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें