1. home Hindi News
  2. health
  3. coronavirus symptoms vs typhoid ke lakshan corona se jure hai ya nahi how to differentiate between both disease who should examined first know treatment precaution of typhoids from expert smt

Coronavirus Symptoms Vs Typhoid: एक जैसे होते है कोरोना और टाइफाइड के लक्षण! कैसे करे अंतर, किसकी जांच करवाना पहले जरूरी, जानें एक्सपर्ट की राय

By SumitKumar Verma
Updated Date
Coronavirus Symptoms Vs Typhoid Symptoms, Typhoid And Coronavirus Similarities, Coronavirus, Typhoid
Coronavirus Symptoms Vs Typhoid Symptoms, Typhoid And Coronavirus Similarities, Coronavirus, Typhoid
Prabhat Khabar Graphics

Coronavirus Symptoms Vs Typhoid Symptoms, Typhoid And Coronavirus Similarities, Coronavirus, Typhoid: कोरोना की दूसरी लहर के बीच टाइफायड के भी कई मामले सामने आ रहे है. ऐसे में कई लोग कोरोना और टाइफाइड के बुखार में अंतर नहीं कर पा रहे. वहीं, कुछ लोगों तो टाइफाइड को कोरोना के नए लक्षण के तौर पर भी मानने लगे है. ऐसे में आइये जानते हैं, इस बारे में विस्तार से स्वास्थ्य विशेषज्ञ और क्रिटिकल केयर मेडिसिन के डॉ हिमांशु (Dr. Himanshu) से, क्या है उनकी राय...

कोरोना और टायफाइड में अंतर 

  • दरअसल, डॉ हिमांशु का कहना है कि टाइफाइड और कोरोना आपस में बिल्कुल अलग बीमारी है.

  • टाइफाइड पानी और फूड जनित बीमारी है. जबकि, कोरोना वायरस पूरी तरह से संक्रमित वायरल बीमारी है.

  • हालांकि, दोनों के कुछ लक्षण आपस में मिलते है जैसे बुखार आना, उल्टी लगना, बदन दर्द व कमजोरी लगना.

  • लेकिन, वे बताते हैं कि टाइफाइड एक प्रकार के बैक्टीरिया से फैलता है जिसे साल्मोनेला टाइफी के नाम से जाना जाता है. जबकि कोरोना वायरस पूरी तरह से वायरल बीमारी है.

कैसे होता है टाइफाइड

यह आसपास में स्वच्छता नहीं होने के कारण फैल सकता है. ज्यादातर यह दूषित या गंदे पानी व खाने के जरिये शरीर के अंदर प्रवेश कर सकता है. दरअसल, टाइफाइड का बैक्टीरिया जल या सूखे मल में सप्ताह भर जिंदा रहता है. जिसके संपर्क में आते ही कोई भी संक्रमित हो सकता है.

क्या है इसके लक्षण

  • इस दौरान मरीज को कमजोरी लगती है.

  • संक्रमण जैसे-जैसे बढ़ता है भूख कम होने लगती है

  • इस दौरान सिर दर्द हो सकता है

  • शरीर में भी दर्द बढ़ सकता है

  • ठण्ड के साथ बुखार आ सकता है

  • सुस्ती व आलस्य का अनुभव हो सकता है

  • दस्त की समस्या भी हो सकती है

  • पाचन तंत्र बिगड़ सकता है

  • टाइफाइड से ग्रसित व्यक्ति का बुखार 102 से 104 डिग्री तक भी जा सकता है

कोरोना के लक्षण

  • उल्टी आना

  • बदन दर्द

  • कमजोरी

  • कफ वाली खांसी व नाक बहना

  • बुखार आना

  • दस्त आदि

कैसे करें टाइफाइड और कोरोना में अंतर, किसकी जांच करवाना जरूरी

डॉ हिमांशु की मानें तो इनमें से कोई भी लक्षण दिखते ही कोरोना की जांच सबसे पहले करवा कर देख लेनी चाहिए. उनका मानना है कि फिलहाल कोरोना से बड़ी महामारी कोई नहीं है. टाइफाइड का ईलाज एक-दो दिन बाद भी शुरू किया जा सकता है. लेकिन, कोरोना के ईलाज में देर होने से मरीज की जान तक जा सकती है. यदि टेस्ट में कोरोना संक्रमित नहीं निकलता है तो फौरन टाइफाइड जांच करवाना चाहिए.

टाइफाइड वाले रोगी बरतें ये सावधानी

  • स्वच्छता का रखें ध्यान

  • गर्म पानी और साबुन से हाथ धोएं

  • गर्म पानी पीएं

  • कच्चा आहार का सेवन न करें, फल के छिलके हटाकर खाएं

  • अधपका भोजन न ग्रहण करें, हमेश पूरी तरह से पका भोजन ही खाएं

  • घरेलू कार्यों न करें, नहीं तो संक्रमण और लोगों को फैल सकता है

  • अपना खाना किसी से शेयर न करें, अपने बर्तन में किसी और को खाने न दें

  • मक्खन, पेस्ट्री, घी, तले हुए आहार व मिठाईयां आदि खाने से बचें, कुल मिलकार बाजार की बनी चीजों को खाने से बचें

  • भारी भोजन जो देर से पचता हो जैसे मांसाहारी आहार व अन्य भूंजे-तेल युक्त चीजें खाने से बचें,

  • दारु-शराब, सिगरेट का सेवन भूल कर भी न करें

Posted By: Sumit Kumar Verma

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें