1. home Home
  2. entertainment
  3. exclusive vidyut jammwal says i dont like the tag of good friend so got engaged with nandita mahtani urk

Exclusive : अच्छे दोस्त वाला टैग मुझे नहीं जमता इसलिए सगाई कर ली- विद्युत जामवाल

डिज्नी प्लस हॉटस्टार पर इनदिनों अभिनेता विद्युत जामवाल की फ़िल्म सनक स्ट्रीम हो रही हैं. अभिनेता विद्युत अपनी इस फ़िल्म को हिंदी सिनेमा में अपनी तरह का पहला होस्टेज ड्रामा करार देते हैं. उनकी इस फ़िल्म ,सगाई और आनेवाले प्रोजेक्ट्स पर उर्मिला कोरी हुई बातचीत...

By उर्मिला कोरी
Updated Date
Vidyut Jammwal
Vidyut Jammwal
instagram

डिज्नी प्लस हॉटस्टार पर इनदिनों अभिनेता विद्युत जामवाल की फ़िल्म सनक स्ट्रीम हो रही हैं. अभिनेता विद्युत अपनी इस फ़िल्म को हिंदी सिनेमा में अपनी तरह का पहला होस्टेज ड्रामा करार देते हैं. उनकी इस फ़िल्म ,सगाई और आनेवाले प्रोजेक्ट्स पर उर्मिला कोरी हुई बातचीत...

सनक शीर्षक से क्या आप जुड़ाव महसूस करते हैं?

सनक ही थी मुंबई शहर में आकर कुछ करने की. वरना हम जैसे आउटसाइडर्स बॉलीवुड में एक्टर बनने का सपना नहीं देखते हैं. मुझे लगता है कि सनक बहुत सही चीज़ है।हर आदमी में होनी चाहिए जिसे हम जुनून बोलते हैं वो भी सनक ही है. अगर आप में सनक नहीं है तो आप नार्मल और बोरिंग हो. क्या करना है नार्मल और बोरिंग बनकर.

सनक की ओटीटी रिलीज से कितने खुश हैं?

फ़िल्म बनी तो थिएटर के लिए ही थी लेकिन जो हालात है छह महीने लगातार हर हफ्ते कई नयी फिल्में आ रही हैं. उसमें मैं सिर्फ अपनी जिद को पूरा करने के लिए फ़िल्म को थिएटर में रिलीज नहीं करवा सकता था. ये निर्माता विपुल शाह की फ़िल्म है. जिसके साथ मैं दस साल से काम कर रहा हूं. वही वो शख्स था जिसने मुझ पर दांव लगाया. उसका एक रुपया भी बर्बाद नहीं होना चाहिए. वैसे मैं जैकी चेन की फिल्में वीएचएस पर देखकर बड़ा हुआ हूं. मैं कोई खास एक्शन सीन देखता था तो उसे रोक देता था फिर से रिवाइंड करके देखता था. सनक के साथ मेरे दर्शक वही पल जी सकते हैं. सीख सकते हैं जो आप थिएटर में फिल्म को देखते हुए नहीं कर सकते हैं.

आपने अपना प्रोडक्शन हाउस एक्शन हीरो शुरू किया है क्या उसमें नए लोगों को लांच करने की भी प्लानिंग है?

कमांडो वाले निर्देशक आदित्य धर के साथ एक फ़िल्म कर रहा हूं. एक फ़िल्म आईबी 1971 है. यह फ़िल्म इन्फॉर्मेशन ब्यूरो के बारे है. एक निर्देशक हैं संकल्प रेड्डी जिहोंने गाज़ी अटैक बनायी थी उसके लिए उन्हें नेशनल अवार्ड भी मिला था. उसके बाद उनकी कोई फ़िल्म नहीं आयी. जब आईबी की स्क्रिप्ट आयी तो मैंने सोचा कि ये बंदा कहां है. इंडस्ट्री में अलग अलग तरह की बातें सुनी लेकिन मैं खुद हैदराबाद गया।वो एकदम शांत बंदा है।सोशल मीडिया से दूर. पार्टीज और बड़े बड़े लोगों की पहचान से दूर. मुझे वो पसंद आए मैंने फ़िल्म की स्क्रिप्ट सुनायी और वह उसे निर्देशित करने को राजी हो गए तो कुलमिलाकर उनसभी लोगों के साथ काम करूंगा. जिनके पास असल प्रतिभा है लेकिन ग्रुप बाज़ी नहीं करते हैं.

क्या कभी लगता है कि एक्शन फिल्मों के इतर कोई फ़िल्म का हिस्सा बनूं?

मतलब आप बोल रही हो कि जिस चीज़ के लिए दुनिया आपको दाद देती है उसको छोड़कर कुछ अलग चीज़ करूं. वैसे खुदा हाफ़िज़ में मैंने मार्शल आर्ट नहीं किया था।जो असल लड़ाई थी वही किया जो आम आदमी कोई भी कर सकता है तो बीच बीच में वो भी करता हूं लेकिन मैं टॉप मार्शल आर्टिस्ट था और रहूंगा किसी को बनने नहीं दूंगा.

हाल ही में आपने नंदिता महतानी से सगाई की है क्या खूबियां आप में एक सी हैं?

हमारा खूबियां मिलने वाला कोई सीन नहीं है वो भी फिटनेस की बातें करें मैं भी करूं तो बोर हो जाऊंगा. बस प्यार हो गया इतना जानता हूं. बाकी एक्टर्स की तरह अच्छे दोस्त हैं।मैं इस बात को पसंद नहीं करता हूं. जो सच है. उसे स्वीकारना पसंद है.

शादी कब रहे हैं?

अभी तो शूटिंग कई फिल्मों की लाइनअप है तो फिलहाल सगाई को ही एन्जॉय करने वाले हैं.

आपको सेक्सी मैन का भी खिताब मिला है उस शीर्षक को कितना सीरियस लेते हैं?

बिल्कुल भी नहीं लेता हूं. मैं सबसे बड़ा मार्शल आर्टिस्ट हूं. उससे बड़ा मेरे लिए कोई टाइटल नहीं है क्योंकि उसमें मैं हिंदुस्तान का प्रतिनिधित्व करता हूं. कलरीपाट्टु को मैं विश्व मंच पर रखता हूं. यह बात मुझे बहुत खुशी देती है.

आप कई लोगों की प्रेरणा है क्या आपने तय किया है कि मैं इस तरह के प्रोडक्ट्स का विज्ञापन कभी नहीं करूंगा?

पेप्सी वगैरह टाइप जो प्रोडक्ट हैं. वो मैं कभी एंडोर्स नहीं करूंगा वो शरीर के लिए अच्छा नहीं होता है नुकसान दायक है. मैं खुद नहीं पीता हूं तो एंडोर्स कैसे कर सकता हूं.

बीते डेढ़ सालों से इंडस्ट्री ड्रग्स के गिरफ्त में नज़र आयी है युवाओं का नाम भी अब जुड़ रहा है आप इस पर क्या कहेंगे?

आप किस तरह से इन आदतों से खुद को दूर रखें इसका मेरे पास जवाब नहीं है लेकिन हां मुझे लगता है कि बच्चों जो करना है करें लेकिन कानून की हद को समझे. अगर कानून बोलता है कि कुछ गलत है तो मत करो. बस ये सिंपल बात है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें