1. home Home
  2. business
  3. sbi alert for fake customer care numbers do not blindly trust customer care number flooded on google hard earned money will be looted mtj

SBI के कस्टमर केयर नंबर पर आंख मूंदकर न करें भरोसा, लुट जायेगी गाढ़ी कमाई

गूगल (Google) पर उपलब्ध कस्टमर केयर या हेल्पलाइन नंबर पर डायल करना ही पड़ जाये, तो भूलकर भी ऐसी जानकारी सामने वाले को न दें, जिससे आपकी कमाई खतरे में पड़ जाये.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
SBI ने अपने ग्राहकों को किया अलर्ट
SBI ने अपने ग्राहकों को किया अलर्ट
Twitter

भारतीय स्टेट बैंक (State Bank of India) में बैंक अकाउंट है और उससे जुड़ी किसी भी जानकारी के लिए अगर आप उसके कस्टमर केयर नंबर पर आंख मूंदकर भरोसा कर लेते हैं, तो सावधान हो जाइए. SBI ने अपने ग्राहकों के लिए एक अलर्ट जारी किया है. इसमें बैंक ने ग्राहकों से कहा है कि एक छोटी-सी चूक आपकी जिंदगी भर की गाढ़ी कमाई खत्म कर सकती है. इसलिए जब भी कस्टमर केयर या हेल्पलाइन नंबर का इस्तेमाल करें, तो बिल्कुल ठोक-बजाकर करें.

बैंक ने कहा है कि गूगल (Google) पर उपलब्ध कस्टमर केयर (Customer Care) या हेल्पलाइन नंबर (Helpline Number) पर अगर आपको डायल करना ही पड़ जाये, तो भूलकर भी कोई ऐसी जानकारी सामने वाले को न दे दें, जिससे आपकी कमाई खतरे में पड़ जाये. आपकी जमा पूंजी लुट जाये. जी हां, साइबर क्रिमिनल्स ने गूगल पर अपने नंबर डाल रखे हैं. कहीं किसी बैंक के हेल्पलाइन या कस्टमर केयर के नंबर के रूप में, तो कहीं किसी और हेल्पलाइन के नंबर के रूप में. बहुत से लोग इनके झांसे में आकर लुट चुके हैं.

SBI ने कहा है कि डिजिटल ट्रांजैक्शन (Digital Transaction) का चलन जैसे-जैसे बढ़ रहा है, साइबर क्राइम (Cyber Crime) उसी रफ्तार से बढ़ रहा है. तकनीकी रूप से दक्ष ये लोग इस फिराक में बैठे रहते हैं कि किसी के बैंक से जुड़ी कुछ सूचनाएं मिल जाये. कई बार पढ़े-लिखे लोग भी उनके झांसे में आ जाते हैं. इसलिए SBI के फर्जी कस्टमर केयर नंबर से सावधान रहें. बैंक ने इस संबंध में एक अलर्ट भी जारी किया है.

SBI के आधिकारिक ट्विटर (Twitter) अकाउंट के जरिये ग्राहकों को अलर्ट किया गया है. कहा गया है कि कभी भी फर्जी कस्टमर केयर नंबर (Fake Customer Care Numbers) पर फोन न करें. अगर आप घर से बाहर हैं और बहुत जरूरी है, तो SBI के कस्टमर केयर नंबर के लिए बैंक की आधिकारिक वेबसाइट onlinesbi.com पर जाकर सर्च करें. आपके पासबुक पर भी हेल्पलाइन नंबर दिया हुआ है, वहां से नंबर लेकर बैंक से जुड़ी कोई भी जानकारी आप ले सकते हैं.

SBI के अधिकारियों का कहना है कि बैंक से जुड़ा कोई भी अफसर या कर्मचारी किसी ग्राहक से पासवर्ड या उसका पिन नहीं पूछता. इसलिए अगर कोई आपके डेबिट या क्रेडिट कार्ड का पिन नंबर पूछे, कोई ओटीपी मांगे, तो समझ लें कि आप किसी फ्रॉड से बात कर रहे हैं. उससे तत्काल संपर्क भंग करें. फिर भी अगर आप किसी तरह से ठगी का शिकार हो जाते हैं, तो आपको report.phising@sbi.co.in पर अपनी शिकायत दर्ज करानी चाहिए. आप साइबर क्राइम हेल्पलाइन नंबर 155260 पर भी कॉल करके अपनी शिकायत दर्ज करवा सकते हैं.

वीडियो शेयर करके बताया- कैसे करें शिकायत

SBI ने एक वीडियो शेयर कर अपने ग्राहकों को समझाया है कि अगर आपने थोड़ी सी असावधानी बरती, तो आपको भारी पड़ सकता है. साइबर ठग आपकी गलती का इंतजार कर रहे हैं. अगर आप ठगी का शिकार हो चुके हैं, तो तुरंत उसकी शिकायत बैंक में करें. साइबर क्राइम हेल्पलाइन पर कॉल करके भी आप इसकी शिकायत कर सकते हैं.

किसी से शेयर न करें ये जानकारी

अपनी निजी जानकारी कभी किसी अनजान व्यक्ति के साथ फोन पर शेयर न करें. मसलन, नाम, पता, मोबाइल नंबर, ई-मेल आईडी, बैंक अकाउंट नंबर, डेबिट कार्ड नंबर और ओटीपी. आमतौर पर साइबर अपराधी आपकी ये सारी जानकारी लेकर आपके अकाउंट को खंगालते हैं और उसमें पड़ी सारी रकम निकाल लेते हैं. बैंक अकाउंट नंबर, डेबिट कार्ड नंबर और ओटीपी तो किसी भी सूरत में किसी से शेयर न करें. अगर कोई ये नंबर मांगे, तो समझ लें कि आप साइबर क्रिमिनल के चक्कर में फंस गये हैं. तुरंत इनसे पीछा छुड़ायें और इसकी शिकायत दर्ज करवायें.

Posted By: Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें